कांग्रेसियों ने दी देश के प्रथम राष्ट्रपति स्व. डा. राजेन्द्र प्रसाद को श्रद्धांजलि

देहरादून। स्वतंत्र भारत के प्रथम राष्ट्रपति, भारत रत्न स्व. डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की जयंती के अवसर पर प्रदेश कंाग्रेस कमेटी कार्यालय में महानगर कांग्रेस कमेटी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कांग्रेसियों ने स्व. राजेन्द्र प्रसाद के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किये।
इस अवसर पर कांग्रेसियों द्वारा कहा गया कि सादा जीवन उच्च विचार के प्रतीक स्वतंत्र भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने छात्र जीवन में ही अपनी विद्यता एवं प्रतिभा का परिचय देते हुए कई कीर्तिमान स्थापित किये थे। डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को शिक्षकों का आदर्श बताते हुए कहा कि उन्होंने अपने जीवन की शुरूआत एक अध्यापक के रूप में करते हुए 35 वर्षो तक अध्यापन का कार्य किया तथा स्वतंत्र भारत के प्रथम राष्ट्रपति बनने तक का सफर तय किया। उन्होंने अपनी अंतिम सांस तक सच्चे गांधी वादी के रूप में गांधी जी के बताये मार्ग पर चलने का प्रयास किया। डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने संविधान निर्माण सभा के अध्यक्ष के रूप में जिस संयम, अनुशासन और ज्ञान से भारतीय संविधान निर्माण को सहज बनाया वह अपने आप में बेमिसाल है। जिस समय देश संकट के दौर से गुजर रहा था उन्होंने केन्द्रीय मंत्रिमण्डल में स्वास्थ्य और कृषि मंत्री के रूप में अपनी अहम भूमिका का निर्वहन किया था। हमे उनके बताये हुए रास्ते पर चल कर एक शक्तिशाली भारत के निर्माण के उनके सपने को साकार करने के लिए सदैव प्रयास करना है यही उन्हें हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना, महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा, मुख्य समन्वयक राजेन्द्र शाह, महामंत्री सुरेन्द्र रांगड़, प्रदेश प्रवक्ता डॉ. आर.पी. रतूड़ी, गरिमा दसौनी सहित कई कांग्रेसी नेता मौजूद रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *