Share
एनएच 74 घोटाले की जांच करने के लिए सीबीआई ने अपनी सहमति दे दी

एनएच 74 घोटाले की जांच करने के लिए सीबीआई ने अपनी सहमति दे दी

देहरादून 14 जून, 2017

एनएच 74 घोटाले की जांच करने के लिए सीबीआई ने अपनी सहमति दे दी है। बुधवार को विधानसभा भवन में मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस संबंध में औपचारिक नोटिफिकेशन होते ही सीबीआई अपनी जांच प्रारम्भ कर देगी। राज्य सरकार की करप्शन पर जीरो टोलरेंस की नीति है। एनएच 74 घोटाले पर वर्तमान में राज्य सरकार की एजेंसियों द्वारा आवश्यक कार्यवाही की जा रही है। बहुत सी जगहों पर छापेमारी की गई है। अनेक अधिकारियों को निलम्बित किया गया है। घोटाले में संलिप्त किसी भी व्यक्ति को बख्शा नही जाएगा।

प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शांति कुंज हरिद्वार में आयोजित भारतीय शिक्षक मण्डल के प्रशिक्षण शिविर में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग करते हुए कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में भारतीय जीवन मूल्यों को समाहित होना चाहिए। इसके लिए भारतीय शिक्षक मंण्डल के साथ चिंतन एवं विचारों का आदान-प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्पेन एवं पोलेण्ड जैसे देशों में संस्कृत की डिमाण्ड बढ़ी है। संस्कृत भाषा में ज्ञान, संस्कार एवं सद्विचार हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें अपनी संस्कृति तथा सभ्यता को आगे बढ़ाने के लिए निरन्तर प्रयास करने होगे। नई पीढ़ी का रूझान भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति की ओर ले जाना होगा इसके लिए भारतीय शिक्षक मण्डल का महत्वपूर्ण योगदान होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें भारतीय परम्पराओं को आगे बढ़ाना होगा। कहा कि भारतीय शिक्षक मण्डल एवं अन्य समाजिक संस्थाओं के प्रयासों से एक स्वाभिमानी भारत बनेगा जिनमें अपने पूर्वजों एवं परम्पराओं के प्रति एक विश्वास खड़ा होगा। उन्होंने कहा कि शोध के क्षेत्र में नये आयाम स्थापित करने होंगे।
देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डाॅ प्रणव पाण्ड्या ने कहा कि आज हमें पाश्चात्यवाद से लड़ने के लिए चिंतन करना होगा। युवाओं को उचित मार्गदर्शन करना पड़ेगा उन्हें मानवीय मूल्यों एवं अध्यात्मवाद की ओर ले जाना होगा, नकारात्मक भावों से बचना होगा। उन्होंने कहा कि संस्कृत, संस्कृति एवं संस्कार से नकारात्मक भाव मिटते चले जायेंगे। गंगा की शुद्धता तथा निर्मलता के लिए निरन्तर प्रयास किये जा रहे हैं। 2026 तक गोमुख से गंगा सागर तक गंगा के शुद्धीकरण के लिए वैज्ञानिक, आध्यात्मिक एवं संगठनात्मक रूप में कार्य किये जायेंगे। इसके लिए जन जागरूकता भी आवश्यक है।

इस अवसर पर भारतीय शिक्षक मण्डल से डाॅ बनवारी लाल, डाॅ अंगद सिंह, डाॅ पंकज सिंह, डाॅ ओम प्रकाश, मनोहर सिंह रावत, डाॅ गीता मिश्र, जिलाधिकारी दीपक रावत, एस.एस.पी.कृष्ण कुमार वी.के, विकास तिवारी एवं उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड, बिहार, झारखण्ड आदि प्रान्तों के शिक्षक उपस्थित थे।
देहरादून 14 जून, 2017
उत्तराखण्ड विधान सभा सत्र के दौरान विधान सभा में पहुॅंची केन्द्रीय जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा पुनरूद्वार मंत्री सुश्री उमा भारती ने विधान सभा अध्यक्ष श्री प्रेम चन्द अग्रवाल जी के कार्यालय में शिष्टाचार भेंट की। इस अवसर पर सुश्री उमा भारती ने श्री प्रेम चन्द अग्रवाल को विधान सभा अध्यक्ष निर्वाचित होने पर अपनी शुभकामनाएं दी।

