Share
हंगामे के बीच उत्तराखंड का बजट सत्र स्थगित

हंगामे के बीच उत्तराखंड का बजट सत्र स्थगित

देहरादून: उत्तराखंड विधानसभा का बजट सत्र आज से शुरू हो गया। नेता प्रतिपक्ष ने एनएच घाटाले को 310 के तहत सुनने की मांग की। स्पीकर ने प्रश्नकाल के बाद सुनने की बात कही। नेता प्रतिपक्ष पहले सुनने की मांग पर अड़ी हैं। विपक्ष ने नितिन गडकरी की की चिट्ठी सदन में लहराकर कहा सीधी धमकी दे रहा है केंद्र। कैबिनेट मंत्री मैदान कौशिक ने कहा सीबीआई जांच की संस्तुतिकी जा चुकी है।

संसदीय कार्य मंत्री प्रकाश पंत ने कांग्रेश के नोटिस का हवाला देते हुए कहा कि मामला अदालत में लंबित है। इसलिए इस मामले को 310 में नहीं सुना जा सकता। विपक्ष ने नारेबाजी शुरू की। सीबीआई जांच की मांग को लेकर सदन में चर्चा की मांग को लेकर विधायकों ने वेल में नारेबाजी की। कुमाऊं कमिश्नर को हटाए जाने पर भी आरोप लगाया। हंगामे के बीच सदन स्थगित किया है।

संसदीय कार्य व वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने बताया कि गुरुवार शाम चार बजे बजट पेश किया जाएगा। नौ जून को बजट पर सामान्य चर्चा की जाएगी। 10 और 11 जून के अवकाश के बाद 12 जून को बजट पर सामान्य चर्चा होगी। 13 जून से 15 जून तक विभागवार अनुदान मांगों के प्रस्तुतिकरण के साथ ही इन पर चर्चा एवं मतदान कराया जाएगा। 15 जून को ही विनियोग विधेयक पारित कराया जाएगा।

16 जून को विधायी कार्य व असरकारी कार्य किए जाएंगे। 17 व 18 जून को अवकाश रहेगा। 19 व 20 जून को विधायी कार्य किए जाएंगे। बजट सत्र में विशेष यह रहेगा कि इस बार विधायकों ने रिकॉर्ड 600 प्रश्न लगाए हैं। इसके अलावा चकबंदी समिति के लिए उत्तराखंड राज्य विधानमंडल अनहर्ता निवारण संशोधन विधेयक, जीएसटी के लिए उत्तराखंड मूल्य परिवर्तन कर संशोधन विधेयक तथा सरदार भगवान सिंह विश्वविद्यालय विधेयक पेश किए जाएंगे।

धरने पर बैठे कांग्रेसी, किया प्रदर्शन

आज गैरसैंण में बजट सत्र आहूत न करने के विरोध में कांग्रेसियों ने प्रदर्शन किया। विधानसभा के समक्ष उनका धरने का कार्यक्रम था। विधानसभा से पहले ही पुलिस ने कांग्रेस नेताओं को रोक दिया। इस पर पूर्व सीएम हरीश रावत, प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल, विधायक करण महरा समेत कई नेता सड़क पर ही धरने पर बैठे गए।

Leave a Comment