Share
गढ़ी कैंट स्थित महिंद्रा ग्राउंड में दो दिवसीय सेना मेला का हुआ आयोजन, जवानों ने दिखाए हैरतअंगेज करतब

गढ़ी कैंट स्थित महिंद्रा ग्राउंड में दो दिवसीय सेना मेला का हुआ आयोजन, जवानों ने दिखाए हैरतअंगेज करतब

देहरादून। सेना व आमजन के बीच एक तरह का फासला रहा है। इसी दूरी को पाटने के लिए सेना ‘अपनी सेना को जानिए’ के माध्यम से लोगों के बीच पहुंची है। गढ़ी कैंट स्थित महिंद्रा ग्राउंड (शहीद जसवंत सिंह मैदान) पर दो दिवसीय सेना मेला का आयोजन किया जा रहा है।

शुक्रवार को उत्तराखंड सब एरिया के जीओसी मेजर जनरल भाष्कर कलिता ने इसका शुभारंभ किया। सेना के युद्ध कौशल, अस्त्र-शस्त्र और जीवनशैली को दूनवासियों ने करीब से जाना। सेना मेले की शुरुआत मुख्य अतिथि ने आसमान में गुब्बारे छोड़कर की। इसके बाद जवानों ने दर्शकों को सेना और आतंकियों के मुठभेड़ किस तरह से होती है, इसका डेमो दिखाया।

बेनेट फाइटिंग, घातक कमांडो, सैन्य बैंड, स्कूली बच्चों द्वारा देशभक्ति गीत, जवानों के हैरतअंगेज करतब, देशभक्ति फिल्म आदि ने माहौल में जोश से भर दिया। इसके अलावा अत्याधुनिक सैन्य उपकरण, हथियार व संचार प्रणाली के विषय में जानकारी प्राप्त कर लोग रोमांच से भर उठे।

मेजर जनरल कलिता ने कहा कि यह मेला आगंतुकों में सेना के प्रति जागरूकता लाने के साथ ही सेना को करीब से जानने का बेहतरीन मंच है। पहले दिन सेना मेला में स्कूली बच्चे समेत करीब पाच हजार दर्शक पहुंचे। शनिवार शाम को मेले का समापन होगा। इस अवसर पर 14 रैपिड के जीओसी मेजर जनरल आतिश चहर, उत्तराखंड सब एरिया के डिप्टी जीओसी ब्रिगेडियर एचएस जग्गी, बिग्रेडियर एसके दत्ता आदि सैन्य अफसर मौजूद रहे।

मुठभेड़ का डेमो देख सब उत्साहित 

आतंकी मुठभेड़ का डोमो देख बच्चे सबसे ज्यादा उत्साहित नजर आए। इस दौरान पूरा मैदान तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। बताया गया कि डाकरा बाजार में चार आतंकियों ने सेना की पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला कर दिया है। सैन्य टुकड़ी ने दो आतंकियों को मार गिराया, जबकि दो अनारवाला की तरफ भाग गए। वहां उन्होंने एक घर में शरण ली और कुछ लोगों को बंधक बना लिया। दिखाया गया कि किस तरह सेना ने लोगों को रेस्क्यू कर आतंकियों को मार गिराया।

सेना भर्ती अभी लंबा इंतजार 

सेना मेला में युवाओं में सैन्य वर्दी की ललक खूब दिखी। फौज में कॅरियर बनाने के इच्छुक युवा इस बावत जानकारी लेते रहे। इस दौरान सेना भर्ती की जानकारी लेने पहुंचे युवाओं को मायूसी हाथ लगी। बताया गया कि सेना भर्ती अप्रैल में प्रस्तावित थी। पर आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए पुलिस फोर्स नहीं मिल रही है। ऐसे में सेना भर्ती की तिथि निर्धारित करने में थोड़ा वक्त लगेगा। भर्ती की जानकारी समाचार पत्रों के माध्यम से युवाओं तक पहुंचा दी जाएगी।

बीरपुर पुल टूटने से बच्चे परेशान 

सेना मेला में आर्मी पब्लिक स्कूल बीरपुर के द्वारा एक स्टॉल लगाया गया था। जहा बच्चों द्वारा बनाई गई पेटिंग सहित अन्य वस्तुएं लगाई गई थीं। बताया गया कि बीरपुर पुल टूटने की वजह से बच्चों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। स्कूल की छुट्टी पहले 15 जनवरी तक निर्धारित थी। पर अब 28 जनवरी तक छुट्टी कर दी गई है। इधर, केंद्रीय विद्यालय बीरपुर खुल गया है। जहा स्कूल बच्चों को वैकल्पिक मार्ग गल्जवाड़ी-बाणगंगा होकर जाना पड़ रहा है।

Leave a Comment