Share
जालसाजों ने एटीएम क्लोनिंग के जरिये दस बैंक खातों से उड़ाए 3.85 लाख रुपये

जालसाजों ने एटीएम क्लोनिंग के जरिये दस बैंक खातों से उड़ाए 3.85 लाख रुपये

देहरादून। एटीएम क्लोनिंग के जरिये शनिवार को दून के दस बैंक खातों से जालसाजों ने 3.85 लाख रुपये उड़ा दिए। यह वारदात तब सामने आई, जब लोगों के खातों से अचानक पैसे निकलने शुरू हो गए। एटीएम कार्ड पास होने के बाद भी हुए ट्रांजेक्शन से हड़कंप मच गया और लोग आनन-फानन में बैंक पहुंचे। अधिकारियों को इस बात की जानकारी दी। जिन लोगों के खातों से रकम निकाली गई थी, उन्होंने रिंग रोड स्थित इंडियन ओवरसीज बैंक के एटीएम से आठ दिसंबर से लेकर नौ दिसंबर के बीच निकासी की थी। बैंक अफसरों और पुलिस ने एटीएम के सीसीटीवी फुटेज की जांच की तो दो युवक एटीएम में स्कीमर लगाते और निकालते दिख गए। मामले में आइटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर जालसाजों की तलाश शुरू कर दी गई है।

अब तक की छानबीन में सामने आया है कि दो युवक आठ दिसंबर की रात पौने दस बजे इंडियन ओवरसीज बैंक के रिंग रोड स्थित एटीएम में दाखिल होते हैं। दोनों इत्मीनान से एटीएम में स्कीमर और खुफिया कैमरा फिट करते हैं और चुपके से निकल जाते हैं। इस 24 घंटे के दौरान लोग बेफिक्र होकर इस एटीएम से पैसे निकालते हैं। शनिवार को इंडियन ओवरसीज बैंक की खाताधारक पूजा बिष्ट के खाते से अचानक 40 हजार रुपये निकल गए। एसएमएस अलर्ट चेक किया तो उनके होश उड़ गए।

उन्होंने बैंक जाकर पूरी बात बताई, जिसके बाद बैंक मैनेजर नरेंद्र राणा ने चेन्नई स्थित बैंक के केंद्रीय कार्यालय से संपर्क कर पूजा के अकाउंट की डिटेल बताई। केंद्रीय कार्यालय ने बताया कि उनके अकाउंट से आंध्रा बैंक निरंजनपुर के एटीएम से सोमवार दोपहर 3.05 बजे से 3.30 बजे के बीच रकम निकाली गई है। इस जानकारी के बाद संदेह पुख्ता हो गया कि पूजा के एटीएम कार्ड का क्लोन तैयार कर पैसे निकाले गए हैं।

बैंक अधिकारी इस मामले की पड़ताल कर ही रहे थे कि नेहरू कॉलोनी थाने पर नौ और लोग खाते से रकम निकाले जाने की शिकायत लेकर पहुंच गए। इंस्पेक्टर राजेश शाह ने बताया कि इन सभी लोगों ने बताया कि आठ दिसंबर की रात से लेकर नौ दिसंबर की रात दस बजे के बीच रिंग रोड स्थित इंडियन ओवरसीज बैंक के एटीएम से पैसे निकाले थे। इसके बाद पुलिस ने इंडियन ओवरसीज बैंक से संपर्क किया और एटीएम के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज निकलवाई। फुटेज में आठ दिसंबर की रात पौने दस बजे दो युवक एटीएम में स्कीमर और कैमरा फिट करते दिख गए। लगातार फुटेज देखने पर पता चला कि स्कीमर और कैमरा 24 घंटे तक लगा रहा है, जिसे नौ दिसंबर की रात पौने दस बजे निकाला गया।

हरिद्वार की ओर भागे जालसाज

एटीएम कार्ड का डाटा चोरी करने के बाद जालसाजों ने दून के अलग-अलग एटीएम से पैसे निकालने के बाद हरिद्वार भाग गए। हरिद्वार में पीएनबी और केनरा बैंक के अलग-अलग एटीएम से पैसे की निकासी की गई। इसके आधार पर पुलिस हरिद्वार रोड पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। साथ ही उन एटीएम की फुटेज बैंकों से मांगी गई है, जहां से जालसाजों ने क्लोन के जरिये तैयार कार्ड से निकासी की है।

 

Leave a Comment