Share
अगर आप स्वस्थ रहना चाहते हो तो ध्यान रखे ये ज़रूरी बाते

अगर आप स्वस्थ रहना चाहते हो तो ध्यान रखे ये ज़रूरी बाते

एक नए अध्ययन के मुताबिक सुबाह का नाश्ता करने से पहले एक्सरसाइज़ करना ही अच्छी सेहत का राज़ है। इसमें पाया गया कि अगर आप अपने खाने और वर्कआउट करने के समय में कुछ बदलाव करें तो आप ब्लड शुगर लेवल को ज़्यादा बेहतर तरीके से कन्ट्रोल कर पाएंगे।

क्या आप भी फिटनेस फ्रीक हैं? तो आपके लिए एक बात नोट करना ज़रूरी है। शोधकर्त्ताओं ने पाया कि नाश्ता करने से पहले वर्कआउट करना फायदेमंद साबित होता है। ऐसा करने से आपके शरीर को एक्सरसाइज़ का ज़्यादा लाभ मिलेगा।

ये शोध, क्लीनिकल ​​एंडोक्रिनोलॉजी और चयापचय के जर्नल में प्रकाशित हुआ था। इसके अंतर्गत बाथ और बर्मिंघम के विश्वविद्यालयों ने पाया कि अपने खाने और एक्सरसाइज़ करने के समय में बदलाव करने से ब्लड शुगर लेवल को ज़्यादा बेहतर तरीके से कन्ट्रोल किया जा सकता है।

ऐसा था नतीजा 

बाथ यूनीवर्सिटी के शोधकर्ता ज़ेवियर गोनज़ालेज़ ने कहा, “हमने पाया कि एक्सरसाइज़ से पहले नाश्ता करने वालों की तुलना में जिन पुरुषों ने नाश्ता करने से पहले एक्सरसाइज़ की उन्होंने ज़्यादा फैट घटाया। हमारे शोध का नतीजा ये निकला कि जब आप जब अपने व्यायाम और खाने का सही समय अपनाते हैं तो आपके स्वास्थ्य में गहरा और सकारात्मक बदलाव दिखता है।”

छह हफ्तों तक चले इस अध्ययन, में 30 मोटापे या अधिक वज़न के शिकार पुरुषों में से जो नाश्ते से पहले एक्सरसाइज़ करते थे, उन्होंने बाद में व्यायाम करने वाले के मुकाबले दोगुना वज़न घटाया।

अध्ययन में जो लोग शामिल थे उन्हें दो ग्रुप में बांटा गया। एक वो जिन्होंने अपनी लाइफस्टाइल में बदलाव कर एक्सरसाइज़ के बाद ही कुछ खाया और दूसरे वह जिन्होंने अपनी जीवनशैली में कोई बदलाव नहीं किया और एक्सरसाइज़ से पहले नाश्ता करना जारी रखा। उसके बाद इन दो ग्रुप्स के नतीजों को आंकलन किया गया।

इसमें पाया गया कि जिन लोगों डिनर के बाद सीधे दूसरे दिन सबसे पहले व्यायाम किया उनके शरीर ने ऊर्जा के लिए पहले से जमा फैट का इस्तेमाल किया। इसका मतलब यह हुआ कि खाली पेट एक्सरसाइज़ करने से शरीर में पहले से मौजूद फैट घट गया। वहीं, इससे अगले 6 हफ्तों तक वज़न में कोई बदलाव तो नहीं हुआ लेकिन उनकी सेहत में सुधार ज़रूर देखा गया। उनके शरीर ने ब्ल्ड शुगर के स्तर को बेहतर तरीके से नियंत्रण में रखा। इससे डायबिटीज़ और हृदय रोग जैसी बीमारियों का जोखिम भी कम हुआ।

इसके अलावा इस छह सप्ताह के परीक्षण में, शोध दल ने पाया कि नाश्ते से पहले व्यायाम करने वाले ग्रुप की तुलना में नाश्ते से पहले व्यायाम करने वाले ग्रुप की मांसपेशियां ने इंसुलिन को बेहतर तरीके से प्रतिक्रिया दी। जबकि दोनों ग्रुप्स ने एक जैसी एक्सरसाइज़ और खाने का सेवन किया था।

जो लोग नाश्ते से पहले व्यायाम कर रहे थे, उनमें भी महत्वपूर्ण प्रोटीन की अधिक मात्रा देखी गई। खासकर वह जो रक्तप्रवाह से ग्लूकोज़ के परिवहन में शामिल होते हैं।

Leave a Comment