Share
राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा जम्मू कश्मीर में निवेश के लिए पूरे देश से प्रस्ताव आ रहे

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा जम्मू कश्मीर में निवेश के लिए पूरे देश से प्रस्ताव आ रहे

Jammu Kashmir: राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा जम्मू कश्मीर में निवेश के लिए पूरे देश से प्रस्ताव आ रहे

जम्मू,  जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटते ही देश भर से बड़ी कंपनियां जम्मू-कश्मीर में निवेश के लिए प्रस्ताव भेज रही हैं। इससे यह स्पष्ट हो जाता है कि अगले कुछ सालों में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विकास की गति तेज होगी। मार्च में जम्मू-कश्मीर में इन्वेस्टर्स समिट का भी आयोजन होने जा रहा है। यहां की जनता को केंद्र सरकार पर विश्वास रखना होगा। जम्मू कश्मीर स्वर्ग है और आने वाले सालों में ये देश का सबसे सुंदर और बढ़िया राज्य होगा।

जम्मू-कश्मीर की जनता को इस बात का विश्वास दिलाते हुए राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि जहां तक सरकारी नौकरियों की बात है तो मुख्य सचिव को सभी रिक्त पदों को भरने के लिए कह दिया गया है। राज्य की वर्तमान स्थिति पर मलिक ने कहा कि ईद शांतिपूर्ण ढंग से मनाई जा रही है। एयरपोर्ट पर दो बसें चौबीस घंटे तैनात हैं। दो महीने का राशन है। मोबाइल वैन भी राशन के लिए भेजी जा रही हैं। पेट्रोल, डीजल और केरोसिन का 60 दिनों का स्टाक है। 1600 कर्मचारी सफाई में लगे हैं, पूरे जम्मू कश्मीर में 10 हजार कर्मचारी लोगों की मदद में तैनात हैं। सभी बैंक खुले हुए हैं। कश्मीर के 22 हजार बच्चे बाहर पढ़ते हैं, हमारे अधिकारी उन राज्यों में तैनात हैं। डिप्टी कमिश्नर के ऑफिस में टेलीफोन की फ्री लाइन लगाई गई है, लगभग 500 लोग हर दिन फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं।

पाक ने गड़बड़ी की तो सीमा पर नहीं, अंदर घुसकर उनसे मिलेंगे

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी कि अगर उसने इस बार कुछ गड़बड़ करने की कोशिश की तो सीमा पर नहीं, अंदर घुसकर उनसे मिलेंगे। इस बार इतनी तैयारी है कि पाकिस्तान को सीमा पर कोई गड़बड़ी करने नहीं देंगे। पाकिस्तान द्वारा भारत के साथ रिश्ते खत्म करने पर उन्होंने कहा कि रिश्ते और व्यापार खत्म करने से हमारा कुछ नहीं बिगड़ेगा। ये पाकिस्तान के ही पक्ष में नहीं है। उन्होंने कहा कि सीमा पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी है। भारतीय जवान मुस्तैदी से डटे हैं। पाकिस्तान की हर नापाक साजिश को मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।

कश्मीर के दो परिवारों की संपत्ति की होगी जांच

राज्यपाल ने यह स्पष्ट संकेत दिए कि कश्मीर के दो प्रमुख परिवारों की संपत्ति की जांच करवाने को लेकर वे केंद्र सरकार को चिट्ठी लिख चुके हैं। ये जो दो परिवार हैं उनसे लोगों को काफी शिकायतें थीं। इनकी वजह से नौकरियों में भ्रष्टाचार था। जम्मू कश्मीर बैंक में नियुक्तियों की गड़बड़ी का खुलासा हुआ। केंद्र सरकार अवैध संपत्ति, टेरर फंडिंग आदि की जांच कर रही है। अगर केंद्र की एजेंसियां दो राजनीतिक परिवारों की संपत्ति की जांच करेंगी तो वे जेल जाएंगे। पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती पर राज्यपाल ने कहा कि अनुच्छेद 370 हटाने पर उन्होंने जो दुष्प्रचार किया था, अब लोग धीरे-धीरे उसे समझ रहे हैं। 370 हटना जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के विकास की राह है। 370 हटने के बाद राज्य में कहीं कोई प्रदर्शन नहीं हुआ। राज्यपाल ने युवाओं से अनुरोध किया कि वे राजनीति में आगे आएं और अपने राज्य को आगे बढ़ाएं।

कश्मीरी पंडितों के लिए 6000 मकान तैयार

जम्मू कश्मीर में छह हजार मकान कश्मीरी पंडितों के लिए तैयार हैं, वो उन्हें फ्री दिए जाएंगे, बाकी जो कश्मीरी पंडित कहेंगे वो हम करेंगे। हम सभी को सस्ते दरों पर मकान देंगे। बिना कश्मीरी पंडितों के कश्मीर पूरा नहीं होता। राहुल गांधी के बयान पर सत्यपाल मलिक ने कहा कि अधीर रंजन चौधरी के बयान के बाद कांग्रेस का इस देश में कोई भविष्य नहीं है।

Leave a Comment