Share
केन्द्रीय मंत्री श्री वेंकैया नायडू एवं मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने संयुक्त रूप से देहरादून में दूरदर्शन एवं आकाशवाणी केन्द्र का लोकार्पण किया

केन्द्रीय मंत्री श्री वेंकैया नायडू एवं मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने संयुक्त रूप से देहरादून में दूरदर्शन एवं आकाशवाणी केन्द्र का लोकार्पण किया

देहरादून 29 जून, 2017

गुरूवार को केन्द्रीय मंत्री श्री वेंकैया नायडू एवं मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने संयुक्त रूप से देहरादून में दूरदर्शन एवं आकाशवाणी केन्द्र का लोकार्पण किया। लोकार्पण के बाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री नायडू ने कहा कि दूरदर्शन एवं आकाशवाणी के सहयोग से स्थानीय बोली, भाषा व संस्कृति की झलक मिलेगी। उत्तराखण्ड की विशिष्ट पहचान है। यह पहचान दूरदर्शन व आकाशवाणी के माध्यम से अच्छी तरह सामने आयेगा। उन्होंने कहा कि स्थानीय संस्कृति भाषा-बोली पर आधारित कार्यक्रम से राज्य की संस्कृति समृद्ध होगी। शीघ्र ही 24×7 संबंधित सेवाएं दूरदर्शन से मिलेगी। आपदा व सामरिक दृष्टि से अति संवेदनशील राज्य होने के कारण दूरदर्शन एवं आकाशवाणी की महत्ता दूर-दूराज एवं दूरस्थ क्षेत्रों के लिए और अधिक बढ़ जाती है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि मैं केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री नायडू का ह्दय से आभार जताना चाहूंगा, कि उत्तराखण्ड, देहरादून में आकाशवाणी एवं दूरदर्शन ने विधिवत अपने चैनल की शुरूआत की है। उन्होंने कहा कि दूरदर्शन ने अपने कुटुंब में एक ओर राज्य को जोड़ लिया है। दूरदर्शन व आकाशवाणी उत्तराखंड की प्रगति में मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि आरंभ से ही दूरदर्शन ने जन सरोकारों से जुड़े मुददों को प्राथमिकता दी है। देश में जनसामान्य का सबसे पसंदीदा चैनल आज भी दूरदर्शन ही है। उन्होंने आशा व्यक्त कि की उत्तराखण्ड में भी दूरदर्शन इसी उत्साह से काम करेगा और उत्तराखंड के सूदूर गांवों की खबरों को जन-जन तक पहुंचायेगा। उत्तराखंड की संस्कृति, उत्तराखंड के तीर्थाटन, यहां के पर्यटन को एक नए कलेवर में दूरदर्शन पेश करेगा। इस प्रयास से किसानों से जुड़ी खबरों की भी प्राथमिकता मिलेगी। युवाओं को उनके कैरियर से जुड़ी आशंकाओं और नई जानकारियां उपलब्ध कराने में ये चैनल अपनी सार्थक भूमिका निभाएगा। उन्होंने दूरदर्शन की पूरी टीम को बधाई दी।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि दूरदर्शन की विश्वसनियता व निष्पक्षता आज भी कायम है। उत्तराखण्ड में होने वाली चारधाम यात्रा के संदर्भ में सही व विश्वसनीय समाचार सेवा का प्रमुख माध्यम बनेगा तथा हमारी क्षेत्रीय पहचान को भी सामने लायेगा।
इस अवसर पर सांसद डाॅ.रमेश पोखरियाल निशंक, श्रीमती माला राज्यलक्ष्मी शाह, कैबिनेट मंत्री श्री मदन कौशिक, विधायक श्री उमेश शर्मा आदि उपस्थित थे।

