Share
राज बब्बर और नवजोत सिंह सिद्धू के ऐसे बयान के बाद कांग्रेस को करना पड़ सकता है मुश्किलों का सामना

राज बब्बर और नवजोत सिंह सिद्धू के ऐसे बयान के बाद कांग्रेस को करना पड़ सकता है मुश्किलों का सामना

नई दिल्ली। पांच राज्यों चल रहे चुनाव में नेता एक दूसरे पर जमकर आरोप-प्रत्यारोप लगाए जा रहे हैं। कई नेताओं ने इस दौरान विवादित बयान भी दिए हैं। वरिष्ठ कांग्रेस नेता राज बब्बर ने भी गुरुवार को अपनी एक चुनावी सभा के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी की मां को लेकर विवादित बयान दिया है।

इंदौर में एक रैली के दौरान राज बब्बर ने कहा कि जब वो (पीएम मोदी) कहते थे कि डॉलर के सामने रुपया इतना गिर गया कि उस वक्त के पीएम की उमर बता कर के कहते थे कि उनकी उम्र के करीब जा रहा रहा है। आज रुपया आपकी पूज्यनीय माताजी की उमर के करीब नीचे गिरना शुरू हो गया है। राज बब्बर के इस बयान के बाद कांग्रेस को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

राजबब्बर के बयान पर भाजपा ने कड़ी आपत्ति जताई है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा कि इस तरह की टिप्पणियां कर कांग्रेस अपने स्तर से नीचे गिर रही है, राजनीति में गरिमा बनाए रखनी चाहिए, मैं इसकी निंदा करता हूं। रुपये और डॉलर के अंतर को मोदी जी की मां की उम्र के साथ तुलना करना राज बब्बर की मानसिकता दर्शाता है। उन्हें इसके लिए माफी मांगनी चाहिए।

राजबब्बर के बाद सिद्धू ने दिया विवादास्पद बयान
भोपाल में एक जनसभा के दौरान नवजोत सिंह सिद्धू ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निजी हमला और विवादास्पद बयान दिया है। सिद्धू ने कहा है कि ‘मोदी लहर अब मोदी जहर बन गई है।’ पीएम पर निजी हमला करने के बाद सिद्धू भाजपा नेताओं के निशाने पर आ सकते हैं। कांग्रेस नेता नेता ने कहा कि जो विश्वास था मोदी साहब पर वह चकनाचूर हो गया है। जो लहर थी 2014 की वह आम आदमी पर कहर और जहर बन गई है। मोदी साहब बड़े-बड़े पूंजीपतियों के लिए सिर्फ कठपुतली बनकर रह गए हैं।

राज बब्बर ने नक्सलियों को बताया था क्रांतिकारी
इससे पहले छत्तीसगढ़ चुनाव के दौरान भी राज बब्बर ने नक्सलियों को लेकर विवादित बयान देते हुए कहा था कि वो क्रांति के लिए निकले हैं। उन्होंने तब कहा था कि गोलियों से फैसले नहीं होते, उनके सवालों को सुनना पडेगा। उनको डराकर या लालच देकर क्रांति के लिए जो लोग निकले हुए है उन्हें रोक नहीं सकते हैं।

हालांकि इसे अपनी राय बताते हुए राज बब्बर ने कहा था कि ये मेरी राय है और मेरी पार्टी को मैं अपनी राय दे चुका हूं। ना इधर की बंदूक से हल निकलेगा ना उधर की, बातचीत से हल निकलेगा। यह मेरी राय है और मैंने अपनी पार्टी को भी इस बारे में बताया है। ना इधर की बंदूक से हल निकलेगा, ना उधर की बंदूक से हल निकलेगा, हल बातचीत से ही निकलेगा।

सियासी घमासान के बीच कांग्रेस के नेता भूल जाते हैं अपनी मर्यादा 

2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों की तैयारियां शुरू हो गई है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कांग्रेसी नेताओं की ओर से व्यक्तिगत हमले किए जा रहे हैं। सियासी घमासान के बीच कांग्रेस के नेता अपनी मर्यादा भूल जाते हैं। कांग्रेस नेताओं की तरफ लगातार पीएम मोदी को लेकर अमर्यादित भाषा का प्रयोग किया जा रहा है। कहीं ऐसा ना हो 2019 में सत्ता का सपना देख रही कांग्रेस को उसी के नेताओं की अमर्यादित बयानबाजी ले डूबे।

संजय निरुपम ने कहा था अनपढ़ गंवार

दरअसल सितंबर 2018 में कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने भी राजनीतिक भाषा के स्तर को गिराते हुए पीएम मोदी पर अभद्र टिप्पणी कर डाली थी। उन्होंने पीएम मोदी को अनपढ़ और गंवार तक बता दिया। दरअसल, निरुपम महाराष्ट्र सरकार के उस फैसले का विरोध कर रहे हैं जिसमें राज्य के स्कूल में प्रधानमंत्री पर बनी फिल्म दिखाने की बात कही गई है। संजय निरुपम ने कहा ‘जो बच्चे स्कूल-कॉलेज में पढ़ रहे हैं उनको मोदी जैसे अपनढ़ गंवार के बारे में जानकर क्या मिलने वाला है। पीएम मोदी से स्कूल के बच्चे कुछ नहीं सीख सकते हैं।’

…जब मणिशंकर ने कहा था ‘नीच’ 
हालांकि विवादित बयानबाजी का ये पहला मौका नहीं है। इससे पहले भी कांग्रेसी नेताओं की तरफ से विवादित बयान दिए जाने के कई मामले सामने आ चुके हैं। कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने पिछले साल गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान पीएम को ‘नीच’ कहा था। अय्यर के इस बयान को लेकर चौतरफा आलोचना भी हुई थी।

मणिशंकर अय्यर के अन्य विवादित बयान

– 2017 में मणिशंकर ने कहा कि पीएम मोदी नीच किस्म के हैं। अय्यर का बयान सामने आने के कुछ ही देर बाद सियासी घमासान शुरू हो गया था।
– 2017 में मणिशंकर अय्यर ने कहा कि हथियार उठाकर गलत नहीं करते कश्मीरी युवक, भाजपा के लोग उन्हें मजबूर करते हैं।
– 2015 में अय्यर ने कहा था कि भारत और पाकिस्तान के रिश्तों को मजबूत करने के लिए मोदी को हटाना होगा, नहीं तो वार्ता आगे नहीं बढ़ेगी।
– 2014 मेंं अय्यर ने कहा कि मैं आपसे वादा करता हूं कि 21वीं सदी में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री कभी नहीं बन पाएंगे, लेकिन अगर वो यहां आकर चाय बेचना चाहते हैं, तो हम उन्हें इसके लिए जगह दिला सकते हैं।
– मार्च 2013 को जब नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पार्टी को ‘दीमक’ बुलाया तो अय्यर ने कहा, मोदी ने हमें दीमक बुलाया है, तो मैं तो कहता हूं कि वो एक सांप हैं, बिच्छू हैं।
– दिसंबर 2013 में अय्यर ने नरेंद्र मोदी को ‘जोकर’ बताया और कहा, चार-पांच भाषण देकर उन्होंने बता दिया है कि कितने गंदे-गंदे शब्द उनके मुंह में हैं।

 

Leave a Comment