Share
फ्रांस ने दिए संकेत, मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराने की उम्मीद

फ्रांस ने दिए संकेत, मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराने की उम्मीद

संयुक्त राष्ट्र  । पुलवामा आतंकी हमले के बाद फ्रांस द्वारा जैश-ए-मुहम्‍मद के प्रमुख मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराने के लिए सुरक्षा परिषद में फिर प्रस्ताव लाए जाने की उम्मीद है। फ्रांस ने संकेत दिया है कि वह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने के लिए प्रस्‍ताव पर काम कर रहा है। फ्रांस के विदेश विभाग ने कहा है कि वह जैश-ए-मुहम्‍मद प्रमुख के खिलाफ प्रस्ताव को प्रतिबंध समिति को स्थानांतरित कर सकता है। बता दें कि फ्रांस सुरक्षा परिषद का वीटो अधिकार प्राप्त सदस्य है।

बता दें कि फ्रांस एक मार्च को औपचारिक तौर पर एक महीने के लिए सुरक्षा परिषद के अध्‍यक्ष की जिम्मेदारी संभालेगा। पंद्रह राष्ट्रों वाली संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता हर माह एक देश से दूसरे देश के हाथ में जाती है और एक मार्च को इसकी अध्यक्षता इक्वेटोरियल गुयाना से फ्रांस के पास चली जाएगी। फांस ने यह संकेत दिया है कि वह अपनी अध्यक्षता के दौरान मसूद अजहर के खिलाफ और कड़े कदम उठाएगा। बता दें कि पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद फ्रांस ने पाकिस्‍तान की निंदा करते हुए कहा था कि उनका देश भारत के औचित्‍य को मान्‍यता देता है।

सूत्रों ने कहा कि फ्रांस, जैश-ए-मुहम्मद के आतंकवादियों को प्रतिबंधित किए जाने के आग्रहों को जल्द से जल्द 1267 प्रतिबंध समिति के समक्ष रखने पर अपना ध्यान केंद्रित कर रहा है। संयुक्त राष्ट्र में पिछले दस वर्षों में चौथी बार यह प्रयास होगा, जिसमें अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने की मांग की जाएगी। बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद फ्रांस ने कहा था कि पाकिस्‍तान को अपने भू-भाग पर सक्रिय आतंकवादी समूहों को संरक्षण देना बंद करे।

फ्रांस ने कहा कि वह आतंकवाद के किसी भी स्‍वरूप के खिलाफ है और उसकी भर्त्‍सना करता है। अधिकारी ने कहा कि फ्रांस आतंकवाद के सभी स्वरूपों के खिलाफ लड़ाई में भारत के साथ है और इस हमले के लिए जिम्मेदार आतंकवादियों पर प्रतिबंध लगाने और उनके वित्तीय नेटवर्क पर रोक लगाने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय को लामबंद करने में पूरी तरह लगा हुआ है।
गौरतलब है कि Pulwama Terror Attack के बाद भारत ने पाकिस्तान में Surgical Strike2 की है। भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान में घुसकर Air Strikes की। वायुसेना ने 12 मिराज 2000 विमानों ने पाकिस्तान में आतंकी कैंपों को ध्वस्त कर दिया। विदेश सचिव विजय गोखले ने मंगलवार सुबह प्रेस कॉन्फ्रेंस करके वायुसेना के इस पराक्रम की पुष्टि की है।

विदेश सचिव ने बताया कि 14 फरवरी को जैश-ए-मुहम्मद के आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) में 40 जवान शहीद हो गए थे। उन्होंने बताया कि इंटेलिजेंस के मुताबिक जैश-ए-मुहम्मद भारत पर और भी फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा था। इन हमलों को रोकने के लिए भारत ने मंगलवार तड़के हवाई हमला किया। इस हमले में बालाकोट में जैश-ए-मुहम्मद का सबसे बड़े कैम्प को तबाह कर दिया।

Leave a Comment