Share
शराब के डेनिस ब्रांड को लेकर सरकार पर बरसे हरीश रावत

शराब के डेनिस ब्रांड को लेकर सरकार पर बरसे हरीश रावत

देहरादून: पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शराब नीति को लेकर राज्य सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि डेनिस ब्रांड को लेकर पिछली सरकार को घेरने वाली भाजपा की सरकार अब घर-घर में खुद डेनिस की बिक्री कर रही है।

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में पीसीसी की बैठक में भाग लेने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि प्रदेश में शराब और खनन को लेकर भाजपा ने जो गड्ढा खोदा। अब उसमें भाजपा सरकार उसमें खुद जा गिरी है।

उन्होंने कहा कि डेनिस पर कांग्रेस सरकार को बदनाम करने में कसर नहीं छोड़ने वाली भाजपा के राज में अब मिलिट्री कैंटीन से भी डेनिस की बिक्री की जा रही है। सवालिया अंदाज में उन्होंने कहा कि डेनिस पर आरोप लगाने वाले आज उसकी बिक्री को लेकर खुद ज्यादा सक्रिय हैं। खनन में सरकारी क्षेत्र के स्थान पर निजी क्षेत्र को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि खाद्यान्न घोटाले की चर्चा की जा रही है। सरकार इसकी सीबीआइ से जांच करा सकती है। सरकार चाहे तो सीबीआइ का क्षेत्रीय कार्यालय राज्य में ही स्थापित कर सकती है।

उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य में भाजपा की डबल इंजन सरकार अब घरघराने लगी है। उनके चुनाव नहीं लड़ने संबंधी वक्तव्य पर उन्होंने कहा कि पार्टी नेतृत्व जो हुक्म देगा, वह करेंगे। उन्होंने चुनाव नहीं लड़ने की बात कभी नहीं कही। सिर्फ यह कहा था कि अब वह 2009 वाले हरीश रावत नहीं रहे हैं।

हरीश रावत 15 को करेंगे केदार दर्शन

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत 15 अक्टूबर को बाबा केदारनाथ के दर्शन करेंगे। उन्होंने बताया कि वह 14 अक्टूबर को केदारनाथ धाम पहुंचेंगे और 15 की सुबह बाबा केदारनाथ के दर्शन करेंगे। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 अक्टूबर को बाबा केदारनाथ धाम के दर्शनों को पहुंचेंगे। प्रधानमंत्री केदारपुरी में नवनिर्माण कार्यों का शिलान्यास करेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रधानमंत्री के दौरे से ऐन पहले केदारनाथ धाम को दो दिनी दौरा तय किया है।

Leave a Comment