Share
53 गांवों की ढाई हजार महिलाओं ने की सामूहिक बुआई

53 गांवों की ढाई हजार महिलाओं ने की सामूहिक बुआई

रुद्रप्रयाग : अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस रुद्रप्रयाग जिले के लिए यादगार रहा। इस मौके पर ग्राम पंचायत जैली में जिले के 53 गांवों की ढाई हजार महिलाओं ने सामूहिक रूप से विभिन्न प्रकार के बीजों की बुआई कर महिला दिवस मनाया। इस अनूठी पहल की शुरुआत की जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने। इस दौरान जहां सभी अधिकारी जमीन पर बैठे, वहीं मातृशक्ति को कुर्सियों पर बैठाकर सम्मान दिया गया।

जखोली ब्लॉक की ग्राम पंचायत जैली में आयोजित इस कार्यक्रम के तहत जिलाधिकारी ने महिलाओं के साथ मिलकर टमाटर, शिमला मिर्च, फ्रासबीन व भिंडी के बीज बोए। जिलाधिकारी ने बताया कि उद्यानिकी व कृषि को बढ़ावा देने के लिए यह पहल की गई है।

इससे पूर्व, बतौर मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री लक्ष्मी राणा ने मातृशक्ति को महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि नारी के सम्मान में ही समाज की उन्नति निहित है। हम एक आदर्श समाज का निर्माण तभी कर सकते हैं, जब भेदभाव, उत्पीड़न, हिंसा, दहेज, कन्या भ्रूण हत्या जैसी बुराइयों के खिलाफ खड़े होने की सामथ्र्य रखते हों। लेकिन, इसके लिए जरूरी है बेहतर शिक्षा। तभी हम समाज में समान भागीदारी सुनिश्चित कर पाएंगे। कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में महिलाओं को अभी और अधिक जागरूक होने की जरूरत है, तभी वह अपने अधिकारों की लड़ाई खुलकर लड़ सकेंगी।

जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने जिले के समस्त काश्तकारों को पारंपरिक खेती की जगह नगदी फसलों के कृषिकरण की सलाह दी। बताया कि अधिक से अधिक काश्तकारों को सब्जी उत्पादन से जोडऩे के लिए आजीविका व उद्यान विभाग की ओर से बीजों के पांच हजार मिनी किट तैयार किए गए हैं।

इस मौके पर आजीविका स्वयं सहायता समूह की अध्यक्ष मीना देवी, मुख्य कृषि अधिकारी आरपीएस रावत, जिला उद्यान अधिकारी जीएल माखनवाल समेत बड़ी संख्या में महिला काश्तकार व ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a Comment