विधान सभा अध्यक्ष के कार्यालय में हुई भेंट वार्ता के दौरान केन्द्रीय मंत्री सुश्री उमा भारती से विधान सभा अध्यक्ष श्री प्रेम चन्द अग्रवाल ने ऋषिकेश के गंगा तट को नमामि गंगा योजना के अंतर्गत सम्मिलित करने की बात कही, साथ ही उन्होंने कहा है कि ऋषिकेश विधान सभा क्षेत्र के अंतर्गत अनेक ऐसे स्थान हैं जहाॅं वर्षा काल में गंगा तट के किनारे जल भराव की स्थिति उत्पन्न हो जाती है। श्री अग्रवाल ने केन्द्रीय मंत्री सुश्री उमा भारती से कहा है कि इन तमाम क्षेत्रों को भी नमामि गंगा योजना के अंतर्गत सम्मिलित किया जाए, ताकि गंगा की स्वच्छता बनी रहे।
इस भेंटवार्ता के दौरान विधान सभा अध्यक्ष के कार्यालय में उत्तराखण्ड के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, हरिद्वार ग्रामीण के विधायक यतीश्वरानंद, लक्सर के विधायक संजय गुप्ता आदि लोग उपस्थित थे।

उत्तराखण्ड में वाहनों में डस्टबिन की व्यवस्था अनिवार्य की जाएगी। बुधवार को विधानसभा भवन में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व पर्यावरण मंत्री डाॅ.हरक सिंह रावत ने वाहनों में डस्टबिन रखे जाने की योजना का शुभारम्भ किया। मुख्यमंत्री ने योजना का स्वागत करते हुए कहा कि इससे सड़कों पर कूड़ा, कचरा फैलने पर रोक लगेगी। स्वच्छता को लेकर समाज में विशेष रूप से युवा पीढ़ी में जागरूकता बढ़ी है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के स्वच्छता के आह्वान पर युवा वर्ग बड़ी संख्या में आगे आया है।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को शांति कुंज हरिद्वार में आयोजित भारतीय शिक्षक मण्डल के प्रशिक्षण शिविर में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग करते हुए कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में भारतीय जीवन मूल्यों को समाहित होना चाहिए। इसके लिए भारतीय शिक्षक मण्डल के साथ चिंतन एवं विचारों का आदान-प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्पेन एवं पोलेण्ड जैसे देशों में संस्कृत की डिमाण्ड बढ़ी है। संस्कृत भाषा में ज्ञान, संस्कार एवं सद्विचार हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें अपनी संस्कृति तथा सभ्यता को आगे बढ़ाने के लिए निरन्तर प्रयास करने होगे। नई पीढ़ी का रूझान भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति की ओर ले जाना होगा, इसके लिए भारतीय शिक्षक मण्डल का महत्वपूर्ण योगदान होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें भारतीय परम्पराओं को आगे बढ़ाना होगा। कहा कि भारतीय शिक्षक मण्डल एवं अन्य समाजिक संस्थाओं के प्रयासों से एक स्वाभिमानी भारत बनेगा, जिनमें अपने पूर्वजों एवं परम्पराओं के प्रति एक विश्वास खड़ा होगा। उन्होंने कहा कि शोध के क्षेत्र में नये आयाम स्थापित करने होंगे।
देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डाॅ.प्रणव पाण्ड्या ने कहा कि आज हमें पाश्चात्यवाद से लड़ने के लिए चिंतन करना होगा। युवाओं को उचित मार्गदर्शन करना पड़ेगा। उन्हें मानवीय मूल्यों एवं अध्यात्मवाद की ओर ले जाना होगा, नकारात्मक भावों से बचना होगा। उन्होंने कहा कि संस्कृत, संस्कृति एवं संस्कार से नकारात्मक भाव मिटते चले जायेंगे। गंगा की शुद्धता तथा निर्मलता के लिए निरन्तर प्रयास किये जा रहे हैं। 2026 तक गोमुख से गंगा सागर तक गंगा के शुद्धीकरण के लिए वैज्ञानिक, आध्यात्मिक एवं संगठनात्मक रूप में कार्य किये जायेंगे। इसके लिए जन जागरूकता भी आवश्यक है।

