Share
एमबीपीजी कॉलेज में पढ़ने वाली बीएससी की छात्रा ने बैराज में लगाई छलांग

एमबीपीजी कॉलेज में पढ़ने वाली बीएससी की छात्रा ने बैराज में लगाई छलांग

हल्द्वानी: एमबीपीजी कॉलेज में पढ़ने वाली बीएससी की छात्रा ने दोपहर बैराज में कूद लगा दी। इससे बैराज में घूम रहे लोगों में अफरा तफरी मच गई। पुलिस के गोताखोर और स्थानीय युवक ने सकुशल बचा लिया।

सुबह गोला बैराज में पर्यटकों का तांता लगा हुआ था। लोग सैर सपाटा कर मौसम और बैराज का लुत्फ उठा रहे थे। करीब साढ़े 11 बजे अचानक एक युवती ने बैराज के पानी मे छलांग लगा दी। उसे कूद मारते देख पर्यटकों की चीख पुकार मच गई।

युवती को कूद मारने का पता लगते ही सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस के गोताखोर मनोज बहुखंडी और स्थानीय युवक हरीश सिंह भी युवती को बचाने के लिए कूद गए। दोनों ने जान की बाजी लगाकर युवती को बैराज से निकाला। इस दौरान युवती और गोताखोर मनोज बहुखंडी भी जख्मी हो गए।

काठगोदाम थानाध्यक्ष कमाल हसन ने बताया कि युवती सितारगंज के एक गांव में रहने वाली है और एमबीपीजी कॉलेज में बीएससी के पांचवे सेमेस्टर की छात्रा है। युवती का उपचार कराने के साथ ही उसके पिता को फोन कर बुलाया गया है। उसके पिता किसान हैं।

छात्रा का कहना है कि बैराज में घूमने के दौरान पानी देख सर चकराने से वह संतुलन खो बैठी और बैराज में गिर गई। हालांकि पुलिस युवती के खुद छलांग लगाने और कूदने के पीछे दूसरा कारण होने की आशंका जता रही है।थानाध्यक्ष का कहना है कि पिता से पूछताछ कर असल कारण का पता लगाने की कोशिश की जाएगी।

यहां बता दे कि दो सप्ताह पहले भी बनभूलपुरा की एक महिला ने बीमारी से परेशान होकर बैराज में कूद लगा दी थी। उसे भी गोताखोर मनोज बहुखंडी से सुरक्षित पानी से निकालकर अस्पताल पहुंचाया था।

दूसरी और प्रतिबंध के बावजूद बैराज एक लोगों के पहुंचने से सिंचाई विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े होने लगे हैं। कई घटनाएं होने के बाद भी सिचाईं विभाग के अफसर बैराज तक लोगों के पहुंचने पर प्रतिबंध नहीं लगा पा रहे हैं।

Leave a Comment