Share
रुड़की में होने वाले दीक्षांत समारोह में छात्र-छात्राएं पारंपरिक वेशभूषा में आएंगे नजर

रुड़की में होने वाले दीक्षांत समारोह में छात्र-छात्राएं पारंपरिक वेशभूषा में आएंगे नजर

रुड़की, हरिद्वार : आइआइटी (भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान) रुड़की में होने वाले दीक्षांत समारोह में इस वर्ष छात्र-छात्राएं पूरी तरह पारंपरिक वेशभूषा में नजर आएंगे। डिग्री प्राप्त करने वाली छात्राएं जहां साड़ी पहनकर समारोह की शोभा बढ़ाएंगी, वहीं छात्र लंबा कुर्ता और चूड़ीदार पजामी में अलग ही छटा बिखेरेंगे। संस्थान की कन्वोकेशन ड्रेस कमेटी की ओर से इस साल की दीक्षांत समारोह पोशाक में यह बदलाव किया गया है। दो-दिवसीय दीक्षांत समारोह छह और सात अक्टूबर को होगा। समारोह के पहले दिन यूजी और दूसरे दिन पीजी एवं पीएचडी के छात्र-छात्राओं को डिग्री प्रदान की जाएंगी।

वर्ष 2017 में आइआइटी रुड़की ने दीक्षांत समारोह की पोशाक में ऐतिहासिक बदलाव किया था। इससे पहले तक दीक्षांत समारोह में प्रोफेसर और छात्र-छात्राएं अंग्रेजों के जमाने की पोशाक गाउन पहनते थे। लेकिन, बीते वर्ष दीक्षांत समारोह की नई पोशाक घोषित कर इसमें सफेद कुर्ता, काला ट्रॉउजर, स्टॉल और चमड़े के काले जूते शामिल किए गए थे। इसमें छात्राओं को कुर्ते के साथ ट्रॉउजर  पहननी थी। उस वक्त सीनेट की बैठक में तय हुआ था कि फीडबैक के अनुसार अगले वर्ष के लिए इसमें बदलाव भी किया जा सकता है। ऐसे में कन्वोकेशन ड्रेस कमेटी की ओर से विचार-विमर्श करने के बाद इस वर्ष होने वाले दीक्षांत समारोह की पोशाक में फिर से बदलाव किया गया है।

आइआइटी रुड़की के डीन अकादमिक प्रो. एनपी पाढ़ी के अनुसार इसके तहत छात्राओं की दीक्षांत समारोह की पोशाक गोल्डन बॉर्डर वाली ऑफ व्हाइट साड़ी एवं ब्लाउज होगा। जबकि, छात्र ऑफ व्हाइट लॉन्ग कुर्ता व चूड़ीदार पजामी पहनेंगे। इसके अलावा बीटेक, बी.आर्क, एमटेक, एमएससी, एमबीए और पीएचडी के छात्रों के लिए अलग-अलग रंगों के अंगवस्त्र होंगे। छात्राओं को साड़ी और छात्रों को कुर्ता संस्थान से मिलेगा। जबकि, छात्राओं को ब्लाउज व छात्रों को चूड़ीदार पजामी खुद लानी होगी। छात्रों के कुर्ते पर संस्थान का लोगो लगा होगा।

Leave a Comment