Share

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई पांच मैचों की एशेज सीरीज,गेंदबाज ने अपनी टेस्ट करियर की पहली गेंद फेंकी और विकेट मिल गया

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई पांच मैचों की एशेज सीरीज में एक ऐसा वाकया भी देखने को मिला जब एक गेंदबाज ने अपनी टेस्ट करियर की पहली गेंद फेंकी और विकेट मिल गया। हालांकि, थर्ड अंपायर के कॉल के बाद मैदानी अंपायरों को फैसला बदलना पड़ा, क्योंकि गेंद ओवर स्टेपिंग की वजह से नो बॉल थी।

एशेज 2019 का नतीजा ड्रॉ रहा क्योंकि, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया ने 2-2 मैच जीते। वहीं, एक मैच इस एशेज सीरीज का बेनतीजा रहा। सीरीज के आखिरी मैच की आखिरी पारी के चौथे दिन इंग्लैंड के मीडियम पेस गेंदबाज क्रिस वोक्स ने अपने टेस्ट करियर की पहली नो बॉल फेंकी। क्रिस वोक्स के टेस्ट क्रिकेट के करियर में ऐसा पहली बार था जब उनका पैर लाइन से आगे था।

ऑस्ट्रेलिया की पारी के 31वें ओवर की ये दूसरी गेंद थी। क्रिस वोक्स के सामने मिचेल मार्श थे जो ठीकठाक बल्लेबाजी कर रहे थे। मिचेल मार्श ने इस ओवर की दूसरी गेंद को खेलना चाहा, लेकिन वे आउट हो गए। उधर, क्रिस वोक्स ने विकेट मिलने की खुशी जाहिर कर दी। बल्लेबाज मिचेल मार्श भी पवेलियन की ओर जा रहे थे, लेकिन फील्ड अंपायर ने उन्हें रोक लिया। 

5200 गेंद फेंकने के बाद फेंकी नो बॉल

फील्ड अंपायर को पहले से ही अंदेशा था कि क्रिस वोक्स का पैर क्रीज से आगे निकला है यानी ओवर स्टेपिंग हुआ है। ऐसे में फील्ड अंपायर ने थर्ड अंपायर से गेंद को चेक कराया तो उनका पैर वाकई में आगे था। इस तरह मिचले मार्श को नॉट आउट करार दिया गया। बता दें कि क्रिस वोक्स ने अपने टेस्ट करियर की 5200 गेंद यानी करीब 867 ओवरों के बाद कोई नो बॉल फेंकी थी।

30 वर्षीय बोलिंग ऑलराउंडर क्रिस वोक्स ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस मैच की पहली पारी में सिर्फ एक विकेट झटका, जिसमें उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई टीम के सबसे दमदार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को आउट किया जो इस सीरीज में 700 से ज्यादा रन बना चुके थे। क्रिस वोक्स ने स्टीव स्मिथ को LBW आउट किया था।

Leave a Comment