देहरादून 29 जून, 2017
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सुप्रसिद्ध लोकगायक श्री नरेंद्र सिंह नेगी एवं उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी श्रीमती सुशीला बलूनी के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हुए कहा है कि उनके उपचार पर होने वाला सम्पूर्ण व्यय राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। उन्होंने चिकित्सकों को निर्देश दिए हैं कि श्री नेगी एवं श्रीमती बलूनी का हर संभव अच्छे से अच्छा इलाज किया जाए, उनके इलाज पर व्यय होने वाली राशि, राज्य सरकार द्वारा वहन की जाएगी। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र, लोकगायक श्री नेगी एवं राज्य आंदोलनकारी श्रीमती बलूनी की कुशल क्षेम पूछने अस्पताल भी गये थे।
उत्तराखण्ड विधान सभा अध्यक्ष श्री प्रेम चन्द अग्रवाल जी ने आज मैक्स अस्पताल पहुचकर लोक गायक नरेन्द्र सिंह नेगी एवं राज्य आन्दोलकारी श्रीमती सुशीला बलूनी स्वास्थ्य से सम्बन्धित चिकित्सकों से चर्चा कर उनका हाल जाना।
इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा कि श्री नरेन्द्र सिंह नेगी इस राज्य की सांस्कृतिक धरोहर के प्रहरी है। उन्होने कहा कि श्रीमती बलूनी एवं श्री नेगी का स्वस्थ रहना राज्य के हित में है। श्री अग्रवाल ने श्री नरेन्द्र सिंह नेगी एवं श्रीमती सुशीला बलूनी के शीघ्र स्वास्थ लाभ की कामना की।

अगले 48 घण्टों में भारी बारीश की चेतावनी
चमोली 29 जून,2017
मौसम विभाग, देहरादून से अगले 48 घण्टों में भारी बारीश की चेतावनी को देखते हुए जिलाधिकारी आशीष जोशी ने सभी अधिकारियों को अर्लट रहने के निर्देश दिये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में भारी बारीश की संम्भावना व्यक्त की गयी है। उन्होंने चारधार यात्रा मार्ग सहित क्षेत्रों में विशेष अहतियात रखने तथा सर्तकता का उच्च स्तर बनाये रखने के साथ ही किसी भी आपदा की घटना घटित होने पर अपने स्तर से आवश्यक एवं प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करने को कहा।

चमोली 29 जून,2017
जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी नन्द किशोर जोशी ने बताया कि 28 जून को 3,537 तीर्थयात्री बद्रीनाथ तथा 1,501 तीर्थयात्री हेमकुण्ड साहिब दर्शनार्थ पहुॅचे। 28 जून तक 6,20,321 तीर्थयात्री बद्रीनाथ तथा 77,656 तीर्थयात्री हेमकुण्ड साहिब के दर्शन कर चुके है। बद्रीनाथ धाम से 6,16,303 तथा हेमकुण्ड साहिब से 76,050 तीर्थयात्री दर्शनोपरान्त अपने गन्तव्य को वापस जा चुके है। आपदा कन्ट्रोल से मिली जानकारी के अनुसार आज सुबह अलकनंन्दा का जलस्तर 953.68 एमएम, नन्दाकिनी का 867.12एमएम तथा पिण्डर नदी का 768.20 एमएम रिकार्ड किया गया।
चमोली 29 जून,2017
विकासखण्ड गैरसैंण के सैंज गांव में 28 जून की रात्रि को भारी वर्षा के कारण एक मकान पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त, एक मकान आंशिक क्षतिग्रस्त तथा 15 लोगों के घरों में मलवा घुस गया। साथ ही एक गैशाला भी क्षतिग्रस्त हुई है। हालांकि घटित घटना से कोई जनहानि नही हुई है। घटना की सूचना मिलते हुए आईआरएस तहसील गैंरसैंण स्तरीय रेस्क्यू टीम कल रात्रि को ही घटना स्थल पर पहुॅच गयी थी तथा सयम से राहत एवं बचाव कार्य शुरू किया गया था। प्रशासन की रेस्क्यू टीम द्वारा प्रभावितों को पंचायत घर सैंज में रिलीफ सेंन्टर बनाकर आवश्यक सुविधाऐं दी जा रही है।

