Share
केदारनाथ में प्रसाद में रिंगाल की टोकरी में दिए जाएंगे चौलाई के लड्डू

केदारनाथ में प्रसाद में रिंगाल की टोकरी में दिए जाएंगे चौलाई के लड्डू

रुद्रप्रयाग: बाबा केदार के दर पर पहुंचने वाले भक्तों अब प्रसाद के रूप में चौलाई के लड्डू दिए जाएंगे और वह भी रिंगाल की टोकरी में। अभी तक यहां चना और इलायची दाने का प्रसाद दिया जा रहा था। राज्य सरकार की प्रसाद योजना के तहत बदरी-केदार मंदिर समिति ने इस साल से बाबा के प्रसाद की टोकरी में यह बदलाव किया है। श्रद्धालुओं की सुविधा को ध्यान रखते हुए मंदिर के आसपास दुकानें और फड़ लगाने पर भी पाबंदी लगा दी गई है।

राज्य सरकार ने स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए प्रसाद योजना शुरू की है। इसके तहत प्रमुख धामों और मंदिरों के लिए प्रसाद की टोकरी का स्वरूप बदला गया है। केदारनाथ धाम में चौलाई के लड्डू की टोकरी भक्तों को प्रसाद के रूप में दी जाएगी। इसमें चौलाई का लड्डू, चौलाई का चूरा और पूजा सामग्री दी जाएगी। स्वयं सहायता समूह इसे तैयार करेंगे।

माना जा रहा है कि प्रसाद की इस टोकरी के माध्यम से भक्त स्थानीय संस्कृति से रू-ब-रू होंगे। साथ ही स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर में मुहैया होंगे। जिलाधिकारी मंगेश कुमार घिल्डियाल ने बताया कि मंदिर समिति व्यापारियों को प्रसाद उपलब्ध कराएगी। उन्होंने बताया कि इस बार केदारनाथ में मंदिर के आसपास कोई भी प्रसाद की दुकान नहीं लगेगी।

दूसरी तरफ, जिला प्रशासन एमआइ-26 हेलीपैड के ठीक ऊपरी हिस्से में हाट बनवा रहा है। इसमें 50 अस्थायी दुकानें रूप से बनाई जा रही हैं। इन्हीं में पूजा सामग्री की दुकानें भी लगाई जाएंगी। इस बीच, मंदिर के आसपास दुकानें लगाने के लिए पूर्व की तरह व्यवस्था रखने को लेकर व्यापार संघ केदारनाथ के अध्यक्ष महेश बगवाड़ी ने प्रशासन से मांग की है कि पुरानी परंपराओं के अनुसार मंदिर के आसपास पूजा की दुकानें लगाने के साथ ही प्रसाद के रूप में इलायची व चना दाना को शामिल किया जाए।

Leave a Comment