Share
पुरकुल गांव के निकट जंगल में मिला शव, नहीं हो पाई शिनाख्त

पुरकुल गांव के निकट जंगल में मिला शव, नहीं हो पाई शिनाख्त

देहरादून। पुरकुल गांव के निकट अंतरा अपार्टमेंट से कुछ दूरी पर बुधवार को जंगल में शव मिलने से सनसनी फैल गई। स्थानीय लोगों की सूचना पर मौके पर पहुंची राजपुर पुलिस ने इलाके का निरीक्षण किया और मृतक के कपड़ों की तलाशी ली।कुछ ऐसा नहीं मिला, जिसके मृतक की शिनाख्त हो सके।

जंगल में झाड़ियों के बीच जिस तरह से शख्स औंधे मुंह पड़ा था, उससे माना जा रहा है कि शव को कहीं और से लाकर यहां फेंका गया है। पुलिस आसपास के थानों में एक माह के दौरान दर्ज हुई गुमशुदगी के बारे में ब्योरा जुटा रही है।

घटनाक्रम के अनुसार, गुनियाल गांव निवासी दीपक पुंडीर किसी काम से अंतरा अपार्टमेंट के पास के जंगल की ओर गए थे। उन्होंने वहां झाडिय़ों में शव पड़ा देखा, जिससे तेज दुर्गंध उठ रही थी। उन्होंने आसपास के लोगों को एकत्रित करने के साथ ही राजपुर पुलिस को जानकारी दी।

थोड़ी देर में एसपी सिटी पीके राय, सीओ मसूरी बीएस चौहान व एसओ राजपुर अरविंद सिंह मौके पर पहुंच गए। टीम के साथ आई फील्ड यूनिट ने शव का बारीकी से निरीक्षण करने के साथ आसपास के इलाके को गहनता से छान मारा। न तो उसके कपड़ों से कुछ मिला और न ही आसपास के इलाके में कोई ऐसी चीज मिली, जिससे उसकी शिनाख्त हो सके।

शव 15 से 20 दिन पुराना होने से चेहरा बुरी तरह खराब हो चुका है और शरीर काफी फूल गया। मृतक की लंबाई करीब 5 फीट छह इंच पाई गई। उसने नीले रंग की जींस और नीले रंग का स्वेटर पहन रखा था। डाग स्क्वॉयड की टीम ने भी यह जानने की कोशिश की कि मृतक किस ओर से यहां आया, लेकिन कुत्ता थोड़ी दूर जाकर वापस आ गया।

एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि शव की शिनाख्त होने के बाद ही पता चलेगा कि मरने वाले शख्स के साथ हुआ क्या था। इसके लिए आसपास के थानों समेत उत्तराखंड व पड़ोसी राज्यों को मृतक के हुलिए का विवरण भेज दिया गया है।

ट्रेन से कटकर अधेड़ की मौत

मोहकमपुर रेलवे फाटक के पास ट्रैक पार करते एक अधेड़ ट्रेन की चपेट में आ गया। पैर और कमर के पास शरीर के टुकड़े हो जाने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। शख्स की शिनाख्त होने के बाद मौके पर पहुंचे परिजन चीत्कार कर उठे। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

इंस्पेक्टर नेहरू कॉलोनी राजेश शाह ने बताया कि करण सिंह राणा पुत्र स्व. दयाल सिंह राणा निवासी उन्नति विहार चौक, नत्थनपुर, मोहकमपुर रेलवे फाटक के पास ट्रैक पार कर रहे थे। इतने में वह वहां से गुजरी ट्रेन की चपेट में आ गए। ट्रेन के गुजर जाने के बाद स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे और विनोद सिंह निवासी परिजात कॉलोनी, बद्रीपुर ने पुलिस को सूचना दी, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो चुकी थी।

मौके पर गए एसआइ धनीराम पुरोहित ने आसपास के लोगों से मृतक के बारे में जानकारी जुटाई तो उसकी शिनाख्त करण सिंह राणा के रूप में हुई। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची करण की पत्नी व बच्चों समेत अन्य परिजन शव की हालत देख चीत्कार कर उठे। स्थानीय लोगों ने किसी तरह उन्हें संभाला।

चचेरे भाई राजेंद्र सिंह राणा ने बताया कि करण के तीन बेटियां और एक बेटा है। एक बेटी की शादी हो चुकी है, बाकी अविवाहित हैं। परिवार की जिम्मेदारी उसी पर थी। करीब तीन-चार महीने पहले वह अरब से लौटा था, तब से यहीं पर था।

Leave a Comment