इस संबध में जिलाधिकारी आशीष जोशी ने आज सुबह 9ः45 बजे आपदा कन्ट्रोल रूम में अधिकारियों के साथ वार्ता करते हुए राहत कार्यो का प्रभावी ढंग से संचालन करने के निर्देश दिये। उन्होंने राहत शिविर में बिजली, पानी व पर्याप्त मात्रा में खाद्य सामग्री की व्यवस्था करने और प्रभावितों को शीघ्र अहैतुक सहायता धनराशि का वितरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी विनोद गोस्वामी को भी तत्काल घटना स्थल के लिए रवाना किया।

उप जिलाधिकारी गैंरसैंण स्मृता परमार ने बताया कि कल रात्रि को सैंज गांव में भारी वर्षा के चलते खीम सिंह, महिपाल सिंह व भरत सिंह पुत्रगण बलवंत सिंह का आवासीय मकान पूर्णरूप से क्षतिग्रस्त हुआ है तथा प्रेम सिंह पुत्र बलवंत सिंह का आवासीय मकान आंशिक क्षतिग्रस्त हुआ है। साथ ही 15 अन्य लोगों के घरों में भी मलवा घुसा है। उन्होंने बताया कि प्रशासन की रेस्क्यू टीम कल रात्रि को ही घटना स्थल पर पहुॅच गयी थी तथा रेस्क्यू कार्य शुरू किया गया था। इस घटना से कोई जनहानि नही हुई है। उन्होंने बताया कि सैंज गांव के पंचायत घर को रिलीफ सेंन्टर बनाया गया हैं जहाॅ प्रभावितों को खाद्य समाग्री, बिजली, पानी आदि सुविधाऐं दी जा रही है। बताया कि प्रभावित परिवारों को अहैतुक सहायता धनराशि भी वितरित की जा रही है।
चमोली 29 जून,2017
स्वतंत्रा के बाद आर्थिक योजना एवं सांख्यिकीय विकास के क्षेत्र में प्रो0 पी.सी. महालोनिबिस द्वारा किये गये उल्लेखनीय योगदान को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार द्वारा प्रतिवर्ष उनके जन्म दिवस 29 जून को सांख्यिकीय दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस परिपेक्ष्य में आज सांख्यिकी दिवस के अवसर पर जिला अर्थ एवं संख्या कार्यालय में प्रशासनिक सांख्यिकी विषय पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में प्रभारी अर्थ एवं संख्या अधिकारी ने सामाजिक आर्थिक नियोजन और नीति निर्माण एवं प्रसिद्व संख्याविद पीसी महालोनिबिस के जीवन पर प्रकाश डालते हुए सांख्यिकीय क्षेत्र में उनके विशेष योगदान को याद किया। उन्होंने कहा कि महालोनिबिस का सबसे बडा योगदान उनके द्वारा शुरू किया गया सैंपल सर्वे की संकल्पना है। इसके आधार पर आज के युग में बडी-बडी नीतिया एवं योजनाऐं बनायी जाती है। इस अवसर पर सहायक अभियता लघु सिंचाई विष्णुदत्त बेंजवाल, एआर काॅपरेटिव बीएस राणा, जिला पंचायत राज अधिकारी बीएस दुग्ताल, सहायक अभियंता बीस कुंवर, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी विक्रम सिंह चैधरी सहित अर्थ एवं संख्या विभाग के कर्मचारी उपस्थित थे।

