Share
व्रत के दौरान यह सावधानी बरतेंगे तो बने रहेंगे सेहतमंद

व्रत के दौरान यह सावधानी बरतेंगे तो बने रहेंगे सेहतमंद

हमारी संस्कृति में उपवास की विशेष महत्ता रही है। उपवास न केवल हमें अपने आराध्या देव का सामीप्य प्रदान करते है बल्कि स्वयं पर नियंत्रण रखना भी सिखाते हैं। इसके अलावा व्रत से हमारे शरीर के समस्त विकारों का भी नाश होता है। तो आइए आपको नवरात्रि उपवास के दौरान सेहतमंद बने रहने के उपाय बताते हैं।
फल 
व्रत के दौरान फलों का सेवन करना एक अच्छा विकल्प होता है। फल में कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं। इनमें एंटीआक्सीडेंट तत्व के साथ कई तरह के खनिज पदार्थ भी पाए जाते हैं जो व्रत के दौरान आपके शरीर में पाए जाने वाली सभी प्रकार की कमजोरी को दूर करते हैं। फलों को कच्चा खाने के साथ आप उसके व्यजंन भी बना सकते हैं। व्रत में अधिकाधिक फलों का सेवन बेहतर होता है। लेकिन फल हमेशा ताजे ही खाएं।
दूध 
दूध में पाया जाने वाला कैल्शियम आपके शरीर के लिए बेहतर होता है। साथ ही इसमें कैलोरी की मात्रा बहुतायता से पायी जाती है। व्रत के दौरान फलाहार के रूप में दूध एक बेहतर विकल्प होता है। शहद के साथ मलाई रहित दूध उपवास के समय लाभदायी होगा।
दही 
नवरात्रि में व्रत के दौरान दही का भी प्रयोग कर सकते हैं। दही में कैल्सियम, लैक्टोस, फास्फोरस, आयरन, प्रोटान तथा विभिन्न प्रकार के विटामिन्स मौजूद होते हैं। दही में पाए जाने वाले पोषक तत्व आपके शरीर में एंटीबायटिक का काम भी करते हैं। यह शरीर को ठंडा रखने के साथ ताजगी भी प्रदान करता है। दही का प्रयोग रायता और आलू बड़ा के रूप में भी कर सकते हैं।
आलू 
नवरात्रि में अधिकांश व्रत रखने वाले भक्त आलू का सेवन भरपूर मात्रा में करते हैं। आलू में पर्याप्त मात्रा में स्टार्च पाया जाता है जो शरीर में चर्बी को खत्म कर ऊर्जा को बनाए रखता है। उबले हुए आलू शरीर में पर्याप्त कैलोरी को बनाए रखते हैं और मोटापे को कम करते हैं।
साबूदाना 
साबूदाना में कार्बोहाइड्रेड विशेष रूप से पाया जाता है। साथ ही कार्बोहाइड्रेड के अलावा विटामिन सी और कैल्सियम भी मौजूद होता है। यह सुपाच्य होता है इसलिए ऐसे व्यक्ति के लिए जिसका पाचन तंत्र कमजोर है लाभदायी होता है। सफेद रंग के साबूदाने को प्रयोग करने से पहले 3-4 घंटे पानी में भिगो दें। पानी में कुछ घंटे रहने के बाद साबूदाना नरम होता जाता है और इसे पकाना आसान होता है। पकने के बाद यह हल्के रंग का नरम और पारदर्शी हो जाता है। व्रत के दौरान आप साबूदाने की खीर, खिचड़ी या पापड़ बना सकते हैं।
ड्राई फ्रूट्स 
ड्राई फ्रूट्स में किशमिश, काजू, बादाम, पिस्ता, अखरोट और मूंगफली व्रत में लाभदायी होता है। इससे शरीर में ऊर्जा भी बनी रहती है और पोषक तत्व भी मिलते हैं। ड्राई फ्रूट्स की खीर और हलवा बना कर भी सेवन किया जा सकता है। इसके अलावा इन्हें फ्राई करके भी खा सकते हैं।
जूस 
फलों का जूस उपवास में आपके लिए फायदेमंद होगा। यह न केवल आपको ऊर्जा प्रदान करेगा बल्कि आपके शरीर में होने वाली पानी की कमी को भी दूर करेगा।
सेंधा नमक
व्रत के समय सेंधा नमक का इस्तेमाल किया जाता है। यह नमक साधारण नमक की तुलना में अधिक फायदेमंद होता है। इसमें पोटैशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। साथ ही यह सुपाच्य भी होता है।
नवरात्रि में उपवास के दौरान ऊर्जावान बने रहने के लिए पौष्टिक खाएं। अधिक तला-भुना फलाहार खाने से परहेज करें। एक साथ अधिक न खाएं बल्कि 2-3 घंटे के अंतराल में थोड़ा-थोड़ा खाएं। इस तरह आप व्रत में स्वास्थ्य रहेंगे।

Leave a Comment