Share
अल्मोड़ा विवि चलाये रोजगार संबंधी कोर्स, इण्डस्ट्रीज का सहयोग लेंः राज्यपाल

अल्मोड़ा विवि चलाये रोजगार संबंधी कोर्स, इण्डस्ट्रीज का सहयोग लेंः राज्यपाल

देहरादून। राज्यपाल डा. कृष्ण कान्त पाल ने आज राजभवन देहरादून सभागार में उत्तराखण्ड आवासीय विश्वविद्यालय अल्मोड़ा की प्रथम कोर्ट बैठक ली। विश्विद्यालय कुलपति प्रो. एच एस धामी ने बैठक में विश्वविद्यालय से सम्बधित एजेण्डा कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत किया।  कुलपति ने कोर्ट के  समस्त सदस्यों से एजेण्डा बिन्दुओं पर चर्चा करते हुए राज्यपाल सहित सभी सदस्यों को विस्तृत जानका दी। राज्यपाल ने कहा कि हमा  प्राथमिकता है कि इस नवीन विश्वविद्यालय की पहचान  देशभर में स्थापित हो। हम सभी का प्रयास है कि अपने अनुभव और विशेष जानकारियों का भरपूर लाभ विश्वविद्यालय को देकर उत्तराखण्ड में एक उत्कृष्ट आवासीय विश्वविद्यालय स्थापित करें। राज्यपाल ने विवि कोर्ट सदस्यों के सुझाव भी आमंत्रित किये।

कुलपति  धामी ने विश्वविद्यालय के ’लोगो’ पर भी विवि कोर्ट की सहमति प्राप्त की, जिसमें राज्य पुष्प ब्रम्हकमल तथा पशु कस्तू मृग दर्शाया गया है। राज्यपाल ने नव सृजित विश्वविद्यालय के लिए स्तय शिक्षकों की नियुक्ति तथा रोजगार प्रदायक पाठ्यक्रम को प्रमुख बताया। उन्होंने कहा कि पाठ्यक्रम छात्रों को बेहतर भविष्य देने तथा डिग्रियां प्राप्त करने के बाद छात्रो के सामने बेरोजगा की समस्या को दूर करने में सहायक हों। विश्वविद्यालय द्वारा संचालित किये जाने वाले पाठ्यक्रम उत्तराखण्ड की समृद्ध संस्कृति तथा जैव विविधता को ध्यान में रख कर तैयार किये जायें।

 कुलपति ने राज्यपाल को अवगत कराते हुए बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा एक वर्षीय पीजी डिप्लोमा कम्यूनिकेशन तथा फैशन डिजानिंग शुरू किये जाने की योजना है। नैचुरलज विज्ञान के अन्तर्गत प्लांट साइंस, बायोडायवर्सिटी, एथनोफार्मालाॅजी, ऐरोमेटिक्स, थैराप्यूटिक्स, हर्बल मेडिसिन, सहित अनेक रोजगारपरक कोर्स संचालित किये जायेंगे जिसका लाभ छात्रों को रोजगार प्राप्त करने तथा रोजगार सृजन में भी मिलेगा।

राज्यपाल ने विश्वविद्यालय की ओर से रिसर्च विषयों के संचालन के लिए गुणवत्ता युक्त लैब तथा उपकरणों को बढ़ावा दिये जाने को कहा। उन्होंने विषयों के लिए नियुक्त की जाने वाले शिक्षकों की योग्यता व विशेषज्ञता को महत्वपूर्ण बताते हुए उद्योगों से जुडे़ विशेषज्ञो द्वारा छात्रों को व्यवसायिक ज्ञान दिये जाने का भी सुझाव दिया। बैठक में सचिव राज्यपाल रविनाथ रमन, डा. एम एल शर्मा, डा. पुरषोत्तम अग्रवाल, डा. अजीत कुमार, डा. सविता,डा. आरडी कौशिक, प्रो. वीके जैन सहित अन्य गणमान्य सदस्य उपस्थित थे।

Leave a Comment