Share
नौकरी दिलाने के बहाने युवती से सामूहिक दुराचार, तीन आरोपी सहारनपुर बस अडडे से गिरफ्तार

नौकरी दिलाने के बहाने युवती से सामूहिक दुराचार, तीन आरोपी सहारनपुर बस अडडे से गिरफ्तार

विकासनगर: कोतवाली अंतर्गत नगर के होटल सम्राट में 14 सितंबर को नौकरी दिलाने के बहाने युवती से सामूहिक दुराचार के तीन आरोपियों को पुलिस ने सहारनपुर बस अडडे से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने हरियाणा नंबर की गाड़ी को घटना से अगले दिन ही बरामद कर लिया था।

बता दें कि 14 सितंबर को थाना सहसपुर क्षेत्र के एक कस्बे की युवती को देर सायं उसे अक्कू नाम के लड़के ने फोन कर बताया कि आपकी नौकरी लग गयी है, आप सेलाकुई पैट्रोल पंप पर मिलो। जब युवती पेट्रोल पंप पर गई तो अक्कू ने युवती को हरियांणा नंबर की गाड़ी में बैठाया और सेलाकुई में घुमाया।

इस बीच अक्कू ने अपने दो अन्य साथियों को बुला लिया और वे भी गाडी में बैठ गए। उसके बाद तीनों युवक युवती को लेकर विकासनगर ले कर आए। जहां पर विकासनगर में पेट्रोल पंप के सामने एक होटल में तीनों आरोपितों ने युवती से सामूहिक दुराचार किया। रात में किसी तरह से युवती तीनों के चंगुल से छूटकर एक परिचित के साथ विकासनगर कोतवाली पहुंची

पकड़े जाने के डर से तीनों आरोपित गाड़ी को होटल पर छोड़कर भाग निकले। कोतवाल महेश जोशी व चौकी इंचार्ज नीरज चौधरी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत होटल पर दबिश दी, लेकिन मौके से तीनों आरोपित फरार मिले।

पुलिस ने होटल पर खड़ी आरोपितों की गाड़ी को कब्जे में ले लिया। पुलिस ने युवती की तहरीर पर अक्कू समेत तीन के खिलाफ दुराचार की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया। पुलिस ने जब छानबीन की तो तीन युवकों के नाम प्रकाश में आए, जिन्हें पुलिस ने नगर के सहारनपर बस अडडे से दबोच लिया।

तीनों यूपी के मुजफ्फरनगर जिले के हैं। आरोपियों ने अपनी पहचान धीरज पंवार पुत्र सुनील निवासी मेघा शंकरपुर थाना पुरकाजी, विशाल उर्फ कुक्कू पुत्र रफल सिंह निवासी मेघा शंकरपुर पुरकाजी, विशाल पुत्र चरण सिंह निवासी केलनपुर थाना पुरकाजी के रूप में बताई।

Leave a Comment