Share
बारिश के दौरान उत्तरकाशी जिले में भूस्खलन से फँसे 40 वाहन

बारिश के दौरान उत्तरकाशी जिले में भूस्खलन से फँसे 40 वाहन

देहरादून: उत्तरकाशी जिले में देर शाम शुरू हुई बारिश के दौरान गंगोत्री हाईवे पर भूस्खलन से मलबा आ गया था। इससे वहां करीब 40 वाहन फंस गए थे। जिसे सुबह करीब छह बजे खोला जा सका। उत्तरकाशी के जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने बताया कि यह स्थान उत्तरकाशी और ऋषिकेश के बीच है। उत्तरकाशी से करीब 25 किलोमीटर दूर नालूपानी नामक स्थान पर लगातार पहाड़ी दरक रही है। वहीं, हरिपुर इच्छाडी रोड पर कोलिया खड्ड के पास सुबह अचानक मलबा आने से एक ट्रक दब गया। हादसे के दौरान ड्राइवर ने  कूदकर अपनी जान बचाई।

मौसम विभाग की चेतावनी के मद्देनजर शासन ने प्रदेश में अलर्र्ट जारी कर दिया है। मौसम विभाग के अनुसार रविवार और सोमवार को कई स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश की आशंका है।

ऐसे में सभी जिलाधिकारियों को सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं और आपदा प्रबंधन से जुड़े विभागों को विशेष एहतियात बरतने को कहा गया है। टिहरी प्रशासन ने देवप्रयाग में संगम तट के आसपास के इलाकों को चिह़नित कर सतर्क किया है।

वहीं उत्तरकाशी में भी नदी किनारे की बस्तियों को सजग रहने को कहा गया है। इस बीच चार धाम यात्रा मार्गों पर चुनौती बरकरार है। बदरीनाथ के निकट लामबगड़ में हाईवे पर बार-बार मलबा आ रहा है। इससे यात्रा बाधित हो रही है। हालात की गंभीरता को देखते हुए जोशीमठ के एसडीएम योगेंद्र सिंह मौके पर ही डटे हुए हैं।

उन्होंने बताया कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। इसके अलावा गंगोत्री और यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर भी मलबा आने का क्रम जारी है। हालांकि यहां यातायात जारी है। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में भी अधिकतर स्थानों पर लाइफलाइन ठप है। करीब तीन दर्जन से ज्यादा सड़कों पर मलबा आने से आवाजाही बाधित है।

चमोली बदरीनाथ हाईवे बार बार हो रहा है बाधित

चमोली जिले में बारिश से हाईवे बार बार बाधित हो रहा है। लामबगड़ में बीती रात मलबा आने से हाईवे अवरुद्ध रहा। एनएच ने प्रात: सवा नौ बजे हाईवे को खोलकर वाहनों की आवाजाही सुचारु कराई। जिले में रात को बारिश का सिलसिला जारी है। बारिश से बदरीनाथ हाईवे पर लामबगड़ में बार बार सड़क अवरुद्ध हो रही है। बीती रात भी बारिश के बाद भारी मात्रा में मलबा लामबगड़ में सड़क पर आ गया। एनएच द्वारा सुबह से मलबा हटाने का काम शुरू कर दिया था। सवा नौ बजे सुबह मलबा हटाकर वाहनों की आवाजाही शुरू कराई गई। बारिश से नंदकेसरी व पोखरी हापला मोटर मार्ग भी दो दिनों से बाधित चल रहे हैं।

चमपवत में चल्थी और सिंयाड़ी के बीच मलबा आने से एन एच हुआ बंद

रात से लगातार हो रही बारिश के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग पर चल्थी और सिंयाड़ी के बीच सुबह 8:30 बजे मलबा आ जाने के कारण एनएच बंद हो गया है। जिससे मार्ग के दोनों ओर आवाजाही करने वाले कई वाहनों की लंबी कतार लग गई। जेसीबी की मदद से मलबे को हटाया जा रहा है। लगातार हो रही यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मलबा आने से लोहाघाट में थ्वामनी-बांस बैसवाड़ी ग्रामीण सड़क भी बंद पड़ी है।

मलबे में दबा ट्रक, चालक ने ऐसे बचाई जान

रविवार सुबह हरिपुर-कोटी-मीनस मार्ग पर तेज बारिश के चलते पहाड़ दरकने लगा। भारी मात्रा में आए मलबे-बोल्डर की चपेट में आने से एक ट्रक उसमें दब गया। ट्रक चालक ने किसी तरह कूदकर अपनी जान बचाई। इस दौरान सड़क पर भारी मात्रा में मलवा आने से वाहनों की आवाज आई प्रभावित रही। थानाध्यक्ष कालसी रितुराज सिंह ने बताया बरसाती मलबे की चपेट में आया लोडर ट्रक खाली था। हादसे में किसी को कोई चोट नहीं आई। बरसाती मलबे से अवरुद्ध हुए मार्ग को खोलने के लिए लोनिवि साहिया के अधिकारियों को सूचना दी गई है।

Leave a Comment