Share
सरोगेसी के मामले में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज

सरोगेसी के मामले में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज

देहरादून : सरोगेसी (किराये की कोख) के मामले में पिछले दो दिनों से माथापच्ची करने के बाद आखिरकार दून पुलिस ने सरोगेट मदर के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया है। मुकदमा दून निवासी दंपति के तहरीर के बाद ऋषिकेश कोतवाली में दर्ज किया गया है।

इस मामले में सरोगेट मदर ने जुड़वा बच्चे होने पर एक बच्चा तो अनुबंध करने वाले दंपती को दे दिया, जबकि दूसरा बच्चा अपने पास रख लिया। अब दंपती दूसरे बच्चे को उनके सुपुर्द करने की मांग कर रहा है। इस प्रकरण में दून पुलिस यह तय नहीं कर पा रही थी कि सरोगेट मदर के खिलाफ किन धाराओं में मामला दर्ज किया जाए

यह प्रकरण पहली बार अप्रैल 2017 में प्रकाश में आया था। पहले हरिद्वार अब दून निवासी एक दंपती ने ऋषिकेश कोतवाली में तहरीर देकर बताया था कि शादी को कई वर्ष होने के बाद भी उन्हें बच्चा नहीं हो रहा था। तब मेरठ के एक व्यक्ति ने उन्हें सरोगेसी के माध्यम से बच्चा करने की सलाह दी थी।

उस व्यक्ति ने उन्हें मेरठ निवासी एक महिला से मिलवाया और वह सरोगेट मदर बनने को सहमत भी हो गई। इसके लिए दोनों के बीच करीब ढाई लाख रुपये में अनुबंध हुआ था। 22 जून 2015 को सरोगेट मां ने मेरठ स्थित एक नर्सिंग होम में जुड़वा बच्चों को जन्म दिया।

इसके बाद एक बच्चे को सरोगेट मदर ने दंपती को सौंप दिया, लेकिन दूसरे बच्चे को मरा हुआ बताकर अपने पास रख लिया। बाद में दंपती को पता चला कि दूसरा बच्चा भी सकुशल है और महिला के पास ही है। तब दंपती बच्चे की मांग को लेकर महिला से मिले, मगर महिला ने बच्चा देने से इंकार कर दिया।

मामला ऋषिकेश कोतवाली पहुंचा तो रफा-दफा कर दिया गया। लेकिन दंपति ने अब दोबारा एसएसपी को पत्र लिखकर दूसरा बच्चा भी उन्हें सौपने की गुहार लगाई। मामला एसएसपी के पास पहुंचा तो पुलिस सरोगेट मदर के खिलाफ कार्रवाई को लेकर उलझन में आ गई। वह इसलिए कि सरोगेसी को लेकर न तो एक्ट है और न कोई प्रावधान। साथ ही इस प्रकार का अन्य मामला अभी तक सामने नहीं आया था।

लिहाजा पुलिस दो दिनों तक इस मामले को लेकर माथापच्ची में जुटी रही। विधि विशेषज्ञों से सलाह करने के बाद आखिरकार पुलिस ने सरोगेसी के एवज में ढाई लाख रुपये लेने व डिलीवरी के बाद हुए जुड़वा बच्चों में से एक बच्चे का छिपाने के आरोप में सरोगेट मदर के खिलाफ धोखाधड़ी में मुकदमा दर्ज कर लिया।

एसएसपी (देहरादून) निवेदिता कुकरेती का कहना है कि इस मामले में सभी पहलुओं पर विचार किया गया और विधि विशेषज्ञों से राय ली गई। मामले में दंपती के साथ धोखाधड़ी प्रतीक हुई है। लिहाजा सरोगेट मदर के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

Leave a Comment