Share
व्यक्तिगत दुश्मनी के कारण दो शिवसैनिकों की भाजपा विधायक ने की हत्या, गिरफ्तार

व्यक्तिगत दुश्मनी के कारण दो शिवसैनिकों की भाजपा विधायक ने की हत्या, गिरफ्तार

मुंबई । दो शिवसैनिकों की हत्या के आरोप में अहमदनगर से भाजपा विधायक शिवाजी कर्डिले को सोमवार सुबह गिरफ्तार कर लिया गया। इसी मामले में कर्डिले के दामाद और राकांपा विधायक संग्राम जगताप को रविवार को गिरफ्तार किया गया था। कर्डिले पर हत्या की साजिश रचने और पुलिस अधीक्षक कार्यालय में तोड़फो़ड़ करवाने का आरोप है।

अहमदनगर जनपद में केडगांव स्थानीय निकाय उपचुनाव के परिणाम आने के बाद केडगांव शिवसेना प्रमुख संजय कोटकर और एक अन्य पार्टी कार्यकर्ता वसंत तुभे को शनिवार शाम धारदार हथियारों से हमला करके मार दिया गया था। संजय कोटकर यह चुनाव कांग्रेस के विशाल कोटकर से हार गए थे। इस हत्याकांड के कुछ देर बाद ही संदीप गुंजाल नामक युवक ने हत्या में इस्तेमाल हथियारों के साथ पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। गुंजन ने पुलिस को बताया कि उसने व्यक्तिगत दुश्मनी के कारण दोनों शिवसैनिकों की हत्या की। लेकिन संजय कोटकर के परिवार ने इस हत्याकांड में शिवाजी कर्डिले और संग्राम जगताप की साजिश की आशंका जाहिर की।

जगताप की गिरफ्तारी के बाद उसके करीब 200 कार्यकर्ताओं ने शहर के पुलिस अधीक्षक कार्यालय में जमकर तोड़फोड़ की। पुलिस ने इस मामले में 82 लोगों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया है और 27 को गिरफ्तार किया है। जबकि हत्या के मामले में कर्डिले और संग्राम जगताप के अलावा दो और व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। सोमवार सुबह पुलिस थाने पहुंचकर समर्पण करने वाले शिवाजी कर्डिले का कहना है कि इस हत्याकांड में उनकी कोई भूमिका नहीं है। उन्हें राजनीतिक रंजिश के कारण फंसाया जा रहा है।

बता दें कि इस हत्याकांड में भाजपा, कांग्रेस और राकांपा तीनों दलों के नेता व कार्यकर्ता आरोपी बनाए जा रहे हैं। क्योंकि वैवाहिक संबंधों के कारण ये सभी आपस में रिश्तेदार हैं और अहमदनगर जिले की राजनीति में इसी कुटुंब का बोलबाला है। एसआईटी का गठन अहमदनगर के पुलिस अधीक्षक रंजन कुमार शर्मा ने कहा कि दो शिवसैनिकों की हत्या की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है। एसआईटी में पांच पुलिस अधिकारी होंगे।

Leave a Comment