त्रिशक्ति सम्मेलन की तैयारियों को भाजपा ने दिया अंतिम रूप, सम्मेलन स्थल पर लगेगी विकास प्रदर्शनी

देहरादून। टिहरी और हरिद्वार लोकसभा क्षेत्रों के दो फरवरी को दून में होने वाले त्रिशक्ति सम्मेलन की तैयारियों को भाजपा ने अंतिम रूप दे दिया है। इस सिलसिले में परेड मैदान में भूमि पूजन किया गया। सम्मेलन को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह संबोधित करेंगे।

सम्मेलन स्थल पर विकास प्रदर्शनी भी लगेगी, जिसमें केंद्र और राज्य सरकारों की उपलब्धियों को प्रदर्शित किया जाएगा। त्रिशक्ति सम्मेलन में दोनों लोकसभा क्षेत्रों के अंतर्गत आने वाले 28 विधानसभा क्षेत्रों के भाजपा के बूथ पालक, अध्यक्ष व बीएलए-2 भाग लेंगे।

भाजपा नेतृत्व पिछले कई दिनों से सम्मेलन की सफलता के मद्देनजर तैयारियों में जुटा हुआ है। इस कड़ी में प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट की अगुआई में परेड मैदान में इस सम्मेलन के लिए भूमि पूजन कर आयोजन की सफलता की कामना की गई। भूमि पूजन आचार्य अरुण सती ने संपन्न कराया।

इस मौके पर राज्यमंत्री डॉ.धन सिंह रावत, प्रदेश उपाध्यक्ष ज्योति गैरोला, प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल, विधायक खजानदास, हरबंस कपूर, गणेश जोशी व उमेश शर्मा, महापौर सुनील उनियाल गामा, महानगर अध्यक्ष विनय गोयल समेत बड़ी संख्या में भाजपा नेता मौजूद थे।

इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष भट्ट ने बताया कि त्रिशक्ति सम्मेलन के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष का मुख्यमंत्री, लोकसभा चुनाव संचालन समिति, मंत्रियों, विधायकों व प्रांतीय पदाधिकारियों के साथ आगामी कार्यक्रमों व रणनीति पर चर्चा का कार्यक्रम है। उन्होंने दावा किया कि राज्य की पांचों लोस सीटों पर भाजपा परचम लहराएगी।

पंजीकरण को लगेंगे 28 काउंटर 

भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी डॉ.देवेंद्र भसीन ने बताया कि त्रिशक्ति सम्मेलन में विकास प्रदर्शनी लगेगी, जो जन सामान्य के लिए भी खुली रहेगी। सम्मेलन में भाग लेने वाले कार्यकर्ताओं के लिए पंजीकरण को विस क्षेत्रवार 28 काउंटर लगाए जाएंगे।

योगी, शर्मा व सिंह भी आएंगे 

डॉ. भसीन के अनुसार पौड़ी, अल्मोड़ा व नैनीताल संसदीय क्षेत्रों के त्रिशक्ति सम्मेलन 10 फरवरी तक आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इन सम्मेलनों के लिए उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह (सेवानिवृत्त) ने सहमति दे दी है।

नैनीताल संसदीय सीट का सम्मेलन नौ फरवरी को होगा, जिसमें उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्य अतिथि होंगे। बाकी लोस क्षेत्रों के सम्मेलन की तिथियां जल्द तय की जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *