केसी त्‍यागी ने बड़ा बयान दिया,सीएम नीतीश ने सिरे से किया खारिज, कहा-फालतू बात

जनता दल यूनाइटेड (JDU) राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद पार्टी के राष्‍ट्रीय महासचिव केसी त्‍यागी ने बुधवार को बड़ा बयान दिया, जिसमे उन्होंने कहा कि जदयू केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल हो सकती है, लेकिन उसकी कुछ शर्तें हैं। अगर उनकी पार्टी को संख्‍या बल के आधार पर जगह मिलती है तो वह केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए तैयार है।

सीएम नीतीश ने सिरे से किया खारिज, कहा-फालतू बात है

उनके इस बयान को जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को सिरे से खारिज कर दिया है और कहा है कि एेसी कोई बात है ही नहीं, ये सब फालतू बाते हैं। इस तरह से दोनों नेताओं के परस्पर विरोधी बयान पर बिहार में राजनीतिक बयानबाजी तेज होने की संभावना है।

केसी त्यागी ने ये दिया था बयान…

बुधवार को दिल्ली में हुई जदयू की बैठक के बाद केसी त्‍यागी ने कहा ता कि लोकसभा चुनाव के बाद मंत्रिमंडल गठन के वक्‍त जेडीयू ने एक मंत्री पद की पेशकश को इनकार कर दिया था। अगर संसद में संख्‍या बल के अनुपात में जगह मिले तो जेडीयू केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए तैयार है। उन्‍होंने यह भी कहा कि जेडीयू ने बिहार में राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की सरकार में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का उपमुख्‍यमंत्री (Dy CM) बनाया है।

उन्होंने सीधे तौर पर यह नहीं बताया कि जदयू को केंद्र सरकार में कितने मंत्री पद चाहिए और न ही इसकी कोई समय सीमा बताई। फिर भी उन्होंने साफ कर दिया कि जदयू ने केंद्र में मंत्री पद के लिए कोई शर्त नहीं रखी है। किंतु इशारा जरूर कर दिया कि केंद्र सरकार में जदयू का प्रतिनिधित्व बाकी है और उसे सांसदों की संख्या के अनुपात में मंत्री पद दिए जाने चाहिए।

बिहार में जदयू और भाजपा नेताओं के बीच चल रही बयानबाजी के बीच केसी त्यागी ने साफ कर दिया कि 2020 में भाजपा-जदयू गठबंधन मिलकर चुनाव लड़ेगा और 2010 के विधानसभा चुनाव से भी अधिक सीटें जीतेगा। ध्यान देने की बात है कि 2010 के विधानसभा चुनाव में भाजपा-जदयू गठबंधन 243 में से 206 सीटें जीतने में सफल रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *