Share
केंद्र सरकार के फैसले का पूर्व सैनिकों ने किया स्वागत

केंद्र सरकार के फैसले का पूर्व सैनिकों ने किया स्वागत

पूर्व सैनिकों ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने और उसे केंद्र शासित प्रदेश बनाने पर खुशी जताई है। गौरव सेनानी कल्याण समित अध्यक्ष कैप्टन भानी चंद की अध्यक्षता में आयोजित पूर्व सैनिकों की बैठक में वक्ताओं ने कहा जम्मू कश्मीर धारा 370 हटाने का केंद्र सरकार द्वारा लिया गया फैसला ऐतिहासिक है। इस निर्णय से देश की एकता और अखंडता से मजबूत होगी।

भानी चंद्र ने कहा कि केंद्र सरकार के इस निर्णय से जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों के हौसले पस्त होंगे। साथ ही पाकिस्तान को भी इसका सीधा संदेश जाएगा। कहा कि जम्मू कश्मीर में अब देश का संविधान और कानून पूरी तरह से लागू होगा और अलगाववादियों की राजनैतिक दुकाने बंद होंगी। उन्होने कहा कि जम्मू कश्मीर में आतंकियों से लड़ते हुए देश के लिए शहादत देने वाले सैनिकों को भी यह सच्ची श्रद्धांजली है। कैप्टन हारीश कापड़ी के संचालन में हुई बैठक में भूपाल दत्त भटट्, पुष्कर कापडी, मोहन चंद, राजेन्द्र कापड़ी, किशन चंद, मोहन सिंह भंडारी, बुद्धिबल्लभ पाडे, विक्रम सिंह खाती समेत दर्जनों पूर्व सैनिक मौजूद रहे।

::: परिचर्चा= क्या बोले पूर्व सैनिक

जम्मू कश्मीर से धारा 370 को हटाना ऐतिहासिक फैसला है, जो केंद्र की मोदी सरकार ने करके दिखाया है। अब पूरे देश में एक देश एक कानून लागू होगा।

-कैप्टन भानी चंद, पूर्व सैनिक

जम्मू कश्मीर में आतंकवाद का खात्मा न होने की असली जड़ धारा 370 थी, जिस कारण आतकवादियों को वहा के अलगाववादी बचाने की कोशिश करते थे। केंद्र सरकार द्वारा धारा 370 के खात्मे के साथ ही अब आतंकवाद का भी जल्द खात्मा हो सकेगा।

-पुष्कर कापड़ी, पूर्व सैनिक

जम्मू कश्मीर से धारा 370 को हटाना एक ऐतिहासिक फैसला है। इसके हटने के बाद वहा रह रहे लोग देश की मुख्य धारा से जुडेंगे और पाकिस्तान को भी सख्त संदेश जाएगा जो जम्मू कश्मीर में आतंकवाद फैला रहा है।

-कै. हरीश कापड़ी, पूर्व सैनिक

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने का निर्णय अपने आप में ऐतिहासिक फैसला है इसका हर देशवासी को लंबे समय से इंतजार था। इसके बाद जम्मू कश्मीर की दशा और दिशा दोनों ही बदलेगी और वहा के लोग देश की मुख्य धारा से जुडेंगे।

 

Leave a Comment