Share
पहाड़ से लेकर मैदान तक ठण्ड का कहर, पर्वतीय क्षेत्रों में पाइप लाइनों में जमा पानी

पहाड़ से लेकर मैदान तक ठण्ड का कहर, पर्वतीय क्षेत्रों में पाइप लाइनों में जमा पानी

देहरादून। उत्तराखंड को शीतलहर के प्रकोप से निजात नहीं मिल पा रही है। दून के न्यूनतम तापमान में बीते दिन के मुकाबले शनिवार को मामूली बढ़ोत्तरी हुई, लेकिन ठिठुरन में कोई कमी नहीं आई। यहां तापमान सामान्य से दो डिग्री नीचे 3.5 डिग्री सेल्सियस रहा। जबकि, अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस अधिक 21.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। उधर, बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में अधिकतम तापमान भी शून्य से नीचे रिकॉर्ड किया जा रहा है।

कड़ाके की ठंड से पर्वतीय क्षेत्रों में कई जगह पाइप लाइनों में पानी जम गया है। शनिवार को प्रदेश में अल्मोड़ा सबसे ठंडा रहा। यहां न्यूनतम तापमान शून्य से 4.9 डिग्री सेल्सियस नीचे रिकॉर्ड किया गया। पहाड़ से लेकर मैदान तक हालात एक जैसे ही हैं। हालांकि, शनिवार को तापमान में मामूली सुधार अवश्य हुआ, लेकिन ठंड बरकरार है।

प्रदेश में अल्मोड़ा के अलावा कुमाऊं के पंतनगर और पिथौरागढ़ में तापमान अभी भी शून्य से नीचे है। इसके अलावा आठ शहरों में तापमान दो डिग्री सेल्सियस से भी कम रहा। उत्तरकाशी, अल्मोड़ा, पिथौरागढ़, पौड़ी, चमोली और रुद्रप्रयाग जिलों के ऊंचाई वाले इलाकों में कई जगह प्राकृतिक स्रोत भी जम गए हैं। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि मैदानी क्षेत्रों, विशेषकर हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में देर रात से सुबह तक घने कोहरे की आशंका है।

Leave a Comment