Share
हरिद्वार महाकुंभ 2021 प्रयागराज कुंभ से भी अधिक दिव्य और भव्य होगा

हरिद्वार महाकुंभ 2021 प्रयागराज कुंभ से भी अधिक दिव्य और भव्य होगा

हरिद्वार। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि संतों के आशीर्वाद से महाकुंभ 2021 प्रयागराज कुंभ से भी अधिक दिव्य और भव्य होगा। सरकार महाकुंभ को निर्विघ्न संपन्न कराने को कटिबद्ध है।

उत्तरी हरिद्वार स्थित जयराम आश्रम में ब्रह्मलीन स्वामी देवेंद्र स्वरूप ब्रह्मचारी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे मुख्यमंत्री रावत ने उन्हें त्याग और तपस्या की प्रतिमूर्ति बताया। उनके बताए मार्गों का अनुसरण करते हुए जयराम आश्रम के परमाध्यक्ष स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी धर्म ही नहीं शिक्षा और चिकित्सा के क्षेत्र में भी निर्णायक भूमिका निभा रहे हैं। राष्ट्रहित में किए योगदान अवश्य ही प्रसिद्धि दिलाने के माध्यम होते हैं। शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि जयराम आश्रम से संचालित सेवा के प्रकल्पों का लाभ गरीब, असहाय, निर्धन परिवारों को मिल रहा है।

सामाजिक क्षेत्र में अनुकरणीय योगदान जयराम आश्रम का है। उन्होंने ब्रह्मलीन स्वामी देवेंद्र स्वरूप ब्रह्मचारी को समाज सेवा का पुरोधा बताया। स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी ने कहा कि ब्रह्मलीन स्वामी देवेंद्र स्वरूप ब्रह्मचारी महाराज ने हमेशा ही सेवा के प्रकल्पों को संचालित रख मानव सेवा का संदेश दिया। उनके अधूरे कार्यों को ट्रस्ट के माध्यम से संचालित किया जा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री से प्रदेश में संस्कृत शिक्षा को बढ़ावा देने की मांग भी की।

श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के अध्यक्ष श्रीमहंत ज्ञानदेव सिंह महाराज ने ब्रह्मलीन स्वामी देवेंद्र स्वरूप ब्रह्मचारी को पुण्यात्मा बताते कहा कि उनके सेवा के प्रकल्प आज भी समाज को गति प्रदान कर रहे हैं। समाज सेवा में दिया गया योगदान अवश्य ही लाभदायक होता है। श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के श्रीमहंत रघुमुनि महाराज ने कहा कि संत के जीवन से समाज को प्रेरणा मिलती है। महामंडलेश्वर स्वामी हरिचेतनानंद महाराज ने कहा कि मनुष्य कल्याण में संत समाज निर्णायक भूमिका निभाता चला आ रहा है।

Leave a Comment