###
देश की पत्रकारिता को दिशा देगा हिन्दुस्थान समाचार : शिव प्रकाश

देहरादून, 29 जून। आज देश को एक दिशा देने की जरूरत है। समाज को इस दिशा की ओर अग्रसर करने का कार्य बेहतर पत्रकारिता के द्वारा ही किया जा सकता है। विश्व पटल पर देश अपनी चमक बिखेरे इसके लिए समाज मे आदर्श व्यवहार को प्रस्तुत करना होगा। जो प्रभावी एवं सटीक पत्रकारिता के बिना संभव नहीं। हिन्दुस्थान समाचार द्वारा आयोजित द्वितीय वार्षिक समागम में शिरकत करते हुए भाजपा के राष्टिय सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश ने यह बात कही। उन्होंने भारती संस्कृति को पत्रकारिता के जरिए फैलाने का आह्वान किया। तीन दिवसीय समागम में देशभर से मीडिया जगत से जुड़े विशेषज्ञ विभिन्न मुद्दों पर विचार व्यक्त करेंगे।

गुरुवार को देहरादून स्थित द इंडियन पब्लिक स्कूल में आयोजित हुए द्वितीय वार्षिक समागम में मीडिया जगत से जुड़े देशभर के पत्रकार एक मंच पर एकत्र हुए। तीन दिवसीय समागम अवसर पर पत्रकारिता और अन्य सामाजितक मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। पहले दिन कार्यक्रम का शुभारंभ उततराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद्र अग्रवाल, भाजपा के राष्टिय सह संगठन मंत्री शिव प्रकाश, हिन्दुस्थान समाचार संवाद समिति के अध्यक्ष राविंद्र किशोर सिन्हा, विशिष्ट अतिथि चंद्र मोहन भारद्वाज, राजकुमार भाटिया, अमर शंकर आंबले, राम बहादुर राय, अच्युतानंद मिश्र, हरिभाउ मिरासदार व डा. आर बालाशंकर ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया। कार्यक्रम का आगाज विभिन्न श्रेणियों में श्रेष्ठ, उत्कृष्ट और सर्वश्रेष्ट सम्मान प्रदान करने के साथ हुआ। समिति द्वारा देश के विभिन्न राज्यों में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले संवाद सूत्र, संवाददाता, राज्य ब्यूरो व संपादन आदि कार्यों के लिए सम्मानित किया। समिति ने पुरस्कार स्वरूप श्रेष्ठ श्रेणी में 11 हजार,उत्कृष्ट श्रेणी में 15 व सर्वश्रेष्ठ के रूप में 21 हजार रुपए प्रदान किए।
समिति के अध्यक्ष व बिहार के सांसद रविंद्र किशोर सिन्हा ने समिति से जुड़े सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि आज हिन्दुस्थान समाचार अपना स्वरूप मौजूदा मांग के अनुरूप बदल रहा है। देश की एक मात्र बहुभाषी एजेंसी होने के गौरव के साथ ही एजेंसी अब सबसे बेहतरीन तकनीकि का उपयोग करने वाली एजेंसी बनने की राह पर अग्रसर है। उन्होंने बताया कि निरंतर एजेंसी अपने समाचारो की गुणवत्ता में सुधार कर रही है। संख्या में भी इजाफा हो रहा है। यही कारण है कि एजेंसी प्रतिदिन देशभर की 800 से 900 खबरों को उपलब्ध कराने का र्का कर रही है। उन्होंने मौजूदा सामाजिक विचारधारा को बेहतर दिशा देने के लिए एजेंसी के प्रतिनिधियों को जिम्मेदार, निर्भीक और निष्पक्ष रूप से कार्य करने का आह्वान किया।

दो सत्रों में आयोजित हुए कार्यक्रम में विशेषज्ञों ने मीडिया की भूमिका और तकनीकि के उपयोग पर विशेषज्ञों ने विचार व्यक्त किए। पहले सत्र में समिति के निदेशक गणों ने संबोधित करते हुए हिन्दुस्थान समाचार के बीते एक साल के सफर और आने वाली चुनौतियों पर विचार रखे। दूसरे सत्र में समिति के डायरेक्टर इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी मनीष श्रीवास्तव ने मोबाइन एप्लीकेशन व अन्य तकनीकि की जानकारी प प्रशिक्षण दिया। इसके बाद कोलकाता के वरिष्ठ पत्रकार सुरजीत दासगुप्ता ने सोशल मीडिया व वरिष्ठ संपादक अंबिका नंद सहाय ने पत्रकारिता तब और कब विषय पर व्याख्यान दिया। सलाहकार संपादक लव कुमार मिश्रा ने संघर्ष क्षेत्र से रिपोर्टिंग, समस्या और समाधान विषय पर विचार रखे। सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के साथ पहले दिन की गतिविधियों का समापन हुआ। बाल गायिका श्रेया बसु ने अपने गीतों से ऐसा समां बाधां कि हर कोई मंत्रमुग्ध हो गया। इस मौके पर देशभर की कई गणमान्य हस्तियां मौजूद रहीं।

