Share
मलबे से दो गांवों की नहर क्षतिग्रस्त, किसानों की बढ़ी परेशानी

मलबे से दो गांवों की नहर क्षतिग्रस्त, किसानों की बढ़ी परेशानी

साहिया: बडनू-जोशीगांव मोटर मार्ग के कटिंग का मलबा डंपिंग जोन में न डालकर खड्ड में डालने से दो गांवों की नहर क्षतिग्रस्त हो गई है। जिससे किसानों की परेशानी बढ़ गई है। मटर की फसल के बाद किसानों को अब गागली, अदरक व अन्य फसलों की बुआई करनी है। लेकिन बिना सिंचार्इ के किसान खेत तैयार नहीं कर पा रहे हैं। किसानों ने लोनिवि से मलबा डंपिंग जोन में ही डालने की मांग की है।

लोनिवि साहिया द्वारा बडनू-जोशीगांव मोटर मार्ग के कटिंग का मलबा बिना डंपिंग जोन की बजाय जगह-जगह खड्ड में डाला जा रहा है। जिससे दातनू व जोशीगांव के किसानों को सिंचाई का पानी उपलब्ध कराने वाली नहर क्षतिग्रस्त हो गई है। पिछले दो माह से किसान अपनी समस्या लोनिवि साहिया व एसडीएम कालसी को बता रहे हैं। लेकिन न ही नहर की मरम्मत कराई जा रही है और न ही मलबा खड्ड में डालना बंद किया है। जिससे किसानों में आक्रोश बढ़ रहा है।

किसानों का कहना है कि उन्होंने लोनिवि साहिया व एसडीएम कालसी को लिखित रूप में शिकायत की थी, फिर भी नहर ठीक नहीं की जा रही है। खेतों में मलबा पड़ा है, सिंचाई के अभाव में खेत भी तैयार नहीं कर पा रहे हैं। उधर, जेई प्रशांत कुमार का कहना है कि मलबे से क्षतिग्रस्त नहर की मरम्मत के निर्देश दिए गए हैं।

रोड बनने की उम्मीद जगी 

कोठा बैंड से पंजिया मोटर मार्ग निर्माण की उम्मीद जगी है। पीएमजीएसवाई ने शनिवार को रोड का सर्वे कराया। बता दें कि 1992 में लोनिवि साहिया इस रोड को बना रही थी, लेकिन ग्रामीणों के बीच आपसी विवाद के कारण रोड का कार्य रोक दिया गया और 2014 में रोड लोनिवि से हटकर पीएमजीएसवाई के अधीन चली गई। 15 किमी. लंबी रोड निर्माण के सर्वे पर सहमति को संबंधित अधिकारियों ने ग्रामीणों से वार्ता की थी।

ग्रामीणों द्वारा आपसी समझौता होने की बात कहने पर विभाग ने प्रक्रिया शुरू की है। रोड से कोठा, बुआरा खेड़ा, ककाड़ी, कनबुवा, सकनी, पंजिया, मुंशी घाटी के ग्रामीणों को लाभ मिलेगा।

Leave a Comment