Share
स्लॉटर हाउस चलने की जानकारी मिली तो होगी तत्काल कार्रवाई

स्लॉटर हाउस चलने की जानकारी मिली तो होगी तत्काल कार्रवाई

देहरादून: प्रदेश सरकार स्लॉटर हाउस को लेकर सख्त नजर आ रही है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने साफ किया कि प्रदेश में स्लॉटर हाउस की अनुमति नहीं दी जाएगी। यदि किसी भी जिले में स्लॉटर हाउस चलने की जानकारी मिली तो तत्काल कार्रवाई होगी। सीएम ने पूर्ववर्ती प्रदेश सरकार को भी निशाने पर लेते हुए कहा कि 2016 में जारी एक स्लॉटर हाउस का लाइसेंस निरस्त कर दिया गया है।

पशुपालन निदेशालय की ओर से शनिवार को हुए एक कार्यक्रम में पहुंचे सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि गोवंश की सेवा होनी चाहिए, न कि उनके साथ अन्याय। प्रदेश सरकार गोवध के खिलाफ है। इस दिशा में तेजी से काम भी किया जा रहा है। सीएम ने कहा कि उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को जिलों में स्लॉटर हाउस नहीं खुलने देने के सख्त निर्देश दिए हैं। यह भी सुनिश्चित करने को कहा है कि यदि किसी को गलत तरीके से लाइसेंस जारी किया गया है तो वह तत्काल निरस्त कर दिया जाए। सीएम ने पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के समय हरिद्वार जिले के मंगलौर में एक स्लॉटर हाउस का लाइसेंस जारी करने का भी जिक्र किया।

बताया कि उन्हें जैसे ही जानकारी मिली, उन्होंने तुरंत लाइसेंस निरस्त करवा दिया। इस संबंध में डीएम को भी सख्त कार्रवाई के लिए निर्देशित किया है। यह भी कहा गया कि यदि किसी तरह का अनावश्यक दबाव भी आता है तो वह सीधे मुझे बताएं। सीएम ने खुद को गोभक्त बताने वालों को भी नसीहत दे डाली। उन्होंने कहा कि यदि आपको लगता है कि सिर्फ आप ही गोभक्त हैं तो यह गलतफहमी है। क्योंकि जो भी हिंदू है, उसकी गोमाता के प्रति अटूट श्रद्धा है। किसी को दूसरे की भक्ति-आस्था पर सवाल खड़े करने का हक नहीं है।

Leave a Comment