Share
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भूस्खलन से प्रभावित सिल्ला गांव का निरीक्षण किया

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भूस्खलन से प्रभावित सिल्ला गांव का निरीक्षण किया

हिमालयायूके प्रस्‍तुति #मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शनिवार को हाल ही में भूस्खलन से प्रभावित सिल्ला गांव का निरीक्षण किया # राजधानी देहरादून का वो गांव जहां सडक नही है सिल्ला गांव #मुख्यमंत्री ने छात्रा के फोन पर लिया संज्ञान #देहरादून के अन्तर्गत कार्लीगाड सरोना मोटर मार्ग, एल.के.डी मोटर मार्ग, हाथीबड़कला मासी मोटर मार्ग बन्द #

आगामी सोमवार 17 जुलाई को मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत द्वारा पूर्व निर्धारित जनता मिलन कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाएगा। यह जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी श्री जे सी खुल्बे ने बताया है कि राष्ट्रपति चुनाव के कारण जनता मिलन कार्यक्रम को निरस्त कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि सोमवार 17 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव के लिए विधानसभा में प्रातः 10 बजे से सांय 05 बजे तक मतदान किया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री रावत भी इस दिन अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

मुख्यमंत्री ने विद्यालय में अध्यापकों की कमी होने पर छात्रा के फोन पर लिया संज्ञान
राजकीय इण्टर कॉलेज काण्डई-माणखी, विकासखण्ड घाट, जनपद चमोली की छात्रा गायत्री कठैत द्वारा विद्यालय में अध्यापकों की कमी के सम्बन्ध में दूरभाष पर अवगत कराने पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा सचिव शिक्षा को तत्काल मुख्य विषय के अध्यापकों की तैनाती करने हेतु निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने गायत्री कठैत को उनकी इस पहल के लिए धन्यवाद दिया। अपने संदेश में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने गायत्री को भविष्य में भी इस प्रकार के कार्य करने हेतु प्रोत्साहित किया तथा सरकार की ओर से हर संभव सहयोग करने का आश्वासन भी दिया।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से शनिवार को मुख्यमंत्री आवास में अंडर-16 सेंट्रल जोन क्रिकेट के कैप्टन आर्यन शर्मा ने अपने माता-पिता के साथ शिष्टाचार भेंट की। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने क्रिकेटर आर्यन शर्मा को उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन तथा भविष्य के लिए शुभकामनाएं एवं बधाई दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार खिलाड़ियों की सहायता हेतु हर संभव प्रयास कर रही है।

देहरादून 15 जुलाई, 2017

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शनिवार को हाल ही में भूस्खलन से प्रभावित सिल्ला गांव का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने मौके पर सभी नौ प्रभावित परिवारों को प्रति परिवार एक लाख एक हजार नौ सौ रूपये की धनराशि के चैक प्रदान किए। जिलाधिकारी देहरादून को 24 घण्टे के भीतर प्रभावित गांव के पुर्नवास की रिपोर्ट तथा कृषि हानि का आकलन तैयार करने के साथ ही प्रभावितों के विस्थापन की योजना बनाने के निर्देश दिए । मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने जिलाधिकारी समेत सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिए है कि इस प्रभावित क्षेत्र की यातायात सम्पर्क मार्ग तथा कनेक्टिविटी को शीघ््रा से शीघ््रा सुचारू किया जाए। मुख्यमंत्री ने सरखेत में नदी की तटबंध व्यवस्था को दुरूस्त करने के निर्देश दिए ताकि नदी का बहाव ग्रामीण क्षेत्र को हानि न पहुंचा सके। पैदल मार्ग से अधिकारियो ंके साथ सिल्ला गांव पहुंच कर निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने बुर्जुगों, बच्चों, महिलाओं तथा लगभग प्रत्येक ग्रामीण से उनके खाने-पीने, राशन, कपडे़, रहने की व्यवस्था आदि की जानकारी ली। ग्रामीणों ने बताया कि उन्हें फूड पैकेटस समय से उपलब्ध करवा दिए गए है तथा वह लोग फिलहाल अपने सम्बधियो ंके घरों में रह रहे है तथा प्रशासन की ओर से उन्हें सहायता प्राप्त हो रही है। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने उपस्थित लोगो से कहा कि यह अत्यन्त दुख की बात है कि हाल ही की भारी वर्षा तथा भूस्खलन से गांव में पशु तथा भवनों की हानि हुई है परन्तु यह संतोष की बात है कि कोई जन हानि नही हुई है। राज्य सरकार पूरी तरह से पीड़ितों के साथ है तथा प्रभावितों की पूरी मदद करेगी। निरीक्ष्ज्ञण के दौरान मुख्यमंत्री के साथ विधायक श्री गणेश जोशी भी थे।