इस अवसर पर भारतीय शिक्षक मण्डल से डाॅ.बनवारी लाल, डाॅ.अंगद सिंह, डाॅ.पंकज सिंह, डाॅ.ओम प्रकाश, श्री मनोहर सिंह रावत, डाॅ.गीता मिश्र, जिलाधिकारी श्री दीपक रावत एवं उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड, बिहार, झारखण्ड आदि प्रान्तों के शिक्षक उपस्थित थे।
देहरादून 14 जून, 2017(मी0से0)
प्रदेश के विद्यालयी शिक्षा, प्रौढ़़ शिक्षा, संस्कृत शिक्षा, खेल, युवा कल्याण एवं पंचायती राज मंत्री अरविन्द पाण्डेय की अध्यक्षता में विधान सभा स्थित उनके कक्ष में शिक्षा विभाग, एन.सी.आर.टी. के पब्लिकेशन विभागाध्यक्ष तथा क्षेत्रीय अधिकारी सी0बी0एस0ई0 उत्तराखण्ड के साथ बैठक सम्पन्न हुई।

राजकीय विद्यालयों में एन0सी0ई0आर0टी0 के माध्यम से पढ़ाए जाने के सम्बन्ध में एन0सी0आर0टी0 एवं सी0बी0एस0ई0 बोर्ड से समझौता हुआ कि प्रदेश के समस्त प्राईवेट स्कूलों में आगामी सत्र से एन0सी0ई0आर0टी0 की पाठ्य पुस्तकें ही लागू की जायेंगी। प्राइवेट विद्यालय एन0सी0आर0टी0 पाठ्स पुस्तकों की मांग उत्तराखण्ड सरकार को देंगे तथा उत्तराखण्ड सरकार प्रदेश के प्राईवेट स्कूल की मांग के अनुसार एन0सी0ई0आर0टी0 से कापीराइट प्राप्त कर वांछित मांग के अनुसार मुद्रण कराकर प्राइवेट विद्यालयों में उपलब्ध करायेगी। बैठक में यह भी तय हुआ कि राज्य सरकार प्रदेश में अवस्थित विद्यालयों में स्थानीय सामान्य ज्ञान विषयक पाठ्य सामग्री की सप्लीमेन्ट्री काॅपी विद्यार्थियों हेतु अलग से मुद्रण करायेगी। ज्ञातव्य है कि कक्षा 1 से 8 तक के सरकारी विद्यालयों में प्रदेश सरकार मुफ्त में पाठ्य पुस्तकें पूर्व से ही उपलब्ध कराती है।
शिक्षा मंत्री ने राज्य की शिक्षण संस्थाओं में अगले सत्र से कक्षा 3 से 12 तक की कक्षाओं में विज्ञान विषय को अंग्रेजी में पढ़ाने के निर्देश दिये।
बैठक में तय हुआ कि राज्य की शिक्षण संस्थाओं मे एन0सी0ई0आर0टी0 द्वारा विकसित सन्दर्भ पुस्तक अध्यापकों/अभिभावकों के लिए राज्य सरकार द्वारा सस्ती दर पर उपलब्ध कराई जायेगी, जिससे बच्चों को पढ़ाने में आसानी होगी।
बैठक में अपर सचिव शिक्षा अरविन्द शेखर तिवारी, एन0सी0ई0आर0टी0 मुद्रण हेड एम0 सिराज, क्षेत्रीय अधिकारी सी0बी0एस0सी0 रणवीर सिंह तथा निदेशक आर0के0कुॅवर मौजूद थे।

देहरादून 14 जून, 2017(सू.ब्यूरो)
अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर 15 जून, 2017 से दिनांक 20 जून, 2017 तक विभिन्न विभागों एवं संस्थाओं द्वारा योग सप्ताह के अंतर्गत ‘‘वाॅक फाॅर योगा’’ का आयोजन किया जायेगा।

