Share
कांवड़ यात्रा में मोदी-योगी टी-शर्ट की माँग, गोल्डन बाबा 20 किलो सोना पहन कर पहुँचे

कांवड़ यात्रा में मोदी-योगी टी-शर्ट की माँग, गोल्डन बाबा 20 किलो सोना पहन कर पहुँचे

हरिद्वार। सावन का महीना आते ही भगवान शंकर के भक्त कांवड़ यात्रा पर निकल पड़े हैं और हरिद्वार जाने वाले सभी रास्तों पर बोल बम के जयकारे की गूँज नजर आ रही है। जगह जगह स्थानीय प्रशासन और धार्मिक संगठनों की ओर से कांवड़ियों के ठहरने तथा उनके भोजन के इंतजाम किये गये हैं तो साथ ही बाजार में इस बार राज्य प्रशासन सुरक्षा प्रबंधों को लेकर काफी सतर्क नजर आ रहा है। यात्रा मार्ग पर सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं और केंद्रीय कक्ष बनाकर निगरानी की जा रही है। किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए पुलिस कर्मी सादे कपड़ों और वर्दी में तैनात हैं। दिल्ली मेरठ हाइवे पर वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित कर दिया गया है और जैसे जैसे कांवड़ियों की भीड़ बढ़ती जा रही है उसे देखते हुए 5 अगस्त से हरिद्वार में बसों का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया जायेगा।

मोदी-योगी की तसवीर वाली टी-शर्ट की मांग

वैसे तो कावंड़ यात्रा में हमेशा भगवान शिव की तसवीर वाली और ओम अक्षर वाली टी-शर्ट की ज्यादा मांग रहती है लेकिन इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तसवीरों वाली टी-शर्ट की ज्यादा मांग है। इसी प्रकार से कई ऐसी टी-शर्ट भी नजर आ रही हैं जिनमें अयोध्या के राम मंदिर की तसवीर छपी हुई है। कांवड़ यात्रा के जरिये लोग सामाजिक संदेश भी दे रहे हैं। इस बार केंद्र सरकार के अभियान ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का भी कांवड़ यात्रा में प्रचार किया जा रहा है।
गोल्डन बाबा भी पहुँचे कांवड़ यात्रा में
दूसरी तरफ कई साधु अपनी वेशभूषा के जरिये भी लोगों का ध्यान आकर्षित कर रहे हैं। हर वर्ष की भाँति इस बार भी गोल्डन बाबा कांवड़ यात्रा में पहुँचे हैं। यह उनकी 25वीं कांवड़ यात्रा है। वह 20 किलो सोना पहनकर पहुँचे हैं। उनके आभूषणों की कीमत साढ़े छह करोड़ रुपए बताई जा रही है। गोल्डन बाबा ने आभूषणों के साथ ही महंगी रोलेक्स घड़ी भी पहनी हुई है। वह कड़ी सुरक्षा के बीच यात्रा करते हैं। बताया जाता है कि उनकी कावंड़ यात्रा का खर्च एक करोड़ रुपए से ज्यादा आता है।
शिव कांवड़ मेरठ मोबाइल एप
इस बीच, मेरठ प्रशासन ने एक मोबाइल एप जारी किया है जिसका नाम है ‘शिव कांवड़ मेरठ’। यह एप गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है। मैप आधारित इस एप के जरिये कांवड़ियों को यात्रा से जुड़ी सारी जानकारियों के अलावा यात्रा मार्ग में उपलब्ध कराई गयी सुविधाओं की भी जानकारी मिलेगी।
बस रूट के बारे में जानकारी
कांवड़ यात्रा
कांवड़ यात्रा के लिए कई जगह वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिये जाने से हालांकि लोगों को परेशानी हो रही है। प्रशासन ने कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे बजाने पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है। प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक बसों के संचालन के लिए हरिद्वार से बाहर मोतीचूर में और चंडीघाट पर गौरीशंकर पार्किंग में अस्थायी बस अड्डे बनाये गये हैं। ऋषिकेश, बिजनौर, हल्द्वानी, नैनीताल, मेरठ और दिल्ली की बसों के लिए गौरीशंकर पार्किंग से रोडवेज बसें ली जा सकेंगी।

Leave a Comment