Share
BJP विधायक पर बलात्कार का आरोप, पीड़ित युवती के जेल में बंद पिता की मौत

BJP विधायक पर बलात्कार का आरोप, पीड़ित युवती के जेल में बंद पिता की मौत

उन्नाव (उत्तर प्रदेश)। भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री आवास के पास आत्मदाह की कोशिश करने वाली युवती के जेल में बंद पिता की संदिग्ध हालात में मौत हो गयी है। पीड़ित पक्ष ने विधायक पर जेल में व्यक्ति की हत्या कराने का आरोप लगाया है। पुलिस सूत्रों ने आज बताया कि जेल में बंद लड़की के पिता को रविवार रात पेट दर्द के साथ खून की उल्टियां होने पर तुरंत जिला अस्पताल के एमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया। मगर तड़के लगभग तीन बजे डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मृतक के परिजन ने बलात्कार के आरोपी बांगरमऊ से भाजपा विधायक सेंगर पर जेल में हत्या कराने का आरोप लगाया है। विधायक सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली युवती के पिता 50 वर्षीय पिता की संदिग्ध परिस्थियों में मौत से शासन-प्रशासन में हड़कम्प मच गया है। जिला अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस के साथ-साथ जिले के चैराहों और पीड़ित परिवार के माखी थाना क्षेत्र स्थित घर पर भी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। मौके पर जिलाधिकारी रवि कुमार एनजी और पुलिस अधीक्षक पुष्पांजलि भी मौजूद हैं।

मालूम हो कि माखी थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली 18 वर्षीय एक युवती ने उन्नाव के बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सेंगर और उनके भाइयों पर पिछले साल सामूहिक बलात्कार का आरोप लगाया था। अदालत के आदेश पर इस मामले में मुकदमा दर्ज कराया गया था। आरोप है कि मुकदमा वापस नहीं लेने पर गत तीन अप्रैल को विधायक के भाई अतुल सिंह ने पीड़िता के पिता को मारापीटा था। गम्भीर रूप से घायल होने के बाद पीड़ित माखी थाने में तहरीर देने गया तो पुलिस ने पांच अप्रैल को उसी के खिलाफ शस्त्र अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज करके उसे जेल भेज दिया।
जिलाधिकारी रवि कुमार एनजी ने बताया कि जब दोनों पक्षों की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया था तो एक पक्ष को ही जेल क्यों भेजा गया, इसकी जांच करायी जायगी। साथ ही मृतक का डाक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराने के आदेश दिये गये हैं। आरोपियों के स्थान पर अपने पिता के खिलाफ कार्रवाई किये जाने से क्षुब्ध होकर कथित बलात्कार पीड़ित युवती ने कल मुख्यमंत्री आवास के पास आत्मदाह का प्रयास किया था। हालांकि मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे रोक लिया था।

Leave a Comment