यह जानकारी देते हुए निदेशक, आयुर्वेदिक एवं यूनानी सेवायें, प्रो0 अरूण कुमार त्रिपाठी ने बताया कि दिनांक 15 जून को भारत स्वाभिमान ट्रस्ट, राठ जन विकास समिति द्वारा रेंजर्स ग्राउंड से घंटाघर-गांधीपार्क-खेल मैदान परेड ग्राउंड-रेंजर्स ग्राउंड तक, 16 जून को रोटरी क्लब, लायंस क्लब, प्रजापति ब्रह्नमकुमारी द्वारा गांधी पार्क से घंटाघर-दर्शन लाल चैक-घंटाघर-गांधी पार्क तक, 17 जून को सचिवालय द्वारा ए0टी0एम चैक सचिवालय से राजपुर रोड-ऐस्लेहाल-कनक चैक से सुभाष रोड-सचिवालय तक, 18 जून को पुलिस विभाग द्वारा पुलिस लाइन से धरमपुर चैक-आराघर चैक-सर्वे चैक खेल मैदान परेड ग्राउंड तक, 19 जून को स्वास्थ्य एवं आयुष विभाग द्वारा नगर निगम से देहरादून से दून चिकित्सालय-एम0के0पी0 चैक-द्वारिका स्टोर-सर्वे चैक-खेल मैदान परेड ग्राउंड तक एवं 20 जून को पर्यटन विभाग द्वारा द्रोण होटल से घंटाघर-तिब्बती मार्केट-खेल मैदान परेड ग्राउंड तक ‘‘वाॅक फाॅर योगा’’ का आयोजन किया जायेगा।
दिनांक 21 जून 2017 को खेल मैदान परेड ग्राउंड देहरादून में राज्यस्तरीय कार्यक्रम का आयोजन प्रातः 07 बजे से किया जाएगा।

मुख्यमंत्री वाहन दुर्घटना में मृतकों के प्रति गहरा शोक व्यक्त
देहरादून 14 जून, 2017
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जनपद चमोली के थाना गोविन्दघाट क्षेत्रान्तर्गत स्थान पिनीला के समीप हुई वाहन दुर्घटना में मृतकों के प्रति गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगतों की आत्मा की शांति एवं दुःख की इस घड़ी में शोक संतप्त परिजनों को धैर्य प्रदान करने के साथ ही घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की ईश्वर से कामना की है।

चमोली news;
चमोली 14 जून,2017
जिलाधिकारी अशीष जोशी ने कृषि, उद्यान एवं पशुपालन विभागों के माध्यम से जिला, राज्य एवं केन्द्र पोषित योजनाओं की वित्तीय एवं भौतिक प्रगति की विभागवार समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने अतिवृष्टि एवं ओलावृष्टि से फसलों को होने वाले नुकसान को देखते हुए जनपद के अधिक से अधिक किसानों/काश्तकारों का फसल बीमा कराने के निर्देश दिये। कृषि एवं सिंचाई विभाग को आपसी समन्वय बनाकर फसलों की सिंचाई प्लान तैयार कर उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने जनपद की परिस्थितियों के हिसाब से उगने वाली फसलों के बारे में काश्तकारों को प्रशिक्षित करने तथा किसानों/काश्तकारों की आवश्यकता के अनुसार कृषि यन्त्र, बीज व अन्य सामग्री उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने जनपद के अधिक से अधिक कृषक को उन्नत कृषि तकनीकि जानकारी के लिए वाहरी राज्यों में भ्रमण कराकर प्रशिक्षित करने को कहा। पशुपालन विभाग को जनपद में चारा विकास को बढाने तथा किसान/काश्तकारों एवं लोगों को चारा विकास के लिए प्रोत्साहित करने के निर्देश दिये। उन्होंने पशु चिकित्सालय एवं कृत्रिम गर्भाधान केन्द्रों के बारे में भी जानकारी ली तथा अंगरू खरगोश, बकरी, कुक्कट पालन से काश्तकारों को जोड़ने तथा पशु बीमा सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उद्यान विभाग को फ्लोरी कल्चर के तहत क्लस्टर तैयार करने, फल एवं सब्जी उत्पादन को बढाने के निर्देश दिये। कृषि, उद्यान एवं पशुपालन अधिकारियों ने पाॅवर प्रजेन्टेशन के माध्यम से जनपद में संचालित योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी।

