Share
आजादी की 72वीं सलगिरह पर मुख्यमंत्री ने फहराया तिरंगा, दी प्रदेश वासियों को बधाई

आजादी की 72वीं सलगिरह पर मुख्यमंत्री ने फहराया तिरंगा, दी प्रदेश वासियों को बधाई

देहरादून: आज आजादी की 72वीं सलगिरह पर पूरे उत्तराखंड में जश्न का माहौल है। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने परेड ग्राउंड में तिरंगा फहराया और प्रदेश वासियों को बधाई दी। इस इस दौरान सीएम ने कहा कि उत्तराखंड वीरभूमि है। यहां हर परिवार से औसतन एक व्यक्ति सेना या सुरक्षा बलों में हैं। उत्तराखंड में पहले से ही शहादत की परंपरा रही है। वहीं सीएम ने सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रभावी कदम उठाए हैं। लोगों की सोच और कार्य संस्कृति बदली है। जो उत्तराखंड के विकास को गति देगी। कार्यक्रम के दौरान सीएम रावत ने ये भी बताया कि राज्य की जीडीपी में 6 प्रतिशत से ज्यादा वृद्धि हुई है और प्रति व्यक्ति आय 16 हज़ार से ज्यादा बढ़ गई है। उन्होंने कहा ग्रोथ सेंटर्स की स्थापना से गांवो में रोजगार बढ़ा है। अब तक 103 ग्रोथ सेंटर्स स्थापित किए जा चुके हैं। सरकार लगातार किसानों की आय को दोगुना करने के प्रयास कर रही है।

देश के साथ ही प्रदेश में भी 72वें स्वतंत्रता दिवस को बड़ी ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। सीएम के साथ ही राज्यपाल डॉ. कृष्ण कांत पाल ने राजभवन में ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर उन्होंने राजभवन कार्मिकों को मिष्ठान भी वितरित किया। राज्यपाल ने राजभवन प्रांगण में पौधरोपण भी किया। वहीं, हरिद्वार स्थित पतंजलि में बाबा रामदेव ने भी ध्वजारोहण किया।

सूचना निदेशालय में फहराया गया तिरंगा

स्वतंत्रता दिवस पर सूचना महानिदेशक दीपेंद्र कुमार चौधरी ने सूचना निदेशालय में ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर उन्होंने देश की स्वतंत्रता में योगदान देने वाले वीर सेनानियों को नमन करते हुए कहा कि बडे संघर्षों के बाद हमें स्वतंत्रता प्राप्त हुई। हमारे वीर सेनानियों एवं राज नेताओं के प्रयासों से प्राप्त हुई इस आजादी से हमें यह सीख लेने की जरूरत है कि हमें आपसी सदभाव सहयोग एवं स्नेह से अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर देश व प्रदेश के विकास में अपना योगदान देना होगा।
देश की आजादी के संघर्षों का इतिहास गवाह रहा है कि आपसी असहयोग एवं वैमनस्य के कारण ही पहले व्यापारी के रूप में भारत आये अंग्रेजों ने लम्बे समय तक हमें गुलाम बनाकर हम पर राज किया। हमे अपनी इस आजादी को अक्षुण बनाये रखने के लिये देश हित में सदैव अपने को तत्पर रखने का प्रण लेना चाहिए। यही इस अवसर पर हमारी राष्ट्र के प्रति सच्ची सेवा होगी।

इस दिन को खास बनाने के लिए सुबह से लेकर ही सड़कों पर बच्चों का हुजूम उमड़ पड़ा है। नन्हें-मुन्हों ने प्रभात फेरियां निकालने के साथ ही देशभक्ति के नारे भी लगाए। राजधानी देहरादून से लेकर तमाम जिलों में स्कूली बच्चों ने प्रभात फेरियां निकाली। इस अवसर पर आजादी के दीवानों को याद कर क्रांतिकारियों के सपनों के भारत निर्माण का संकल्प लिया।

नैनीताल जिले के रामनगर में भी स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बच्चों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिला। प्रभात फेरी निकालने के बाद बच्चों को मिष्ठान वितरित किया गया। बुधवार को सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के बच्चे नगर पालिका में एकत्रित हुए। बच्चों को वक्ताओं ने स्वतंत्रता दिवस के महत्व के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि सभी में देशहित की भावना होनी चाहिए।

इसके बाद बच्चे जुलूस की शक्ल में तिरंगा लेकर वंदे मातरम, भारत माता की जय के नारों के साथ नगर में घूमते हुए लखनपुर चुंगी स्थित शहीद पार्क पहुंचे। यहां बच्चों को मिष्ठान वितरित हुआ। जिसके बाद प्रभात फेरी का समापन हुआ।

ऊधमसिंह नगर जिले के बाजपुर में भी स्वतंत्रता दिवस के मौके पर विभिन्न स्कूलों में प्रभात फेरी निकाली गई। स्कूलों में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ ही ध्वजारोहण किया गया।

एसडीएम कोर्ट में उप जिलाधिकारी विवेक प्रकाश, तहसील में केपी सिंह, सीओ कार्यालय में महेश कुमार बिंजोला, इंटर कॉलेज में प्रबंधक सुरेन्द्र शर्मा, जीजीआइसी में प्रधानाचार्य इंदिरा पांडे, बीएसएफ में प्रधानाचार्य किताबुल ने, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में अधीक्षक डॉक्टर के एनपाल सिंह दोराहा, बाजपुर में हरेन्द्र सिंह लाडी साहित्य विभिन्न संस्थाओं के प्रमुखों द्वारा ध्वजारोहण किया गया। स्कूलों में बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए।

Leave a Comment