Share
नोटे्र डाम कैथेड्रल चर्च के पुनर्निर्माण के लिए मिली मदद, अब तक 100 करोड़ यूरो जमा

नोटे्र डाम कैथेड्रल चर्च के पुनर्निर्माण के लिए मिली मदद, अब तक 100 करोड़ यूरो जमा

पेरिस। फ्रांस की राजधानी पेरिस में स्थित 12वीं सदी का नोटे्र डाम कैथेड्रल चर्च सोमवार को भीषण आग में तबाह हो गया। आग से चर्च की पूरी छत और मीनारें ध्वस्त हो गईं। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने देशवासियों से वादा किया है कि वह पांच साल के भीतर 850 साल पुराने इस ऐतिहासिक चर्च का पुनर्निर्माण कराएंगे। उन्होंने इस चर्च को देश की आत्मा करार दिया। चर्च के पुनर्निर्माण के लिए मदद मिलने लगी है, दूसरे दिन अब तक 100 करोड़ यूरो की मदद मिल चुकी है। फायर ब्रिगेड के प्रमुख जीन-क्लाउड गैलेट ने मंगलवार को कहा, ‘नोट्रे डाम कैथेड्रल चर्च के मुख्य ढांचे और दो बेल टावर्स को बचा लिया गया है। लेकिन पूरी छत नष्ट हो गई और मुख्य मीनार भी नहीं बची।’

आग का कारण स्पष्ट नहीं

ऐतिहासिक चर्च में आग लगने का कारण अभी साफ नहीं हो पाया है। चर्च में बड़े पैमाने पर जीर्णोद्धार का काम चल रहा था। जांच अधिकारियों ने जीर्णोद्धार में लगे मजदूरों से पूछताछ की, लेकिन अधिकारियों ने किसी भी तरह की अनहोनी से इन्कार कर दिया और फिलहाल इसे एक हादसा बताया है।

युद्धों में सुरक्षित रहा था चर्च

एक पुल से धू-धू कर जलते चर्च को देखने वाले कंसल्टेंट स्टीफन सिग्नेयूरी ने कहा, ‘नोट्रे डाम कैथेड्रल सभी युद्धों और बमबारी में बचा रहा। हमने यह कभी नहीं सोचा था कि यह आग में तबाह हो सकता है।’

यूनेस्को की विश्व धरोहरों में शामिल

यूनेस्को ने 1991 में इस चर्च को विश्व धरोहरों की सूची में शामिल किया था। इस चर्च का निर्माण साल 1163 से 1345 के बीच कराया गया था। चर्च को देखने के लिए हर साल एक करोड़ से ज्यादा सैलानी आते हैं।

कई राष्ट्राध्यक्षों ने जताया दुख

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर चर्च में आग लगने पर दुख जताया और कहा, ‘भीषण आग को देखना बहुत दुखद है।’ जबकि जर्मनी की चांसलर एंजिला मर्केल ने इस चर्च को यूरोपीय संस्कृति का प्रतीक बताया। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुतेरस और वेटिकन ने भी दुख व्यक्त किया है।

चर्च के पुनर्निर्माण के लिए अब तक 100 करोड़ यूरो मिले

इस ऐतिहासिक चर्च के पुनर्निर्माण के लिए फ्रांस के अरबपति से लेकर कारोबारी और निजी-सरकारी कंपनियां दिल खोलकर मदद का एलान कर रही हैं। फ्रांस के अरबपति कारोबारी बर्नार्ड अर्नाल्ट ने मंगलवार को कहा कि उनका परिवार और उनकी कंपनी चर्च के पुनर्निर्माण में 20 करोड़ यूरो (करीब 1570 करोड़ रुपये) का योगदान देगा। अर्नाल्ट एलवीएमएच के चेयरमैन और सीईओ हैं। यह लक्जरी सामान बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है। वहीं, लक्जरी सामान बनाने वाली फ्रांस की कंपनी र्केंरग ने भी 10 करोड़ यूरो की मदद का एलान किया है। तेल क्षेत्र की बड़ी कंपनी टोटल ने भी 10 करोड़ यूरो देने की घोषणा की है।

कॉस्मेटिक सामान बनाने वाली दुनिया भर में मशहूर लॉरियल 20 करोड़ यूरो देगी। इंवेस्टर मार्क लैड्रेइय एक करोड़ यूरो, और कंस्ट्रक्शन कंपनी मार्टिन व ओलिवर भी एक करोड़ यूरो की मदद करेगी। एप्पल ने भी मदद की घोषणा की है, लेकिन उसने रकम नहीं बताई है। वहीं एयर फ्रांस ने पुनर्निर्माण के लिए आने वाले विशेषज्ञों को मुफ्त यात्रा की सुविधा देने का एलान किया है।

Leave a Comment