इस अवसर पर जिला उद्यान अधिकारी एसएल शाह, पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 लोकेश कुमार, अपर कृषि अधिकारी जीतेन्द्र भास्कर आदि उपस्थित थे।

चमोली 14 जून,2017
मुख्य विकास अधिकारी विनोद गोस्वामी ने विभागीय अधिकारियों के साथ विधायक एवं सांसद निधि योजना की समीक्षा की। इसके बाद अपने कार्यालय में जनता एवं जनप्रनिधियों से भेंट करते हुए उनकी समस्याओं के निराकरण किया।

उप जिलाधिकारी कर्णप्रयाग केएन गोस्वामी ने गौचर में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण कर अधिकारियों एवं कर्मचारियों की उपस्थित की समीक्षा की। इसके बाद क्राप कटिंग एवं कृषि गणना के प्रशिक्षण कार्यक्रम में भी प्रतिभाग किया। इसके अलावा आर एण्ड आर प्लाॅन से संबंधित तथा पोखरी में चल रहे आॅडिट से संबंधित कार्यो को पूरा किया।

उपजिलाधिकारी जोशीमठ योगेन्द्र सिंह द्वारा पूर्ति कार्यालय का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान कर्मचारियों की उपस्थिति ठीक पाई गयी। उन्होंने पूर्ति निरीक्षण कार्यालय में संरक्षित अभिलेखों का भी अवलोकन करते हुए पाया कि अभिलेख पंजिका में कुछ स्थानों पर ओवर राइटिंग की गई है। उन्होंने मौके पर पूर्ति निरीक्षक को निर्देश दिये कि ऐसे अभिलेख जिसमें सामग्री का स्टाॅक अथवा धनराशि का अंकन किया गया है, उन अभिलेखों में ओवर राइटिंग न की जाय, अपितु आवश्यक हो तो उसे काट कर ऊपर से इनिशियल करने के बाद नयी प्रविष्टि की जाय। उन्होंने खण्ड विकास अधिकारी कार्यालय का भी निरीक्षण करते हुए उपस्थिति पंजिका का अवलोकन किया। निरीक्षण में एक कार्मिक अनुपस्थित मिला, जिसके संबंध में सूचना अलग से पे्रषित की जा रही है। इसके बाद उन्होंने आजीविका मिशन कार्यालय का भी निरीक्षण करते हुए अभिलेखों का अवलोकन किया। आजीविका मिशन आॅफिसर से आजीविका कार्यक्रम के संबंध में जानकारी लेते हुए फैडरेशन के दायित्व, कार्य तथा आजीविका की बैठक आदि बिन्दुओं की जानकारी ली। जिस पर आजीविका मिशन आॅफिसर संतोषजनक जवाब नहीं दे पाये। उन्होंने निर्देश दिये कि आजीविका कार्यक्रम से संबंधित सभी शासनादेश एवं बाॅयलाॅज प्रस्तुत किये जांय। इसके बाद उन्होंने अपने कोर्ट के कार्यो को पूरा किया। उन्होंने नंदप्रयाग तहसील का भी निरीक्षण किया तथा नंन्द प्रयाग एवं चमोली तहसील कार्यालयों के कार्यो को पूरा किया।

उपजिलाधिकारी गैरसैण स्मृता परमार ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, खण्ड विकास कार्यालय, कोषागार का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने संबधित कार्यालयों की उपस्थिति पंजिका का अवलोकन कर रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेज दी है। इसके बाद उन्होंने तहसील स्तर पर गठित आईआरएस टीम को ब्लाक सभागार में प्रशिक्षण भी दिया।

उपजिलाधिकारी थराली सीएस डोभाल ने तहसील अन्तर्गत अवस्थित विभिन्न विभागों का निरीक्षण कर रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेजी है।

जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी नन्द किशोर जोशी ने बताया कि जिले के अन्तर्गत सभी मोटर मार्ग खुले है तथा बद्रीनाथ एवं हेमकुण्ड साहिब यात्रा निर्बाद्ध रूप से चल रही है। उन्होंने यह भी बताया कि अपराह्न 3ः40 बजे जोशीमठ सीमान्तर्गत पिनोलाघाट के समीप एक कार दुर्घटनाग्रस्त हुई है जिसमें 4 यात्री सवार थे। जिसमें से 3 लोगों की मृत्यु हो गयी तथा 1 घायल व्यक्ति को सीएचसी जोशीमठ में भर्ती किया गया है। बताया कि 13 जून को 8,845 तीर्थयात्री बद्रीनाथ तथा 2,792 तीर्थयात्री हेमकुण्ड साहिब दर्शनार्थ पहुॅचे। इस प्रकार 13 जून तक 5,28,221 तीर्थयात्री बद्रीनाथ तथा 46,862 तीर्थयात्री हेमकुण्ड साहिब के दर्शन कर चुके है। बद्रीनाथ धाम से 5,16,113 तथा हेमकुण्ड साहिब से 43,553 तीर्थयात्री दर्शनोपरान्त अपने गन्तव्य को वापस जा चुके है।

चमोली 14 जून,2017
विश्व रक्तदाता दिवस के अवसर पर बुधवार को जिला अस्पताल गोपेश्वर में जिला चिकित्सालय एवं रेडक्राॅस के सौजन्य से रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। रक्तदान शिविर का उद्घाटन जिलाधिकारी आशीष जोशी ने किया। जिलाधिकारी ने स्वयं आगे आकर शिविर में रक्तदान करते हुए जिला प्रशासन के अधिकारियों एवं आम नागरिकों को रक्तदान करने के लिए जागरूक किया। शिविर में रक्तदाताओं ने बढचढ़ कर भाग लिया।
शिविर में आये लोगों को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि रक्तदान करना सबसे बडा दान है। रक्तदान करने से गरीब, घायल तथा बीमार व्यक्ति को जीवन मिलता है। कहा कि रक्तदान करने से शरीर में किसी प्रकार का कोई नकारात्मक प्रभाव नही पडता है। उन्होंने इस नेक कार्य में अन्य लोगों को भी आगे आने की बात कही। कहा कि लोग स्वेच्छा से रक्तदान करते है पर जिस हिसाब से करना चाहिये उस हिसाब से आज भी लोग स्वेच्छित रक्तदान करने से हिचकिचाते है। कहा कि हर साल रक्त की कमी के कारण लाखों लोग बे-मौत मर जाते है। उन्होंने लोगों एवं युवाओं को स्वेच्छा से रक्तदान करने के लिए आगे आने की बात कही।

इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 विराज शाह ने बताया कि रक्तदान करने से शरीर में खून की कमी नही होती है। शरीर में नया खून अपने आन बन जाता है जो शरीर को नयी ऊर्जा एवं बीमारियों से लड़ने की और अधिक शक्ति देता है। उन्होंने कहा कि लागों को रक्तदान के प्रति जागरूक कर भ्रांन्तियों को दूर करने की आवश्यकता है।

रक्तदान शिविर में जिलाधिकारी आशीश जोशी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 विराज शाह, समाजसेवी प्रदीप तिवारी सहित 07 रक्तदाताओं ने स्वेच्छा से रक्तदान किया तथा 6 लोगों द्वारा रक्तदान करने के लिए रजिस्ट्रेशन फाॅर्म भरे गये, जो आपातकालीन स्थिति में रक्तदान करेंगे। रक्तदान शिविर में समाजसेवी व समर्पित गु्रप के प्रदीप तिवारी का विशेष योगदान रहा। उन्होंने 53 वीं वार रक्तदान कर लोगों एवं युवाओं को रक्तदान के लिए प्रेरित किया।

विदित हो कि स्वैच्छिक रक्तदान को बढावा देने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा 1997 में 14 जून को रक्तदाता दिवस की शुरूवात की गयी थी। इस वर्ष रक्तदाता दिवस की थीम ‘‘आकस्मिक क्षणों के लिए रक्तदान‘‘ रखी गयी है।

