Share
भाजपा का बढ़ रहा आत्मविश्वास, 2019 तक हर गांव तक पहुचाएंगे कल्याणकारी योजनाएं’

भाजपा का बढ़ रहा आत्मविश्वास, 2019 तक हर गांव तक पहुचाएंगे कल्याणकारी योजनाएं’

नई दिल्ली । विपक्षी एकता को लेकर हो रही बयानबाजी और अटकलों के बीच भी 2019 को लेकर भाजपा का आत्मविश्वास बढ़ता जा रहा है तो उसका आधार भी है। कुछ ऐसा आधार जिसका तोड़ ढूंढ़ना विपक्ष के लिए बहुत मुश्किल होगा। केंद्र सरकार और भाजपा ने यह तय कर लिया है कि 2019 तक हर गांव के हर परिवार के पास बिजली, उज्ज्वला, जीवन ज्योति बीमा, टीकाकरण जैसी सात अहम योजनाओं का लाभ पहुंचे, जबकि आयुष्मान के जरिये पांच लाख रुपये तक के स्वास्थ्य बीमा की कार्ययोजना भी तैयार है। यही कारण है कि अब तक पिछली बार से भी बड़ी जीत का एलान करते रहे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को एकतरफा लड़ाई की भी भविष्यवाणी कर दी। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मंगलवार को नई दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे।

मोदी के आगे नहीं टिक सकता कोई’
उन्होंने कहा कि पूरे देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के सामने कोई टिक नहीं सकता है। विपक्ष ने पहले भी आजमाया है, एक बार फिर से साबित हो जाएगा कि जनता एकतरफा मोदी के साथ जाएगी। ध्यान रहे कि बाबा साहब आंबेडकर की जयंती 14 अप्रैल से पांच मई तक भाजपा ने ग्राम स्वराज योजना के तहत उन 16850 गांवों में विशेष अभियान की रणनीति बनाई थी जहां दलित आबादी 40 फीसद से ज्यादा है। जो नतीजे आए हैं वे भाजपा के लिए उत्साहवर्धक हैं। खुद शाह इसकी जानकारी देने मीडिया के सामने आए।

2019 तक हर गांव तक कल्याणकारी योजनाएं’
हालांकि उन्होंने कहा कि इसका कोई राजनीतिक लाभ लेने का इरादा नहीं है और किसी भी राज्य में कोई कटु अनुभव नहीं हुआ, लेकिन जो नतीजे हैं उसका राजनीतिक असर खाली जाए यह मानना मुश्किल होगा। शाह ने बताया कि इन सभी गांवों के हर घर में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, सौभाग्य सहज बिजली योजना, उजाला योजना, जन धन, जीवन ज्योति, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा और मिशन इंद्रधनुष योजना पहुंच गई है। अभियान के अगले चरण में 15 अगस्त तक 115 जिलों के हजार से ज्यादा आबादी वाले गांवों में भी इन योजनाओं को शत प्रतिशत पहुंचा दिया जाएगा। 2019 तक कोई गांव और कोई ग्रामीण परिवार इससे अछूता नहीं रहेगा।

भाजपा का यह अभियान विपक्ष के उन सभी आरोपों को ध्वस्त करेगा जिसके जरिये दलित उत्पीड़न, गांव और गरीब का सवाल उठाया जाता है। दरअसल पहले और दूसरे चरण में दलित ही प्रमुखता में भी रहे हैं। ऐसे गांवों को ही चुना गया था जहां उनकी आबादी ज्यादा है।

‘अगला चुनाव मोदी के पक्ष में’
एक सवाल के जवाब में भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि विपक्ष की ओर से बेवजह मुद्दे ढूंढ़े जाते हैं और निराधार आरोप लगाए जाते हैं। जनता इसे अच्छी तरह समझती है और वही कांग्रेस को जवाब देती है। आने वाले समय में भी विपक्षी गठजोड़ की बात की जा रही है, लेकिन कोई यह नहीं समझा पा रहा है कि आखिर ममता बनर्जी कर्नाटक में कैसे मदद करेंगी और जनता दल (एस) के नेता एचडी देवेगौड़ा पश्चिम बंगाल में क्या असर दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि जनता विकास चाहती है। जनता नेतृत्व देखती है और हमें भरोसा है कि अगला चुनाव मोदी के पक्ष में रहेगा।

Leave a Comment