Share
आधी रात को नींद खुली तो उड़ गए ग्रामीण के होश

आधी रात को नींद खुली तो उड़ गए ग्रामीण के होश

हरिद्वार: आधी रात को नींद से ग्रामीण उठा तो सामने विशालकाय मगरमच्छ देख उसके होश उड़ गए। घटना की सूचना के दस घंटे बाद ही वन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर उसे पकड़ा और नदी में छोड़ दिया।

मामला अलावलपुर गांव का है। लक्सर कोतवाली क्षेत्र के अलावलपुर गांव निवासी नरेंद्र पुत्र करता राम के घर में आधी रात के करीब एक विशालकाय मगरमच्छ घर में घुस आया। बताया जाता है कि इसी बीच आधी रात के लगभग मकान स्वामी नरेंद्र लघुशंका के लिए उठा। तभी चारपाई के पास पड़े विशालकाय मगरमच्छ उनकी नजर पड़ी।

इसे देख किसी तरह भागकर उसने जान बचाई। शोर शराबा सुनकर घर में सो रहे अन्य लोग व आस पड़ोस के ग्रामीण भी मौके पर आ गए। मौके पर ग्रामीणों ने डंडों से मगरमच्छ को खदेड़ने की कोशिश की।

इस पर वह भागने के बजाय ग्रामीणों की तरफ झपट पड़ा। बताया जाता है कि इस बीच मगरमच्छ ने घर के एक पालतू कुत्ते पर भी हमला बोल दिया। इसमें कुत्ता बाल बाल बच गया। इसके बीच नरेंद्र ने इसकी जानकारी वन विभाग के अधिकारियों को दी।

ग्रामीणों के मुताबिक पूरी रात्रि मगरमच्छ उनके घर में ही घुसा रहा,  लेकिन वन विभाग के किसी भी अधिकारी ने रात में पहुंचकर मगरमच्छ को काबू करने की जहमत नहीं उठाई। इसके चलते ग्रामीण रातभर खौफ के साए में रहे।

मंगलवार सुबह वन विभाग की टीम गांव पहुंच कर ग्रामीणों के साथ घंटो कड़ी मशक्कत कर मगरमच्छ पर काबू पाया। बाद में उसे सुरक्षित जलक्षेत्र गंगा नदी में छोड़ दिया। वन क्षेत्राधिकारी दिगंबर भारती का कहना है कि विभाग के कर्मचारी की मौत होने के कारण विभाग के सभी अधिकारी व कर्मचारी उसके अंतिम संस्कार के लिए उसके घर पर गए थे। इसकी वजह से टीम को गांव में पहुंचने में समय लगा है।

Leave a Comment