Share
तेलंगाना में राज्यपाल ने राजभवन में दस विधायकों को पद और गोपनीयता की दिलाई शपथ, एक भी महिला नहीं शामिल

तेलंगाना में राज्यपाल ने राजभवन में दस विधायकों को पद और गोपनीयता की दिलाई शपथ, एक भी महिला नहीं शामिल

हैदराबाद। तेलंगाना विधानसभा चुनाव के दो महीने बाद मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने मंगलवार को कैबिनेट का विस्तार किया। राज्यपाल ई.एस.एल नरसिम्हन ( E.S.L. Narasimhan) ने राजभवन में दस विधायकों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। जिन 10 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई उनमें पांच पिछले कैबिनेट में भी शामिल थे, जबकि पांच विधायक पहली बार मंत्री बने हैं। मंत्रिमंडल विस्तार में एक भी महिला को शामिल नहीं किया गया है। बता दें कि तेलंगाना में मुख्यमंत्री को लेकर कुल 18 मंत्री बनाए जा सकते हैं। लोकसभा चुनाव के बाद एक बार फिर कैबिनेट का विस्तार किया जा सकता है।

इन मंत्रियों को दिलाई गई शपथ
केसीआर मंत्रिमंडल में मंगलवार को शपथ लेने वाले मंत्रियों में ए. इंद्रकरन रेड्डी, एटाला राजेंदर, कोप्पुला ईश्वर, टी. श्रीनिवास यादव, वी. प्रशांत रेड्डी, एस. निरंजन रेड्डी, वी. श्रीनिवास गौड़, ई. दयाकर राव, मल्ला रेड्डी और जी. जगदीश्वर रेड्डी शामिल हैं। नवनियुक्त मंत्रियों में कोई महिला शामिल नहीं की गई है। इससे पहले भी कैबिनेट में महिलाओं का कोई प्रतिनिधित्व नहीं था। इस मंत्रिमंडल में केसीआर ने अपने बेटे के.टी रामा राव और भतीजे हरीश राव को भी शामिल नहीं किया है।

इसलिए नहीं मिली मंत्रिमंडल में जगह
टीआरएस सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री केसीआर के बेटे के.टी. रामा राव और भतीजे हरीश राव लोकसभा चुनाव का प्रचार कर सकते हैं। माना जा रहा है कि इन दोनों को लोकसभा का टिकट भी मिल सकता है। इसलिए उन्हें मंत्रिमंडल में जगह नहीं दी गई। हरीश राव ने कहा कि कैबिनेट में जगह नहीं मिलने से उन्हें कोई दुख नहीं है और वह पार्टी में अनुशासित कार्यकर्ता के रूप में काम करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि वह मुख्यमंत्री के निर्देशों का पालन करेंगे।

विधानसभा चुनाव में टीआरएस को मिली थी बड़ी सफलता
बता दें कि तेलंगाना में 119 विधानसभा सीट के लिए सात दिसंबर को चुनाव हुआ था। चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को घोषित किए गए थे। चुनाव में तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) को बहुत भारी सफलता मिली थी। शानदार प्रदर्शन करते हुए टीआरएस ने 88 सीटों पर जीत दर्ज की थी। चंद्रशेखर राव ने 13 दिसंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। वहीं, मोहम्मद महमूद अली एकमात्र मंत्री थे जिन्हे शपथ दिलाई गई थी।

मोहम्मद महमूद अली को राज्य के गृह मंत्री का पोर्टफोलियो दिया गया है। इसके बाद माना जा रहा था कि तेलंगाना में मंत्रिमंडल का विस्तार जनवरी महीने में किया जाएगा लेकिन अब जाकर मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ।

Leave a Comment