Share
केरल में 76 लोगों की मौत, कर्नाटक-महाराष्ट्र में बुरे हालात

केरल में 76 लोगों की मौत, कर्नाटक-महाराष्ट्र में बुरे हालात

देश के कई राज्यों में बाढ़ से हाहाकार, केरल में 76 लोगों की मौत, कर्नाटक-महाराष्ट्र में बुरे हालात

नई दिल्ली, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल और गुजरात में बाढ़ के हालात गंभीर बने हुए हैं। इन राज्यों में अब तक 200 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है और 10 लाख से अधिक लोग राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं। वहीं रविवार को गृह मंत्री अमित शाह ने कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे किया। जबकि, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केरल में बाढ़ से बिगड़े हालात का जायजा लिया।

महाराष्ट्र: बाढ़ प्रभावित कोल्हापुर में जल स्तर घट रहा है। कोल्हापुर-सांगली फाटा में भारी वाहनों और एसयूवी के लिए बाढ़ प्रभावित राष्ट्रीय राजमार्ग (NH) 4 को भी फिर से खोल दिया गया है।

View image on TwitterView image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter 

पूर्व पीएम और जेडी(एस) नेता एचडी देवगौड़ा ने कर्नाटक में बाढ़ की स्थिति को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है और उनसे अनुरोध किया है कि वे राष्ट्रीय आपदा के रूप में प्राकृतिक आपदा को सूचित करें और अंतरिम राहत के रूप में 5000 करोड़ रुपये जारी करें।

कर्नाटक के बेलगाम में बाढ़ प्रभावित रायबाग तालुक में एक घर की छत पर मगरमच्छ आ गया। 

Embedded video

कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज केरल में अपने संसदीय लोकसभा क्षेत्र वायनाड में लोगों से मिले। इस दौरान राहुल गांधी ने राहत सामग्री वितरित किए हैं।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा आज मंगलुरु में बारिश और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने के लिए पहुंचे।

उत्तराखंड में अगले 24 घंटों में भारी बारिश
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग(IMD) ने उत्तराखंड में भारी बारिश को लेकर अनुमान जारी किया है। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटों में देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, चमोली, रुद्रप्रयाग और पिथौरागढ़ जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है। चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर, पिथौरागढ़, देहरादून, नैनीताल और पौड़ी जिलों में 13, 14, 15 और 16 अगस्त को अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश की संभावना जताई है।

केरल में बाढ़ से 76 लोगों की मौत
केरल में 8 से 12 अगस्त के बीच बाढ़ की वजह से 76 लोगों की मौत हो गई है, वहीं 58 लोग लापता हैं। इसके अलावा 32 लोग घायल हुए हैं। कर्नाटक में बाढ़ के कारण 1 अगस्त 2019 के बाद से अबतक 40 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और 14 लोग लापता हैं। वहीं 5,81,702 लोगों को निकाला गया, 17 जिले और 2028 गांवों में राहत शिविरों बनाए गए हैं।

पानसेमल में लोग, बड़वानी में रस्सियों का उपयोग करके नदी पार कर रहे हैं। 

Embedded video 

कर्नाटक में नौसेना एयर स्टेशन गोवा ने INS हंसा बाढ़ प्रभावित बेलागवी जिले में हवाई बचाव और राहत अभियान चला रही है। आईएनएस हंसा के नौसेना हेलीकॉप्टरों ने 26 फंसे हुए लोगों को राहत शिविरों तक पहुंचाया। कर्नाटक राज्य प्राकृतिक आपदा निगरानी केंद्र के अनुसार, बेलागवी जिले में अगले 5 दिनों तक मध्यम बारिश के साथ काफी व्यापक प्रसार होने की संभावना है।

गुजरात के मोरबी में रेस्क्यू ऑपरेशन
गुजरात के मोरबी जिले में सुरक्षाकर्मियों ने एक स्कूल में फंसे 17 बच्चों समेत 42 लोगों को सुरक्षित निकाला।गुजरात के मोरबी जिले के कल्याणपुर गांव में 17 बच्चों समेत 42 लोगों को पुलिसकर्मियों ने स्थानीय लोगों की मदद से सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। सिपाही पृथ्वीराज सिंह जडेजा ने तो दो बच्चों को अपने कंधे पर बिठाकर बाढ़ के पानी से पार निकालना। पृथ्वीराज सिंह जडेजा की हर तरफ सराहना हो रही है। वीडियो वायरल होने पर मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने भी उन्हें फोन किया और उनकी सराहना की।सिपाही पृथ्वीराज सिंह जडेजा ने इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि स्थिति ऐसी थी कि सोचने का समय नहीं था। लोगों को किसी भी कीमत पर बचाया जाना था। इसलिए मैंने दोनों बच्चों को अपने कंधों पर बिठाया।

कर्नाटक में बाढ़ से बिगड़े हालात
गृह मंत्री अमित शाह ने कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वे किया। मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा भी उनके साथ थे। राज्य के बेलगावी, बगलकोट, विजयपुरा, गडग, उत्तर कन्नड, रायचुर, यादगिर, दक्षिण कन्नड, उडुपी, चिकमगलुर व कोडागु जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं।

महाराष्ट्र में 10 जिले प्रभावित
महाराष्ट्र में कोल्हापुर, सांगली, सतारा, ठाणे, पुणे, नासिक, पालघर, रत्नागिरी, रायगढ़ और सिंधूदुर्ग जिले पिछले एक हफ्ते से जारी भारी बारिश के चलते बाढ़ से जूझ रहे हैं। यहां मरने वालों की संख्या 30 से अधिक पहुंच गई। चार लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित पहुंचाया गया है।

राहुल गांधी बाढ़ पीड़ितों से मिले
बाढ़ का जायजा लेने कांग्रेस नेता राहुल गांधी केरल पहुंचे। उनका संसदीय क्षेत्र वायनाडु सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है। उन्होंने राहत शिविरों में वायनाड के बाढ़ प्रभावितों का हाल जाना। वह कवलप्पारा भी गए।

Leave a Comment