Share
यात्रियों की बढ़ती तादाद को देखते हुए बदरी-केदार में बढ़ाया गया दर्शन का समय

यात्रियों की बढ़ती तादाद को देखते हुए बदरी-केदार में बढ़ाया गया दर्शन का समय

रुद्रप्रयाग: केदारनाथ में श्रद्धालुओं के सैलाब को देखते हुए दोपहर में दर्शनों का समय बढ़ाया गया है। वर्ष 2013 की आपदा के बाद पहली बार इतनी बड़ी संख्या में यात्री केदारनाथ पहुंच रहे हैं। रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि यात्रियों की तादाद को देखते हुए बदरी-केदार में मंदिर समिति से बात करने के बाद दोपहर में दर्शनों का समय करीब डेढ़ घंटे बढ़ाया गया है।

आमतौर पर केदारनाथ के कपाट सुबह छह बजे से दोपहर बाद तीन बजे तक दर्शनों के लिए खुलते हैं। इसके बाद तीन से पांच बजे तक इन्हें बंद रखा जाता है। इस दौरान भगवान को भोग लगाने के साथ ही श्रृंगार करने की परंपरा है। इसके अलावा मंदिर की साफ-सफाई भी की जाती है। दो घंटे बाद मंदिर के कपाट फिर खोल दिए जाते हैं और रात करीब साढ़े आठ बजे तक श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खुले रहते हैं।

इस वर्ष स्थिति थोड़ी भिन्न है। केदारनाथ के कपाट पिछले माह 29 अप्रैल को खोले गए थे और पहले ही दिन 25 हजार श्रद्धालु यहां पहुंचे। तब से अब तक करीब दो लाख से ज्यादा श्रद्धालु केदारनाथ पहुंच चुके हैं। जबकि वर्ष 2017 में इतनी अवधि में एक लाख 70 हजार श्रद्धालु आए थे। इसे देखते हुए प्रशासन ने मंदिर समिति से बातचीत कर दर्शनों के समय में करीब डेढ़ घंटे की वृद्धि की है।

अब श्रद्धालु तीन से साढ़े चार बजे तक भी दर्शन कर रहे हैं। डीएम के अनुसार केदारनाथ में प्रतिदिन सात हजार यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था उपलब्ध है। ऐसे में प्रशासन का प्रयास है कि सीमति संख्या में ही यात्री यहां रात्रि विश्राम के लिए ठहरें।

Leave a Comment