Share
तीन सदी बीतने के बाद भी झंडा मेले का पारंपरिक स्वरूप बरकरार

तीन सदी बीतने के बाद भी झंडा मेले का पारंपरिक स्वरूप बरकरार

देहरादून : झंडा मेले की मूल परंपराएं आज भी वैसी ही हैं, जैसी वर्ष 1676 में थीं। तीन सदी बीतने के बाद भी झंडा मेले का पारंपरिक स्वरूप बरकरार है। सूचना क्रांति के युग में मेले की सूचना संगत को देने के लिए चिट्ठी भेजी जाती हैं। पंजाब की पैदल संगत को आमंत्रित करने के लिए दरबार साहिब से प्रतिनिधि बिहलौलपुर के महंत वियंत दास के नाम हुक्मनामा लेकर बड़ा गांव जाता है।

श्री झंडा मेला प्रबंध समिति के व्यवस्थापक केसी जुयाल ने बताया कि दरबार साहिब में पांच हजार से भी ज्यादा लोगों के घर के पते दर्ज हैं। इनमें अधिकांश गांव के मुखिया हैं। मुखिया के पास चिट्ठी पहुंचती है तो वह पूरे गांव में इसकी सूचना देते हैं। इसके अलावा पहले भी लकड़ी की कैंची के माध्यम से झंडेजी का आरोहण होता था, ऐसा अब भी होता है और आगे भी होता रहेगा।

वैसे, देश भर से आने वाली संगतों को पहले से ही होली के पांचवें दिन का बेसब्री से इंतजार रहता है, मगर परंपरा का निर्वहन करते हुए आज भी संगतों को चिट्ठी से ही सूचना भेजी जाती है।

पुलिस की लापरवाही से लोगों को उठानी पड़ी परेशानी 

पुलिस की लापरवाही के कारण सहारनपुर रोड पर लोगों को मंगलवार को सुबह से लेकर शाम तक फजीहत झेलनी पड़ी। संगतों की भीड़ उमड़ने के बाद भी पुलिस ने सहारनपुर रोड पर यातायात को डायवर्ट नहीं, जिसका खामियाजा घंटों जाम के रूप में भुगतना पड़ा।

मंगलवार को दून में झंडे जी के आरोहण का कार्यक्रम था। जिसके लिए दो दिन पहले से ही विभिन्न राज्यों से हजारों की संगते दून पहुंच गई थी। संगतों की भीड़ की आशंका पुलिस को भी थी। बावजूद इसके भी पुलिस ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया और सहारनपुर रोड पर यातायात को भगवान भरोसे छोड़ दिया। कारण लोग सुबह से लेकर शाम पर इस रोड पर घंटों जाम से जूझते रहे।

नगर परिक्रमा शोभायात्रा के लिए डायवर्ट रहेगा रूट 

गुरुवार को शहर में श्री झंडा मेला नगर परिक्रमा शोभायात्र निकाली जाएगी। जिसके लिए शहर में यातायात को डायवर्ट किया जाएगा। पुलिस ने लोगों से यातायात प्लान देखकर ही सड़क पर उतरने की अपील की है।

यह रहेगा प्लान

-सहारनपुर चौक से झंडा साहिब की ओर कोई भी वाहन नहीं जाएगा।

– दरबार साहिब से शोभायात्रा प्रारंभ होने पर बल्लीवाला से आने वाले वाहनों को लक्ष्मण चौक पुलिस चौकी की ओर न भेजकर मालवीय रोड होते हुए पंजाब भूसा कट से सहारनपुर चौक की ओर भेजा जाएगा।

– शोभायात्रा का पिछला हिस्सा पुरुषोत्तम चौक से एसजीआरआर की ओर पूर्ण रूप से जाने पर डायवर्ट यातायात को सामान्य कर दिया जाएगा।

– शोभायात्रा के तिलक रोड से चकराता रोड में प्रवेश करने पर शनि मंदिर तिराहा बिंदाल, बिंदाल चौकी तिराहा एवं बिंदाल पुल से संपूर्ण वाहनों को कैंट एवं बल्लुपुर की ओर डायवर्ट किया जाएगा। कोई भी वाहन घंटाघर की ओर नहीं आएगा।

– शोभायात्रा का अगला हिस्सा घंटाघर पहुंचने से पहले यूकेलिप्टस चौक, ओरियंट चौक व दर्शनलाल चौक से संपूर्ण वाहनों को डायवर्ट कर घंटाघर की ओर नहीं आने दिया जाएगा। इस दौरान कनक चौक से ओरियंट चौक की ओर कोई भी वाहन नहीं जाएगा।

– शोभायात्रा का पिछला हिस्सा पलटन बाजार में प्रवेश करने पर सभी डायवर्ट स्थानों से यातायात को सामान्य कर दिया जाएगा।

– शोभायात्रा लक्खीबाग कट में प्रवेश होने पर यातायात को रोक-रोक कर चलाया जाएगा व साथ में नगर परिक्रमा को धीरे-धीरे से निकाला जाएगा।

– शोभायात्रा का पिछला हिस्सा गऊघाट कट पास होने पर रेलवे गेट से आने वाले वाहनों को गऊघाट होते हुए भंडारी बाग की ओर भेजा जाएगा।

– शोभायात्रा के सहारनपुर चौक की ओर जाने पर पंजाब भूसा कट , निरंजनपुर मंडी एवं लालपुल से संपूर्ण वाहनों को डायवर्ट किया जाएगा।

Leave a Comment