रक्तदाता दिवस के अवसर पर सीएमएस डा0 टीएस डुगरिया, सीटीओ वीरेन्द्र कुमार, डीपीएम दीपक खुडूरी, सचिव रेडक्राॅस सोसाइटी प्रमोद बिष्ट, ओम प्रकाश भटृट, जिला स्वास्थ्य सूचना अधिकारी उदय सिंह, एएनएम, आशा आदि लोग मौजूद थे।

21 जून, अन्तराष्ट्रीय योग दिवस की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी आशीष जोशी की अध्यक्षता में जिला कार्यालय सभागार में बैठक संपन्न हुई। जिलाधिकारी ने जनपद मुख्यालय सहित तहसील एवं विकासखण्ड स्तर पर 21 जून को विश्व योग दिवस मनाए जाने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी ने कहा कि बदलती जीवनशौली में योग निश्चित रूप से एक औषधि है, जो दिमाग एवं शरीर को स्वस्थ बनाये रखता है। उन्होंने योग से होने वाले लाभों का व्यापक प्रचार-प्रसार कर लोगों को जागरूक करने केे निर्देश अधिकारियों को दिये।

जिलाधिकारी ने कहा जनपद चमोली में स्वयं योग ध्यान बद्री विराज मान है, जो हमें योग की प्रेरणा देते है। उन्होंने बद्रीनाथ-ऋषिकेश हाइवे पर पाण्डुकेश्रवर में योग ध्यान बद्री के प्रांगण में 20 जून को सुबह 8ः00 बजे से योग शिविर का आयोजन सुनिश्चित करने के निर्देश नोडल अधिकारी आयुर्वेद को दिये है। साथ ही गणमान्य नागरिकों, जिला स्तरीय अधिकारियों एवं मीडिया प्रतिनिधियों से 20 जून को योग ध्यान बद्री प्रांगण में आयोजित होने वाले योग शिविर में प्रतिभाग करने की अपील की है। योग ध्यान बद्री प्रांगण, पाण्डुकेश्वर में टैन्ट, साफ-सफाई, पेयजल आदि व्यवस्थायें सुनिश्चित करने हेतु जिला पंचायत को निर्देशित किया।

जिलाधिकारी ने कहा कि अन्तराष्ट्रीय योग दिवस पर मुख्य कार्यक्रम जिला मुख्यालय स्थित पुलिस मैदान में आयोजित किया जायेगा। जबकि तहसील एवं विकासखण्ड स्तर पर भी 21 जून को विश्व योग दिवस मनाया जायेगा। उन्होंने एनसीसी, एनएसएस, होमगार्ड, नेहरू युवा केन्द्र एवं जिला स्तरीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को योग दिवस के अवसर पर आयोजित योग शिविर में प्रतिभाग करने को कहा। बारीश होने की स्थिति में जीआईसी, बैटमिन्टन हाॅल तथा पीजी काॅलजे गोपेश्वर में योग शिविर लगाने के निर्देश नोडल अधिकारी को दिये।
विदित है कि योग मनुष्य को दीर्घ जीवन प्रदान करता है, और वर्ष का सबसे लम्बा दिन 21 जून को होने के कारण इस दिन को वर्ष 2015 से योग दिवस के रूप में मनाया जा रहा है।
::::::::::::

विधायकों की तर्ज पर कर्मचारियों एवं जनप्रतिनिधियों को पेंषन देने की मांग को लेकर मोर्चा ने किया एस०डी०एम० का घेराव

विकासनगर – जन संघर्ष मोर्चा कार्यकर्ताओं ने जन संघर्श मोर्चा अध्यक्ष एवं जी०एम०वी०एन० के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिहं नेगी नेतृत्व में विधायकों की तर्ज पर कर्मचारियों एवं जनप्रतिनिधियों को पेंषन की मांग को लेकर तहसील घेराव किया एवं महामहिम राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी विकासनगर श्री जितेन्द्र कुमार को सौपा।

