Share
बैंक मैनेजर बनकर छात्र के खाते की डीटेल पूछ उड़ाए 90 हजार रुपये

बैंक मैनेजर बनकर छात्र के खाते की डीटेल पूछ उड़ाए 90 हजार रुपये

देहरादून। बैंक मैनेजर बनकर जालसाज ने छात्र के खाते की डीटेल पूछकर 90 हजार रुपये उड़ा दिए। मामले में डालनवाला कोतवाली पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

राहुल राठौर पुत्र स्वराज सिंह निवासी ग्राम खाती, कालसी, चकराता हाल निवासी तोमर एकेडमी निकट चावला चौक का एसबीआइ में अकाउंट है। राहुल यहां स्नातक का छात्र है। राहुल ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि बीती 21 दिसंबर को उसके पास एक व्यक्ति का फोन आया। उसने अपना नाम अमित मिश्रा बताया और कहा कि वह एसबीआइ में मैनेजर है।

उसने खुद खाते की पूरी डीटेल बताई, जिससे विश्वास हो गया कि वह बैंक में ही है। इसके बाद उसने कहा कि एटीएम कार्ड की वैधता बढ़ानी है तो उसे कुछ और जानकारी देनी होगी। जालसाज ने आगे बताया कि एक एसएमएस आएगा जिसे छात्र को उसे फॉरवर्ड करना है। छात्र ने ऐसा ही किया। जिसके कुछ देर बाद उसके खाते से 90 हजार रुपये निकल गए। राहुल ने पुलिस को बताया कि अमित मिश्रा के नाम के व्यक्ति ने उसे तीन अलग-अलग नंबरों से फोन किया था। पुलिस ने मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

चिकित्सक को आया जालसाज का फोन 

आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी डॉ. नवीन जोशी को भी शनिवार को एक जालसाज का फोन आया। जालसाज ने बताया कि वह एसबीआइ के एटीएम सेंटर से बोल रहा है। एटीएम कार्ड की वैधता बढ़ानी है तो वह कार्ड से जुड़ी जानकारी उसे दे दें। डॉ. नवीन जोशी ने जब यह कहा कि बैंक तो एटीएम कार्ड के बारे में न तो कोई जानकारी मांगता है और न ही किसी को बताने को कहता है तो जालसाज झुंझला कर गालियां बकने लगा और फोन काट दिया। फिलहाल चिकित्सक की ओर से इसकी कोई लिखित शिकायत नहीं की गई है।

Leave a Comment