Share
कांग्रेस अकेले लड़ेगी निकाय चुनाव, सपा-कांग्रेस गठबंधन टूटा !

कांग्रेस अकेले लड़ेगी निकाय चुनाव, सपा-कांग्रेस गठबंधन टूटा !

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के पिछले विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी का साथ लेने वाली कांग्रेस उत्तर प्रदेश के आगामी स्थानीय निकाय चुनाव अपने बलबूते पर लड़ेगी। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव गुलाम नबी आजाद ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जन्मशती के मौके पर रविवार को यहां आयोजित कार्यक्रम में कहा ‘‘हमारी पार्टी उत्तर प्रदेश के अगले स्थानीय निकाय चुनाव अपने दम पर लड़ेगी।’’ मालूम हो कि कांग्रेस इस साल के शुरू में हुए विधानसभा चुनाव में सपा के साथ मिलकर लड़ी थी, जिसमें उसे करारी पराजय का सामना करना पड़ा था।

आगामी निकाय चुनाव में दोनों पार्टियां लड़ेंगी या नहीं, इसे लेकर अभी तक संशय की स्थिति बनी हुई थी। प्रदेश में स्थानीय निकायों के चुनाव अगले महीने होने हैं। आजाद ने गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिये सकारात्मक संकेत मिलने का दावा करते हुए कहा कि भाजपा घबरायी हुई है। मोदी सरकार की लोकप्रियता का ग्राफ तेजी से गिरा है और गुजरात के चुनाव में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को उतारा जाना इसकी तस्दीक करता है। उन्होंने कहा कि अगर मोदी इतने ही वोट आकर्षित करने वाले नेता हैं तो उनके गृह राज्य के चुनाव में योगी को क्यों प्रचार के लिये उतारा गया है।
आजाद ने कहा कि फरीदाबाद में कथित गौरक्षकों ने भैंस का मांस ले जा रहे अल्पसंख्यक समुदाय के एक युवक पर हमला किया। इससे साबित होता है कि कानून-व्यवस्था अब सरकार के बस की बात नहीं रही।
कांग्रेस के प्रान्तीय अध्यक्ष राज बब्बर ने इस मौके पर कहा कि यह विडम्बना है कि उन योगी आदित्यनाथ को केरल और गुजरात में बेहतर कानून-व्यवस्था दिलाने की अपील के साथ मैदान में उतारा गया है, जिनसे अपने उत्तर प्रदेश की ही कानून-व्यवस्था नहीं सम्भल रही।

Leave a Comment