Share
केस दर्ज कराने के नाम पर महिला से 9.21 लाख रुपये की ठगी

केस दर्ज कराने के नाम पर महिला से 9.21 लाख रुपये की ठगी

देहरादून: नैनीताल हाईकोर्ट में केस दर्ज कराने के नाम पर मिलिट्री हास्पिटल कैंट में कार्यरत महिला से 9.21 लाख रुपये की ठगी कर ली गई। मामले में कैंट पुलिस ने आरोपित के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस के मुताबिक, बबीता क्षेत्री पत्नी राजू निवासी अनारवाला का जमीन के संबंध में एक मुकदमा विकासनगर कोर्ट में विचाराधीन है। विकासनगर कोर्ट में मुकदमे की पैरवी के लिए आते-जाते समय बबीता की मुकेश अग्रवाल निवासी आवास विकास कॉलोनी, सहारनपुर से मुलाकात हुई। बबीता ने केस के संबंध में उसे बताया तो मुकेश ने कहा कि यदि उनका विपक्षी परेशान कर रहा है तो वह उस पर मानहानि का केस हाईकोर्ट में करा सकता है। बबीता उसकी बातों में आ गईं।

इसके बाद जुलाई 2016 से लेकर जुलाई 2017 के बीच वह बबीता के साथ कई बार हाईकोर्ट गया। यहां वह बबीता को कोर्ट के बाहर ही इंतजार करने को कहकर अंदर चला जाता। बबीता का आरोप है कि इस दौरान मुकेश ने केस कराने के नाम पर उसे लगभग 9.21 लाख रुपये ले लिए।

केस न होने पर जब वह पैसे वापस मांगने लगीं तो आरोपित आनाकानी करने लगा। कैंट इंस्पेक्टर एसएस बिष्ट ने बताया कि बबीता मिलिट्री हास्पिटल में सेवारत हैं। इस मामले की जांच चौकी प्रभारी सर्किट हाउस पंकज कुमार को सौंपी गई है। मुकेश के मोबाइल नंबर की कॉल डिटेल निकलवाने के साथ उसके मूल पते का वेरिफिकेशन भी कराया जा रहा है।

धोखाधड़ी का आरोपित गिरफ्तार

प्रेमनगर पुलिस ने धोखाधड़ी के मामले में सात महीने से फरार चल रहे आरोपित को हिमाचल प्रदेश से गिरफ्तार कर लिया गया। एसओ मुकेश त्यागी ने बताया कि पांच अगस्त 2017 को वीरेंद्र सिंह नेगी निवासी प्रेमनगर का एटीएम बदलकर एक शख्स ने 51 हजार रुपये हड़प लिए थे। मामले में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। जांच के दौरान धोखाधड़ी में हरिकांत यादव पुत्र भरत यादव निवासी हैदरपुर थाना पंडोल, जनपद मधुबन, बिहार का नाम प्रकाश में आया। आरोपित को बुधवार की रात बहराल, हिमाचल प्रदेश से गिरफ्तार कर लिया गया। गुरुवार को उसे कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

Leave a Comment