Share
एक महिला ने जंगल में शेरों के बीच बच्चे को जन्म दिया

एक महिला ने जंगल में शेरों के बीच बच्चे को जन्म दिया

गुजरात:कभी सड़क पर, कभी ट्रेन में, कभी टॉयलेट में बच्चे को जन्म देने की ख़बरें आपने सुनी होंगी. अब ये जान के आप हैरान हो जाएंगे कि गुजरात में 32 साल की एक महिला ने गिर जंगल के शेरों के बीच बच्चे को जन्म दिया है

हुआ ये कि गुरुवार की रात करीब 2:30 बजे लुनासपुर गांव की मंजुबेन मकवाना को डिलीवरी के लिए एंबुलेन्स से जफ़राबाद के एक अस्पताल ले जाया जा रहा था.

तभी रास्ते में वो हुआ जो किसी ने कभी सोचा नहीं था. ड्यूटी पर मौजूद एमरजेंसी मैनेजमेंट टेक्नीशियन, अशोक मकवाना ने देखा कि बच्चा बाहर आ रहा है. उन्होंने ड्राइवर राजू को गाड़ी रोक कर उनकी मदद करने के लिए कहा. मदद के लिए उन्होंने फ़िजीशियन को भी फ़ोन किया. तभी जंगल में से करीब 12 शेर एंबुलेंस के पास आ गए और एंबुलेंस को घेर लिया. शेरोंं ने रास्ता ब्लॉक कर दिया. स्थानीय निवासी होने के कारण राजू ऐसी स्थितियों से वाकिफ़ था. उसने शेरों को भगाने की कोशिश की, लेकिन वनराज टस से मस नहीं हुए.

इधर, अशोक ने फ़ोन पर फ़िजीशियन के निर्देशों के अनुसार, सूझबूझ से महिला की डिलीवरी कराई और महिला ने बच्चे को जन्म दिया. तब तक राजू शेरों की हलचल पर नज़र रखे हुए था. इसके बाद उन्होंने सावधानी से एंबुलेंस को आगे बढ़ाया और गाड़ी की लाइट से शेरों ने अपने आप रास्ता खाली कर दिया.

मां और बच्चे को जफ़राबाद के अस्पताल में भर्ती कराया गया है और फिलहाल दोनों स्वस्थ हैं. बच्चे का जन्म तो हर परिवार के लिए खास होता है, लेकिन इस परिवार के लिए स्थिति इतनी रोमांचक हो जएगी ये तो ख़ुद इन लोगों ने भी नहीं सोचा होगा.

Leave a Comment