Share
संपत्ति विवाद को लेकर बेटी सारा अली खान संग क्लेमेनटाउन थाने पहुंची अभिनेत्री अमृता सिंह

संपत्ति विवाद को लेकर बेटी सारा अली खान संग क्लेमेनटाउन थाने पहुंची अभिनेत्री अमृता सिंह

देहरादून। संपत्ति विवाद को लेकर जानी-मानी अभिनेत्री अमृता सिंह, बेटी सारा अली खान के साथ शनिवार देर शाम क्लेमेनटाउन थाने पहुंची। जिस संपति के संबंध में पहुंची थी वह उनके मामा मधूसूदन विम्बेट की बताई जा रही है। मामा का लंबी बीमारी के बाद शनिवार को देहांत हो गया था। इस संपति में हिस्सेदारी को लेकर दिवंगत मधुसूदन और उनकी बहनों के बीच विवाद भी चल रहा है। हालांकि, इस बारे में अमृता सिंह कुछ नहीं बोलीं, लेकिन पुलिस का कहना है कि वह यह आग्रह करने आईं थीं कि वह मुंबई लौट रही हैं, लेकिन पुलिस इस बीच यह ध्यान रखे कि उनके मामा की संपति पर कोई कब्जा न कर ले।

पुलिस ने सिविल का मामला बताते हुए फिलहाल कोई कार्रवाई नहीं की है। अलबत्ता, दिवंगत मामा की देखभाल करने वाले शख्स ने थाने में तहरीर देकर पुलिस से मकान की चाबी रखने की गुहार की है। इधर, पुलिस ने यह कहते हुए किसी तरह की कार्रवाई करने से मना कर दिया कि मामला सिविल का है, लिहाजा वह कोर्ट में अपनी बात रखें। अमृता सिंह से जब मामले पर बात करने का प्रयास किया गया तो वह बिना जवाब दिए थाने से चली गईं।

क्लेमनटाउन थाने के प्रभारी धर्मेंद्र रौतेला के अनुसार पता चला है कि मधूसूदन विम्बेट की दो बहनें ताहिरा और रुखसाना सुल्ताना हैं। अमृता सिंह रुखसाना की बेटी हैं। मधूसूदन अविवाहित थे और इधर काफी समय से बीमार चल रहे थे और कई दिनों से जौलीग्रांट स्थित हिमालयन हास्पिटल में भर्ती थे। शनिवार की भोर में उनका देहांत हो गया। मधूसूदन के पारिवारिक मित्रों ने अमृता सिंह को उनके निधन की सूचना दी।

इस पर दोपहर में वह अपनी बेटी सारा अली खान के साथ देहरादून पहुंची। यहां उन्होंने चंद्रबनी में मामा के पार्थिव देह का अंतिम संस्कार किया। यहां से निकल कर सीधे वह क्लेमेनटाउन स्थित मामा के घर पहुंची। वहां कुछ देर रहने के बाद वह थाने आ गईं। एसओ क्लेमेनटाउन ने बताया कि वह यह बताने आई थीं कि यह संपत्ति उनके मामा की है और वह तो मुंबई जा रही है, लेकिन यह देखा जाना चाहिए कि इस पर कोई कब्जा न कर लें। उनकी ओर से पुलिस को मौखिक जानकारी ही दी गई। कोई तहरीर या संपत्ति से संबंधित दस्तावेज नहीं दिखाए गए।

वहीं, अब तक अमृता सिंह के मामा मधूसूदन की देखभाल कर रहे खुशीराम निवासी सोसाइटी एरिया ने क्लेमेनटाउन पुलिस को तहरीर देकर बताया कि वह मधूसूदन और उनकी संपत्ति की पिछले 23 साल से देखभाल कर रहे हैं। मधूसूदन का शनिवार भोर में देहांत हो गया। अमृता सिंह उनसे मधूसूदन के मकान की चाबी मांग रही हैं, जबकि मधूसूदन की इस संपत्ति को लेकर देहरादून के दो न्यायालयों में केस चल रहा है। खुशीराम ने पुलिस को मकान की चाबी देने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने चाबी लेने से इंकार कर दिया।

कुछ नहीं बोलीं अमृता, सारा ने चेहरा छिपाया

क्लेमेनटाउन थाने से बाहर आने पर अमृता से थाने आने का कारण पूछा गया तो उल्टे उन्होंने ने ही सवाल किया आप कैसे आ गए। हालांकि, उन्होंने संपत्ति को लेकर कोई भी बात नहीं की और गाड़ी में बैठ कर वहां से निकल गईं।

अदालत में चल रहा केस

पुलिस के अनुसार खुशीराम ने बताया कि मधूसूदन की ओर से कुछ साल पहले एक वसीयत की गई थी। इसके बाद संपत्ति को लेकर जिलाधिकारी समेत दो की अदालत में केस दायर किया गया। यह दोनों मामले विचाराधीन हैं। सूत्रों के अनुसार अमृता के मामा ने हाल में भी एक वसीयत बनाई है। लेकिन, उसमें क्या है। इसका पता वसीयत के खुलने के बाद ही चलेगा।

ताहिरा की तरफ से मेल मिली

एसएसपी निवेदिता कुकरेती के अनुसार कुछ दिन पहले ताहिरा ने उन्हें एक ई-मेल भेजी थी, जिसमें संपति को लेकर कुछ बातें लिखी गई हैं। इसके बारे में और कोई जानकारी उनके पास नहीं है। ताहिरा के भाई या किसी अन्य की तरफ से कोई पत्राचार या ई-मेल उन्हें नहीं मिला।

बोले पुलिस अध‍ि‍कारी 

  • धर्मेंद्र रौतेला (थानाध्यक्ष, क्लेमेनटाउन) का कहना है कि मामला सिविल का है। फिलहाल अमृता सिंह और खुशीराम से दस्तावेजों के साथ आने को कहा गया है। जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे, उससे मजिस्टे्रट को अवगत कराया जाएगा।
  • निवेदिता कुकरेती (एसएसपी, देहरादून) का कहना है कि अमृता और सारा ने उनसे मुलाकात नहीं की। दोनों के थाने जाने की सूचना मिली है। यह पता चला है कि संपत्ति को लेकर सिविल कोर्ट में मामला चल रहा है। इसलिए कुछ भी कहना उचित नहीं है।

Leave a Comment