Share
देहरादून:किडनी कांड के आरोपी डॉ संजय और उनकी पत्नी गिरफ्तार

देहरादून:किडनी कांड के आरोपी डॉ संजय और उनकी पत्नी गिरफ्तार

देहरादून : राज्य के बहुचर्चित किडनी कांड से जुड़े डॉ संजय दास और उनकी पत्नी डॉ सुषमा कुमारी को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों की किडनी कांड में अहम भूमिका थी। यह लोग गंगोत्री चेरिटेबिल अस्पताल में डॉक्टर थे तथा ऑपरेशन के समय मरीजो को बेहोश करने का कार्य करते तथा घटना के समय से ही लगातार फरार चल रहे थे। पुलिस ने इन्हे नोएडा से गिरफ्तार कर लिया है। मूलत: बिहार का रहने वाला संजय और उसकी पत्नी अमित के द्वारा किए जाने वाले हर एक ऑपरेशन में साथ रहते थे। आरोपियों पर ईनाम घोषित था।

गरीब तबके के लोगों को किडनी बेचने के लिए तैयार करता था।
संजय दास का बिहार से किडनी डोनर लाने के लिए इस रैकेट से नाम जुड़ रहा है।अब तक की जांच में यह पता चला है की वह ऐसे लोगों को तलाशता था, जिनकी किडनी खराब हो चुकी है। और उन्हें को बरगला कर देहरादून लाने की जिम्मेदारी उसी की थी। वहीं गरीब तबके के लोगों को किडनी बेचने के लिए तैयार करना भी उनकी जिम्मेदारी में शामिल था।

थाना डोईवाला क्षेत्र में प्रकाश में आये किडनी रैकेट के सम्बन्ध में अब तक सरगना अमित राऊत समेत 11 आरोपियों की गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। अब तक फरार चल रहे इन डॉक्टर दंपती की गिरफ्तारी बहुत अहम मानी जा रही है, क्योंकि संजय दास पुत्र छोटेलाल दास निवासी फोर्सगंज अररिया बिहार एनेस्थेटिक (बेहोशी की दवा की डोज देने वाला डॉक्टर) है और वह अमित के साथ हर किडनी ट्रांसप्लांट के ऑपरेशन में मौजूद रहता था।

महिलाओं की किडनी निकालने का काम 

आरोप है कि वह महिलाओं की किडनी निकालने में उसकी पत्नी सुषमा पुत्री रतन लाल बड़ी भूमिका निभाती थी। यह सहरसा बिहार से एमबीबीएस की डिग्रीधारी हैं।पुलिस अबतक इन दोनों के बारे में कोई बड़ा सुराग नहीं ढूंढ सकी है। अमित ने भी पकड़े जाने के दौरान संजय दास और उसकी पत्नी के बारे में गोलमोल जवाब देकर पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया था।

पुलिस को बीते दिनों दोनों की लोकेशन पड़ोसी देश नेपाल की राजधानी काठमांडू में मिली थी, लेकिन उसके बाद से दोनों का कोई सुराग पुलिस के हाथ नहीं लग रहा था। लेकिन अब दोनों को नोएडा से गिरफ्तार कर लिया गया है।अक्षय की तलाश की जा रही है। एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि किडनी कांड के फरार आरोपियों की तलाश को हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं।

Leave a Comment