Share
भोलेनाथ के रूप में कांवड़ियों को यातायात नियमों का पाठ पढ़ाया

भोलेनाथ के रूप में कांवड़ियों को यातायात नियमों का पाठ पढ़ाया

हरिद्वार: कांवड़ियों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करने के लिए हरिद्वार की यातायात पुलिस व सीपीयू ने अनूठा तरीका निकाला है। भगवान भोलेनाथ के रूप में कांवड़ियों को यातायात नियमों का पाठ पढ़ाया जा रहा है। खासतौर पर उन्हें हेलमेट के फायदे गिनाए जा रहे हैं। पुलिस का यह तरीका कांवड़ियों को खूब भा रहा है।

कांवड़ मेले में हर साल लाखों बाइकों पर कांवड़िए गंगा जल लेने पहुंचते हैं। इनमें अधिकांश कांवड़ि‍ए बिना हेलमेट बाइक चलाते हैं। जिस कारण दुर्घटना में कई कांवड़ियों को जान से भी हाथ धोना पड़ता है। पुलिस ने कांवड़ मेले में आने वाले शिवभक्तों को जागरूक करने के लिए नए तरीके से मुहिम शुरू की है।

भगवान भोलेनाथ की झांकी के सहारे कांवड़ियों को यातायात व सड़क सुरक्षा के नियम बताए जा रहे हैं। उनसे हेलमेट पहनने की अपील भी की जा रही है। भगवान भोलेनाथ के मुख से हेलमेट के फायदे सुनकर कांवड़िए नियमों का पालन करने का संकल्प ले रहे हैं। साथ ही हरिद्वार पुलिस की इस पहल की भी सराहना कर रहे हैं।  एसएसपी कृष्ण कुमार वीके ने बताया कि सड़क हादसों में ज्यादातर मौत सिर की चोट के कारण होती हैं। कांवड़ मेले में आने वाले शिवभक्तों को यही बात समझाने का प्रयास किया जा रहा है।

कावड़ियों के आने का क्रम हो गया है तेज 

9 अगस्त को महाशिवरात्रि पर शिव जलाभिषेक के लिए हरिद्वार पहुंच रहे कावड़ियों के आने का क्रम तेज हो गया है। आज पंचक का अंतिम दिन है, जिन कांवड़ि‍यों ने पंचायत के कारण अपनी यात्रा शुरू नहीं की थी, वे भी आज दोपहर बाद कांवड उठा लेंगे। पुलिस के अनुसार लगभग 7 लाख कांवड़िया जल लेकर वापसी कर चुके हैं। पंचक समाप्ति के बाद दंडौती और डाक कांवड़ के आने का क्रम शुरू हो जाएगा। बहादराबाद कलियर मार्ग पर भी कांवड़ यात्रा सुचारू है। बीते रात यहां सड़क दुर्घटना में 12 वर्षीय कांवड़िये की मौत के बाद बवाल हो गया था। पुलिस ने किसी तरह मामला शांत कराया था। फिलहाल वहां पुलिस बल तैनात किया गया है।

कांवड़ मेले के लिए तीन दिन पहले ही डायवर्जन लागू

बहादराबाद में बुधवार रात हुए बवाल के बाद एसएसपी ने दिए निर्देश। कांवड़ मेले के लिए पुलिस प्रशासन की तरफ से तय की गई यातायात व्यवस्था के अनुसार दूसरे चरण का डायवर्जन 5 अगस्त से लागू किया जाना था, लेकिन बहादराबाद में बुधवार की रात ट्रक से कुचलकर कांवड़िये की मौत के बाद हुए बवाल को देखते हुए एसएसपी कृष्ण कुमार वीके ने तीन दिन पहले ही दूसरे चरण का डायवर्जन लागू करने के निर्देश दे दिए हैं। जिसके तहत दिल्ली मेरठ की ओर से आने वाले तमाम वाहन बिजनौर होकर हरिद्वार पहुंचेंगे। मुजफ्फरनगर से हरिद्वार आने वाली बसों को पुरकाजी से नारसन तिराहा लखनौता होते हुए मिलिट्री चौक और लक्सर से कनखल लाया जाएगा।

इसी तरह हरियाणा, हिमाचल, पंजाब और सहारनपुर से हरिद्वार आने वाली बसें छुटमलपुर से वाया देहरादून, रायवाला होते हुए मोतीचूर हरिद्वार पहुंचेंगे। देहरादून से नजीबाबाद जाने वाली बसों को रायवाला से मोतीचूर, चंडी चौक से श्यामपुर होते हुए नजीबाबाद के रास्ते भेजा जाएगा। नीलकंठ, ऋषिकेश से हरिद्वार आने वाले सभी वाहन नेपाली फार्म से रायवाला होते हुए मोतीचूर पार्किंग पहुंचेंगे। इसके साथ ही नजीबाबाद से देहरादून जाने वाली बसों को भी श्यामपुर से नीलधारा चीला मार्ग से होते हुए ऋषिकेश की तरफ मोड़ दिया गया है। कृष्ण कुमार वीके ने बताया कि हाईवे पर बड़ी कावड़ की संख्या लगातार बढ़ रही है। जिसको देखते हुए तीन दिन पहले ही दूसरे चरण का रूट डायवर्जन लागू कर दिया गया है।

Leave a Comment