Share
गुजरात की जसदण विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव के परिणाम घोषित, भाजपा प्रत्याशी कुंवरजी बवालिया ने की जीत हासिल

गुजरात की जसदण विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव के परिणाम घोषित, भाजपा प्रत्याशी कुंवरजी बवालिया ने की जीत हासिल

अहमदाबाद। गुजरात की जसदण विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव के परिणाम की घोषणा हो चुकी है। जसदण विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी कुंवरजी बवालिया ने 19985 की मतों से जीते हैं। इस जीत के साथ ही गुजरात में भाजपा 100 सीटों पर पहुंच गई है। अपनी इस जीत पर राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा है कि यह जीत एक स्पष्ट संकेत है कि भाजपा 2019 में बहुमत से जीतेगी। बता दें गुजरात की जसदण विधानसभा सीट पर गुरुवार को मतदान हुआ था। उधर, झारखंड में हुए उपचुनाव की मतगणना जारी है, जहां कांग्रेस प्रत्याशी ने बढ़त बनाई हुई है।

जसदण में 2017 में कांग्रेस की जीत
2017 विधानसभा चुनाव में जसदन सीट से कांग्रेस के टिकट पर बावलिया ने जीत दर्ज की थी। बवालिया कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए हैं और उन्होंने जुलाई में विधानसभा से इस्तीफा दे दिया था, जिस कारण यहां उपचुनाव हुआ था। भाजपा उम्मीदवार बावलिया के खिलाफ यहां कांग्रेस ने अवसर नाकिया को मैदान में उतारा था। भाजपा के लिए बावलिया भाग्यशाली साबित हुए हैं। इस जीत के बाद विधानसभा में भाजपा का शतक पूरा हो जाएगा।

गुजरात में जश्न की तैयारी
बावलिया की जीत के बाद भाजपा ने प्रदेश कार्यालय में जीत के जश्न की तैयारी शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री खुद इसमें शामिल होंगे। इसके बाद रूपाणी व वाघाणी दोनों जीत के जश्न में शामिल होने के लिए जसदण पहुंचेंगे।

JHARKHAND LIVE UPDATES:

– 16वें राउंड में भी कांग्रेस प्रत्याशी नमन 8522 मतों से आगे

– कोलेबिरा विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी नमन विक्सल कोनगाड़ी आगे चल रहे हैं। 11वें राउंड में भी उन्होंने बढ़त बनाई हुई है। वे करीब 4106 वोटों से आगे हैं।

– छठें राउंड में भी कांग्रेस प्रत्याशी आगे। 1000 वोटों की बनाई बढ़त।

– झारखंड की कोलेबिरा सीट पर हो रही दूसरे राउंड की मतगणना में कांग्रेस प्रत्याशी एक हजार वोटों से आगे।

– झारखंडः कोलेबीरा विधानसभा उपचुनाव के लिए वोटों की गिनती जारी है। पहले राउंड की गिनती के बाद कांग्रेस प्रत्याशी 676 वोटों से आगे चल रहे हैं।

गौरतलब है कि तीन हिंदी भाषी राज्यों मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भाजपा को मिली हार के बाद उपचुनाव पर सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्षी कांग्रेस की निगाहें जमी हुई हैं। लोकसभा के लिए 2019 में होने वाले आम चुनावों से पहले यह उपचुनाव दोनों दलों के मध्य प्रतिष्ठा की लड़ाई बन गया है।

Leave a Comment