देहरादून 15 जुलाई, 2017

यह एक चिकित्सीय तथ्य है कि शिशुओं, बालकों एवं किशोरावस्था में भी पेट में कृमि पाये जाने के कारण होने वाली रक्त अल्पता (एनीमिया) तथा अन्य दुर्बलता शिशु स्वास्थ्य के खतरों में से एक है। इस हेतु राष्ट्रीय स्तर पर “एलबेन्डाजोल” दवाई खिलाने का अभियान चलाया जा रहा है। यह अभियान “राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस” के नाम से दिनांक 10 अगस्त 2017 के समस्त राष्ट्र के साथ-साथ राज्य में भी संचालित किया जाना है। इसके अन्तर्गत उत्तराखण्ड राज्य में 01 वर्ष से 19 वर्ष तक के 26.50 लाख बच्चों को एक साथ दवा दी जानी है। इसके सफल संचालन हेतु समस्त सहयोगी विभागों के साथ एक अन्तरविभागीय समन्वय बैठक दिनांक 14.07.2017 को स्वास्थ्य महानिदेशालय के परिचर्चा हाॅल में किया गया, जिसमें स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ, शिक्षा विभाग, पंचायती राज विभाग, जलापूर्ति विभाग, समाज कल्याण, महिला एवं बाल विकास विभाग के उच्चाधिकारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। इस महत्वपूर्ण बैठक में मिशन निदेशक, एन0एच0एम0 ने समस्त प्रतिभागियों से उनके सुझाव तथा पिछले चक्र के अनुभव प्राप्त कर विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि “एलबेण्डाजोल” दवाई की उपलब्धता, सप्लाई, आपूर्ति आदि के अनुपालन हेतु कार्ययोजनावार क्रियान्वयन किया जाय। चूकिं यह अभियान समस्त राज्य में एक साथ एक ही दिन में राज्य के समस्त शिक्षण संस्थाओं में अध्यापकों तथा आंगनबाड़ी केन्द्रों में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के माध्यम से संचालित किया जाना है। अतः अन्तरविभागीय समन्वय जमीनी स्तर तक सुनिष्चित किया जाये। यह भी सुनिश्चित किया जाये कि दवाई को 1-2 वर्ष के शिशुओं में आधी गोली तथा 2 से अधिक उम्र के बच्चों में पूरी एक गोली खिलायी जाये। यह गोली अध्यापकों अथवा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की देखरेख में ही खिलायी जानी है। यह सुनिश्चित किया जाना है कि यह गोली खाली पेट न खिलायी जायें। बच्चों तथा अभिभावकों के साथ-साथ अध्यापकों तथा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को यह अच्छी तरह अभी समझाया जायें कि कुछ बच्चों में दवाई लेने के पश्चात् पेट में दर्द/उल्टी होने की संभावना होती है, जो कि एक सामान्य प्रक्रिया है तथा डरने की आवश्यकता नहीं हैं।

महानिदेशक, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने बैठक में उपस्थित सभी विभागों के अधिकारियों से अनुरोध किया कि वह अपने स्तर से जनपद स्तरीय अधीनस्थ कर्मचारियों एवं अधिकारियों को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के सफल क्रियान्वयन में पूर्ण सहयोग देने हेतु विस्तृत दिशा-निर्देष जारी करें, ताकि जनपद एवं विकासखण्ड स्तर पर समुचित समन्वय स्थापित किया जा सके और अभियान के द्वारा शत्-प्रतिशत बच्चों को एलबेण्डाजोल की गोली दी जा सके।
बैठक में श्रीमती वीम्मी सचदेवा, अपर सचिव, महिला एवं बाल विकास विभाग, श्री मनोज चन्द्रन, अपर सचिव समाज कल्याण विभाग, श्री हरीश चन्द्र सेमवाल, अपर सचिव पंचायती राज,तथा जल संस्थान, षिक्षा विभाग, राश्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं स्वास्थ्य महानिदेशालय के अधिकारीगण उपस्थित थे।

त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा एक बार पुनः , फ्लीट रूकवाकर सड़क दुर्घटना में घायल महिला की मदद की
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा एक बार पुनः मिसाल प्रस्तुत करते हुए, फ्लीट रूकवाकर सड़क दुर्घटना में घायल महिला की मदद की गयी। मुख्यमंत्री शनिवार को भूस्खलन प्रभावित सिल्ला गांव का निरीक्षण करने जा रहे थे। राजपुर रोड पर होटेल मधुबन के सामने एक दुर्घटनाग्रस्त महिला जो सड़क के किनारे बच्चे के साथ परेशानी में दिखायी दी। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र तत्काल अपना काफिला रुकवाकर दुर्घटनाग्रस्त महिला के पास पहुंचे तथा उनका मनोबल बढ़ाया। मुख्यमंत्री ने तुरंत महिला को अस्पताल भिजवाने की व्यवस्था की। प्राप्त सूचना के अनुसार महिला को कोई गम्भीर चोट नहीं आयी है परंतु दुर्घटना के कारण उन्हें तात्कालिक ट्रॉमा पहुँचा था। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने एक बार फिर राज्य वासियों से अपील की है कि प्रत्येक नागरिक को सड़क हादसों में दुर्घटना ग्रस्त व्यक्तियों की सहायता के लिए तुरंत आगे आकर अपना नागरिक कर्तव्य निभाना चाहिए। उन्होंने लोगों से ट्रैफिक नियमों का दृढ़ता से पालन करने का भी अनुरोध किया।

देहरादून 15 जुलाई।
सर्वसमाज द्वारा मुजफ्फरनगर में आयोजित समारोह में विधान सभा अध्यक्ष श्री प्रेम चन्द अग्रवाल जी ने मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया। श्री अग्रवाल ने कार्यक्रम प्रारम्भ होने से पहले उत्तराखण्ड शहीद स्मारक रामपुर तिराहे में पहुंचकर शहीदों को पुष्पांजली अर्पित की। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा कि सामाजिक उत्थान के लिए हम सब लोगों को एक मंच पर आकर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आज समाज में दो वर्ग दिखाई देते हैं एक सक्षम समाज और एक उपेक्षित समाज इसलिए हम सब लोगों का दायित्व है कि जो सक्षम लोग हैं वे वंचित एवं उपेक्षित लोगों को साथ लेकर सामाजिक उत्थान के लिए अपने महत्वपूर्ण योगदान का निर्वहन करें।
दर्पण वैंकट हाल लक्ष्मण विहार में आयोजित सम्मान समारोह के अवसर पर पंजाबी महासभा, वैश्य समाज आदि विभिन्न संस्थाओं द्वारा श्री अग्रवाल को मुकुट एवं कृपाण भंेट कर सम्मानित किया गया। अस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा है कि यह सम्मान उन लोगों का है जिन्होंने जमीनी स्तर से कार्य कर हम लोगों को यह सम्मान दिया है।
कार्यक्रम में विधायक कपिल देव अग्रवाल, उमेश मलिक, जिलाध्यक्ष भाजपा रूपेन्द्र सैनी, सरदार सुखदर्शन सिंह वेदी, वरिष्ठ सदस्य अग्रवाल सभा कृष्ण कुमार तायल, प्रवीन कुमार जैन महामंत्री दिगम्बर जैन मन्दिर, पूर्व विधायक सुरेश संगल, पूर्व सांसद सोहन वीर सिंह, पूर्व विधायक अशोक कंसल, तारा चन्द्र अग्रवाल आदि लोग उपस्थित थे।

देहरादून 15 जुलाई 2017, ई.सी रोड स्थित महिला आई.टी.आई प्रशिक्षण संस्थान (आई.आर.डी.टी आॅडिटोरियम) में वल्ड यूथ स्किल्ड डे के अवसर पर अयोजित उत्तराखण्ड स्किल्ड डेवलपमेंट मिशन कार्यक्रम में मा0 श्रम, सेवायोजन एवं प्रशिक्षण मंत्री उत्तराखण्ड सरकार डाॅ हरक सिंह रावत तथा अपर सचिव/महानिदेशक सूचना डाॅ पंकज कुमार पाण्डेय द्वारा कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए आई.टी.आई में अध्ययनरत् छात्र/छात्राओं द्वारा बनाई गयी नवोन्मेश तकनीक पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन किया गया तथा औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के उत्कृष्ट छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया गया।

इस अवसर पर मा0 कैबिनेट मंत्री डाॅ हरक सिंह रावत ने अपने सम्बोधन में कहा कि वर्तमान वैश्विकरण युग में जब इनोवेशन/नवोन्मेश व तकनीकि का बोलबाला है तब ऐसे समय में सरकारी नौकरी के पीछे भागना समझदारी का काम नही है। उन्होने हिमाचल प्रदेश तथा जम्मू कश्मीर जैसे पर्वतीय राज्यों का उदाहरण देते हुए कहा कि इन राज्यों ने पर्यटन, बागवानी तथा छोटे-छोटे स्किल्ड प्रशिक्षण को अपनाते हुए बड़ी मात्रा में स्वरोजगार को बढाकर राजय की आर्थिकी में बड़ी उन्नति की है तथा हमारे प्रधानमंत्री मा0 नरेन्द्र मोदी की प्रेरणा कि युवाओं को स्किल्ड कार्यक्रम के माध्यम से रोजगार याचक की स्थिति से निकालकर रोजगार प्रदान करने की स्थिति में लाने पर कार्य करना चाहते है। उन्होने कहा कि प्रदेश में रोजगार कार्यालय में वर्तमान में लगभग 9 लाख लोग पंजीकृत है, जो सरकारी नौकरी की आस लगाये बैठे हैं तथा यह भी सर्व विदित है कि सरकारी नौकरी वर्तमान समय में बहुत सीमित है ऐसे में युवा सरकार द्वारा चलाये जा रहे स्किल्ड कार्यक्रम में विभिन्न टेªडों में प्रशिक्षण हासिल करें, जिससे उनको रोजगार मिलने में आसानी होगी।

इस अवसर पर अपर सचिव प्रौद्योगिकि/महानिदेशक सूचना डाॅ पंकज पाण्डे ने कहा कि हमारा लक्ष्य पहाड़ी ़क्षेत्रों के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर तक मल्टीस्किल्ड युवाओं को तैयार करना है ताकि आस-पास के गांव में छोटे-मोटे कार्यों के लिए मैनपावर उपलब्ध हो सके। उन्होने कहा कि जो व्यक्ति नौकरी की तलाश में अक्सर विदेश जाते हैं तो हमारा लक्ष्य ऐसे नागरिकों को भी स्किल्ड करना है, उन्हे साॅफ्ट स्किल / बोलचाल का तरीका तथा फारेन लैंग्वेज सिखाने में भी मदद करेंगे साथ ही देश-विदेश में ऐसे स्किल्ड युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए मल्टीनेशनल तथा राष्ट्रीय कम्पनियों से भी टाईअप भी करेंगे। उन्होने कहा कि वर्तमान में बड़ी डिग्रियों के मुकाबले आई.टी.आई जैसी छोटी डिग्री के माध्यम से रोजगार मिलने की सम्भावना अधिक है साथ ही उन्होने ऐसे युवाओं/युवतियों से आग्रह किया है कि जो किसी कारण से उच्च शिक्षा प्राप्त नही कर पाये तो वे उत्तराखण्ड स्किल्ड डेवलपमैन्ट मिशन के माध्यम से प्रशिक्षण प्राप्त करके स्वरोजगार अथवा बाजार में रोजगार प्राप्त करें।
इस अवसर पर टाईम गु्रप से अमित गंभीर, यस बैंक के वाईस प्रेजीडेन्ट संजय बमराड़ा सहित सम्बन्धित अधिकारी/सदस्य उपस्थित थे।