भाषा विभाग के डा. उपाध्याय सम्मानित

हिंदुस्थान समाचार संवाद समिति के वार्षिक समागम में विभिन्न श्रेणियों में करीब 40 लोगों को सम्मानित किया गया। इनमें देहरादून में पीताम्बर दत्त बड़थ्वाल हिंदी अकादमी के उप सचिव डॉ. सुशील उपाध्याय को विदेशी मामलों पर युग्वार्ता के लिए लेखन पर 21 हजार रुपये की राशि और प्रस्सति पत्र प्रदान किये गए।
सुशील उपाध्याय को 21 हजार का लेखन पुरस्कार
देहरादून। उत्तराखंड भाषा संस्थान के उप निदेशक और हिन्दी अकादमी के उप सचिव डाॅ. सुशील उपाध्याय को विदेश मामलों पर हिन्दी में लेखन के लिए हिन्दुस्थान समाचार संवाद समिति के राष्ट्रीय अधिवेशन में 21 हजार रुपये के पुरस्कार और प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया गया है। देश भर के 40 पत्रकारों और मीडियाकर्मियों को इस मौके पर विभिन्न विषयों और लेखन-श्रेणियों में
सम्मानित किया गया।
हिन्दुस्थान समाचार संवाद समिति का राष्ट्रीय अधिवेशन 28 से 30 जून तक देहरादून में आयोजित किया गया। इस मौके पर संवाद समिति की ओर से श्रेष्ठ, उत्कृष्ट एवं सर्वश्रेष्ठ श्रेणी के लिए क्रमशः 11 हजार, 15 हजार एवं 21 हजार रुपये की सम्मान राशि, प्रशस्ति-पत्र एवं स्मृति-चिह्न देकर मीडियाकर्मियों और स्तंभ-लेखकों को सम्मानित किया गया। विदेश मामलों पर लेखन के लिए उत्तराखंड भाषा संस्थान के उप निदेशक और हिन्दी अकादमी के उप सचिव डाॅ. सुशील उपाध्याय को 21 हजार रुपये की नकद राशि, प्रशस्ति-पत्र
और स्मृति-चिह्न प्रदान किया गया। डाॅ. उपाध्याय हिन्दुस्तान समाचार संवाद समिति के प्रकाशनों के लिए विदेश मामलों पर नियमित लेखन करते हैं।
इससे पूर्व डाॅ. सुशील उपाध्याय को एनयूजे, हरिद्वार द्वारा गणेश शंकर विद्यार्थी सम्मान भी प्रदान किया जा चुका है। अधिवेशन और सम्मान-समारोह में हिन्दुस्थान समाचार संवाद समिति के अध्यक्ष एवं सांसद रविंद्र किशोर सिन्हा, विशिष्ट अतिथि चंद्र मोहन भारद्वाज, राजकुमार भाटिया, अमर शंकर आंबले, राम बहादुर राय, अच्युतानंद मिश्र, हरिभाउ मिरासदार, डाॅ. आर बालाशंकर, अंबिका नंद सहाय, सुरजीत दासगुप्ता, संवाद समिति के सीईओ एवं समूह संपादक राकेश मंजुल सहित अनेक वरिष्ठ पत्रकार एवं मीडियाकर्मी मौजूद थे।

एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

देहरादून 29 जून 2017

राजपुर रोड स्थित मंथन सभागार में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग भारत सरकार, उत्तराखण्ड राज्य विज्ञान प्रौद्योगिकी परिषद(यूकाॅस्ट) तथा प्राकृतिक संसाधन विकास केन्द्र (एन.आर.डी.एम.सी) अल्मोड़ा के समन्वय से जनपद में प्रशासन में सुगमता तथा सभी विभागों की योजनाओं में पारदर्शिता लाने हेतु जी.आई.एस (ज्योगोराफिक इन्फोर्मेशन सिस्टम) तथा एस.डी.आई(स्पार्शियल डाटा इन्फ्रास्ट्रक्चर) सेल अर्थात सभी विभागों के सम्पूर्ण आंकड़ों को उपग्रह आधारित बनाने के सम्बन्ध में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व/नोडल अधिकारी जी.आई.एस वीर सिंह बुदियाल की अध्यक्षता में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।
कार्यशाला में अपर जिलाधिकारी वीर सिंह बुदियाल ने बताया कि इस परियोजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में जी.ओ पोर्टल के माध्यम से प्रत्येक विभाग का डाटा एकत्रित करना है तथा इसके माध्यम से योजना के क्रियान्वयन, उसकी निगरानी तथा प्रशासन को दुरूस्त रखने में सहायता मिलेगी। उन्होने कहा यह परियोजना विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी भारत सरकार एवं उत्तराखण्ड सरकार द्वारा वित्त पोषित है तथा उन्होने जनपद के सभी विभागों को उपरोक्त परियोजनाओं का क्रियान्वयन यथाशीघ्र अपने विभाग में कराने के निर्देश दिये, जिससे जनपद में जी.ओ प्रौजेक्ट के माध्यम से कार्य सुचारू रूप से किया जा सके।

कार्यशाला में उत्तराखण्ड राज्य विज्ञान प्रौद्योगिकी परिषद/यूकाॅस्ट के महानिदेशक डाॅ राजेन्द्र डोभाल ने कहा कि परियोजना के तहत प्रत्येक जनपद में जी.आई.एस सेल की स्थापना की जानी है, जिससे किसी भी परियोजना में उचित निगरानी सफल होने के फलस्वरूप पारदर्शिता आयेगी तथा उसके क्रियान्वयन में भी अधिक सफलता मिल सकेगी। इसके लिए जनपद स्तर पर सभी विभागों द्वारा अपना सम्पूर्ण डाटा जी.आई.एस से कनैक्ट करना है।
कार्यशाला में एन.आर.डी.एम.एस/ प्राकृतिक संसाधन विकास केन्द्र अल्मोड़ा कुमाऊ विश्व विद्यालय के प्रोफेसर जी.एस रावत ने प्रजेंटेशन के माध्यम से प्रयोजना के उद्देश्य तथा रिमोट सैंसिंग के बारे में उपस्थित अधिकारियों को विस्तार बताया। उन्होने बताया कि जनपद में किस प्रकार उक्त परियोजना को क्रियान्वित किया जायेगा तथा किस प्रकार आंकड़ों का संयोजन किया जायेगा।

यूकाॅस्ट के परियोजना समन्वयक डाॅ डी.पी उनियाल ने परियोजना में जी.ओ सर्वर की स्थापना तथा इसके लाभ के बारे में बताते हुए कहा कि इस पोर्टल के माध्यम से योजना की प्लानिंग उसके निर्माण, क्रियान्वयन तथा विभिन्न विभागों में प्रशासन की दृष्टि से समन्वय करने में बहुत आसानी होगी। उन्होेने कहा कि इसके माध्यम से सभी प्रकार की योजना तथा समस्त आंकड़े उपग्रह से कनैक्ट हो जायेंगे, जिससे विभिन्न योजनाओं के आंकड़ो को प्राप्त करने तथा अन्य प्रकार के दिशा-निर्देशन में बहुत सहायता मिलेगी।
इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी प्रदीप पाण्डेय, उप जिलाधिकारी ऋषिकेश हरिगिरि, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी रतन सिंह, जिला पंचायतराज अधिकारी एम जफर खान सहित जनपद के विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

