Share

कांग्रेस नेता ने फेसबुक पर लिखा ये कमेंट और फिर लगा ली फांसी

बैतूल। प्रदेश कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष एवं प्रदेश प्रवक्ता अजय शिवहरे ने मंगलवार को मुलताई स्थित अपने घर के बेडरूम में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उन्होंने जिस समय आत्महत्या की, उस समय घर पर कोई नहीं था। बच्चे स्कूल गए थे और पत्नी सब्जी लेने के लिए बाजार गई हुई थी।

पत्‍नी जब बाजार से वापस आई तो घर के मुख्य द्वार पर ताला लगा था, जिससे किसी को पता नहीं चला कि बेडरूम में क्या हुआ है। लेकिन जब बच्ची बेडरूम में स्कूल बैग रखने गई तो अजय शिवहरे को पंखे पर लटका देख शोर मचाया। इसके बाद पुलिस बुलाई गई और उनके शव को पंखे से नीचे उतारा गया। उनके बेडरूम या उनके पास से कोई भी सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है।

आत्महत्या के कारणों का अभी तक कोई खुलासा नहीं हो पाया है, लेकिन नजदीकी सूत्रों के अनुसार वह कुछ समय से आर्थिक कारणों को लेकर भारी तनाव में थे, फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। फांसी लगाने से पहले उन्होंने फेसबुक पर पोस्ट भी किया। इसमें उन्होंने लिखा- निभाओ किरदार इस तरह कि पर्दा गिरे पर तालियां बजती रहें।

मुलताई में बैतूल रोड अंबेडकर वार्ड में परिवार के साथ अजय शिवहरे रह रहे थे। वे कुछ दिन से कर्ज को लेकर परेशान थे। शायद इसी कारण उन्होंने मंगलवार शाम अपने बेडरूम में फांसी लगा ली। उनकी पत्नी सुनीता शिवहरे ने बताया कि वे कर्ज को लेकर कुछ समय से परेशान चल रहे थे, लेकिन वे ऐसा आत्मघाती कदम उठाएंगे, इसका बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था। अजय का एक पुत्र और दो पुत्रियां हैं।

फांसी लगाने से कुछ देर पहले ही फेसबुक पर बदली थी कवर फोटो 
अजय ने फांसी लगाने से पूर्व फेसबुक एकाउंट पर अपना कवर फोटो बदला था। बदले गए कवर फोटो में उन्होंने लिखा कि निभाओ किरदार इस तरह कि पर्दा गिरे पर तालियां बजती रहें। कवर फोटो के स्लोगन से यह साफ है कि वह भारी तनाव में थे और आत्महत्या का मन बना चुके थे।

Leave a Comment