—0—देहरादून के अन्तर्गत कार्लीगाड सरोना मोटर मार्ग, एल.के.डी मोटर मार्ग, हाथीबड़कला मासी मोटर मार्ग बन्द
देहरादून 15 जुलाई 2017, जिला आपातकालीन परिचालन केन्द्र देहरादून से प्राप्त सूचना के अनुसार लो.नि.वि प्रा0 खण्ड देहरादून के अन्तर्गत कार्लीगाड सरोना मोटर मार्ग, एल.के.डी मोटर मार्ग, हाथीबड़कला मासी मोटर मार्ग बन्द हैं। अस्थाई खण्ड लो.नि.वि चकराता के अन्तर्गत अच्छेड पुल से मटियावा तक मोटर मार्ग, गढोल सकरोल मोटर मार्ग खाडी लिंक मोटर मार्ग, बन्द हैं। अस्थाई खण्ड लो.नि.वि के अनुसार ग्राम गौहरी माफी से रायवाला गा्रम टिहरी फार्म तक, मालदेवता घुत्तु गन्धक पानी मोटर मार्ग, मालदेवता मोटर मार्ग पी.एम.जी.एस.वाई सिंचाई खण्ड देहरादून सहस्त्रधारा चामासारी मोटर मार्ग, मालदेवता सेरकी सिल्ला मोटर मार्ग, फलेत क्यारा मोटर मार्ग अवरूद्ध हैं। मार्ग खोलने का कार्य जे.सी.बी द्वारा गतिमान है।

मामला संज्ञान में आने पर डीएम ने दिये आदेश

हरिद्वार। जिलाधिकारी दीपक रावत ने शहरी विकास विभाग भारत सरकार की फलेगशिप योजनाओं से सम्बंधित समस्त जानकारियों व डाटा संकलन के लिए आयुक्त नगर निगम को नोडल अधिकारी नामित किया है।

जिलाधिकारी ने योजनाओं की पूर्ण सूचना और डाटा समय पर उपलब्ध न किये जाने का मामला संज्ञान में आने पर आयुक्त नगर निगम को निर्देश दिये कि शहरी विभाग भारत सरकार द्वारा संचालित स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना, दीनदयाल अन्त्योदय योजना, राष्ट्रीय शहरी आजिविका मिशन योजनाओं की समस्त सूचनायें एकत्रित कर एक ही स्तर पर उपलब्ध रखी जायें। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि योजनाओं के सम्बंध में मुख्यमंत्री द्वारा समय-समय पर की जाने वाली वीडियो काॅफ्रेंसिंग में उक्त योजनाओं के सम्बंध में सम्पूर्ण डाटा मुख्यमंत्री की वीडियों काॅंफ्रेंसिंग से पूर्व ही उपलब्ध कराया जाये, जिससे बैठक के दौरान समस्त जानकारियों से मुख्यमंत्री को अवगत कराया जा सके।

उन्होंने सम्बंधित विभाग के कार्यालयध्यक्षों को भी निर्देशित किया कि आदेशों के पालन में लापरवाही पाये जाने को गम्भीरता से लिया जायेगा। विलम्ब होने पर सम्बंधित के विरूद्ध तद्नुरूप कार्रवाई की जायेगी।

Leave a Comment