—0—
कालसी-देहरादून मोटर मार्ग बन्द

देहरादून 29 जून 2017 जिला आपदा परिचालन केन्द्र देहरादून से प्राप्त सूचना के अनुसार पी.एम.जी.एस.वाई कालसी, लो.नि.वि. प्रा.ख. देहरादून के अन्तर्गत वर्षा के कारण जो मार्ग बन्द है उनमें माखटी पोखरी मोटर मार्ग, पिपरा मिनश बाईला मोटर मार्ग, कथियान से भूट मोटर मार्ग, छाबरा डोगरी मोटर मार्ग, हयो टगरी मोटर मार्ग, दोइरा देउ मोटर मार्ग तथा लो.नि.वि प्रा.ख. देहरादून के अन्तर्गत कालीगाड सरोना मोटर मार्ग बन्द है। मोटर मार्ग को जेसीबी द्वारा खोलने की कार्यवाही गतिमान है।

बच्चों को पालियो ड्राप पिलाई

हरिद्वार
आगामी 02 जुलाई को जनपद के प्रत्येक पोलिंग बूथ पर 0 से 05 वर्ष तक के बच्चों को पालियो ड्राप पिलाई जाएगी। जिलाधिकारी दीपक रावत ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिये कि पल्स पोलियो दिवस पर बूथ कवरेज बढ़ाया जाये। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी बच्चा पोलियो ड्राॅप से वंचित न रहे। जिन बूथों पर पोलियो ड्राॅप को प्रतिशत कम है उसे बढ़ाने के लिए ए.एन.एम, आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के माध्यम से घर-घर जाकर जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिये। स्वास्थ्य, शिक्षा तथा आई.सी.डी.एस. विभाग को बूथ प्रसेन्टेज बढ़ाने के लिए समन्वय बनाकर कार्य करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि पोलियो दिवस के उपरान्त घर-घर जाकर छूटे बच्चों को पोलियो ड्राॅप पिलाई जाए।

मिशन इन्द्रधनुष की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिये कि इस मिशन के तहत 0 से 02 साल के सभी बच्चों का टीकारण सुनिश्चित किया जाए। जो बच्चे किसी कारण से पिछले माह टीकारण से वंचित रह गये उनको चिन्हित कर सबका टीकाकरण करना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि कि यह भी सुनिश्चित किया जाए कि एक साल तक के बच्चों को जितने भी टीके लगने हैं, उन टीकों से कोई वंचित न रहे। मिशन इन्द्रधनुष के तहत सम्पूर्ण टीकाकरण के लिए आशा, ए.एन.एम एवं आंगनबाड़ियों के माध्यम से जिन बच्चों का टीकाकरण होना है, पूरी लिस्ट बनाई जाए एवं स्वास्थ्य विभाग तथा डबलू.एच.ओ. के पर्यवेक्षकों का द्वारा पर्यवेक्षण भी किया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि जिन ब्लाॅकों में मिशन इन्द्रधनुष के तहत कम टीकाकरण हुआ है वहां पर 11 से 20 जुलाई तक चलने वाले टीकाकरण अभियान में विशेष फोकस किया जाए।

इस अवसर पर सी.एम ओ. डाॅ रविन्द्र थपलियाल, नगर मजिस्ट्रेट जय भारत सिंह, प्रशिक्षु आई.ए.एस. नरेन्द्र भण्डारी, उप जिलाधिकारी भगवानपुर अनिल गब्र्याल, डाॅ एच.डी. शाक्य, जिला शिक्षा अधिकारी ब्रहमपाल सैनी, डी.पी.ओ. शैली प्रजापति, डाॅ शशिकान्त, डाॅ अनिल वर्मा, अपर शोध अधिकारी विनोद कुमार एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Comment