नेगी ने कहा कि राज्य गठन से लेकर आज की तिथि तक विधायकों को मिलने वाली पेंषन/ पारिवारिक पेंषन में अप्रत्याषित वृद्धि हुई है। सरकार ने विधायकों की सुख-सुविधाओं को देखते हुए विधायकी की षपथ ग्रहण से ही, पद त्याग करने/ मृत्यु हो जाने, कार्यकाल पूर्ण होने इत्यादि मामलों में अपने लिए पेंषन की व्यवस्था करा रखी है, चाहे षपथ ग्रहण के अगले ही दिन उसकी मृत्यू हो जाये व चाहे वह पद त्याग दे, वहीं दूसरी ओर प्रदेष में कर्मचारी २०-३० वर्श की (१० वर्शो से कम की स्थायी सेवा व २०-३० वर्श की अस्थायी सेवा) करने के उपरान्त भी आज पेंषन इत्यादि का हकदार नही होता तथा इसके साथ-साथ ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य, जिला पंचायत सदस्य को भी कोई पेंषन इत्यादि की व्यवस्था नहीं है, जिस कारण आज सामाजिक क्षेत्र में भिन्नता नजर आ रही है।

बडी हैरानी की बात है कि एक विधायक अपने कार्यकाल में वेतन/ भत्तों को भरपूर मात्रा में प्राप्त करता तथा पेंषन का हकदार हो जाता है, वहीं दूसरी ओर कर्मचारी एवं अन्य जनप्रतिनिधि दोयम दर्जे का जीवन जीने को मजबूर हो जाते है। कई मामलों में कर्मचारी एवं जनप्रतिनिधि की आकस्मिक मृत्यू हो जाने पर परिवार के सामने रोटी का संकट पैदा हो जाता है। उपरोक्त तथ्यों के विद्यमान होते हुए भी सरकार ने विधायकों के लिए पेंषन की व्यवस्था कर रखी है, ऐसा प्रतीत होता है कि यह विधायक कोई युग पुरूश व स्वतंत्रता सेनानी हैं।
नेगी ने कहा कि मोर्चा विधायकों की तर्ज पर ही कर्मचारियों एवं जनप्रतिनिधियों को भी पषन की व्यवस्था प्रदान करने हेतु लडाई लडेगा।
घेराव करने वालों में ः- मोर्चा महासचिव आकाष पंवार, मो० असद, प्रवीण षर्मा, दिलबाग सिहं, दरबान सिंह, चौ० मामराज, जयदेव नेगी, जयकृत नेगी, आषीश कुमार, नत्थी सिंह पंवार, अकरम सलमानी, रवि भटनागर, मो० नसीम, हाजी जामीन, मो० इसलाम, आदि थे।

हरिद्वार

जिलाधिकारी दीपक रावत एवं एस.एस.पी. कृष्ण कुमार वीे.के ने आगामी कांवड़ यात्रा की तैयारियों हेतु बैरागी कैम्प को जोड़ने वाले चार अस्थाई पुलों जो लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाये जाने हैं एवं लालपुल ज्वालापुर का स्थलीय निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने कहा कि सिंहद्वार से जो रास्ता रेलवे पटरी के पैरलल आता है उससे कांवड़ यात्रियों के जाने की व्यवस्था की जायेगी जिससे पुल बनाने की आवश्यकता न पड़े। उन्होंने कहा कि बैरागी कैम्प को जोड़ने के लिए जो चार अस्थाई पुल बनाए जायेंगे उसके लिए पी.डब्लू डी. ने टेंडर कर दिये हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार से अनुरोध किया जायेगा कि इन पुलों को हटाया न जाए। पूर्णकालिक बड़े पुलों के लिए भी अनुरोध किया जायेगा। उन्होंने कहा कि बैरागी कैम्प के जो रास्ते दब गये हैं या धंस गये हैं उनकी मरम्मत की जायेगी। बैरागी पार्किंग की सफाई व्यवस्था की जिम्मेदारी सिंचाई विभाग को दी गई है। बैरागी कैम्प के निरीक्षण के दौरान अतिक्रमण पाये जाने पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता सिंचाई का वेतन रोकने के निर्देश दिये।
निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी प्रशासन डाॅ अभिषेक त्रिपाठी, एस.पी.सिटी ममता बोहरा, नगर मजिस्ट्रेट जय भारत सिंह, उप जिलाधिकारी हरिद्वार मनीष कुमार सिंह, सी.ओ. जे.पी. जुयाल, सी.ओ. प्रकाश देवली आदि उपस्थित थे।

 

Leave a Comment